भोपाल / कलियासोत डैम पर इको रिक्रिएशन हब का साल भर से रूका हुआ काम फिर से होगा शुरू



भोपाल। कलियासोत डैम में यहां पर होगा रिक्रिएशन हब बनाने का काम। भोपाल। कलियासोत डैम में यहां पर होगा रिक्रिएशन हब बनाने का काम।
X
भोपाल। कलियासोत डैम में यहां पर होगा रिक्रिएशन हब बनाने का काम।भोपाल। कलियासोत डैम में यहां पर होगा रिक्रिएशन हब बनाने का काम।

  • पहले चरण में 2.55 करोड़ रुपए से बनना था पैदल पथ 
  • बजट के अभाव में आधा ही हो पाया काम, बीडीए नए सिरे से बजट के लिए जुटा 

Dainik Bhaskar

Feb 11, 2019, 12:42 PM IST

भोपाल. कलियासोत डैम पर इको रिक्रिएशन हब डेवलप करने का साल भर से रूका हुआ काम फिर से शुरू होगा। प्रथम चरण में 2.55 करोड़ प्रोजेक्ट के लिए बजट के इंतजाम के लिए बीडीए ने नए सिरे से कवायद शुरू कर दी है। रिक्रिएशन हब डेवलप करने की पहल करने वाली संस्था भोपाल टूरिज्म कौंसिल ने बीडीए को सहयोग का आश्वासन दिया है। प्रोजेक्ट के लिए सांसद और विधायक निधि से भी राशि जुटाई जा रही है।

2016 में बनी थी योजना 

  1. कलियासोत डैम को एक नए टूरिस्ट स्पॉट के रूप में डेवलप करने के लिए 2016 में इको रिक्रिएशन हब की प्लानिंग हुई थी। उस समय पर्यावरण संरक्षण खास तौर से भूमि का कटाव रोकने और हरियाली विकसित करने के लिए एप्को ने एक करोड़ रुपए दिए थे। इसी आधार पर यहां एक बड़ी योजना बनाई गई। फरवरी 2017 में भूमिपूजन हुआ लेकिन वास्तविक काम अक्टूबर 2017 में शुरू हो पाया। फरवरी तक काम तेज गति से चला और उसके बाद रूक गया। 

  2. खत्म हो गया बजट

    जानकारों के अनुसार 1080 मीटर के इस पैदल पथ में 600 मीटर पर रैलिंग लग पाई और करीब 500 मीटर पर नॉन स्किड स्टोन लगाया गया। इसमें लगभग एक करोड़ रुपए खर्च हो गए। आगे काम करने के लिए बीडीए के पास बजट नहीं था। भूमिपूजन समारोह में बीडीए के तत्कालीन चैयरमेन ओम यादव ने 50 लाख रुपए देने की घोषणा की थी। लेकिन तंगहाली से गुजर रहा बीडीए इस राशि का इंतजाम नहीं कर सका।

  3. बीडीए ने फिर शुरू की कवायद 

    बीडीए ने हाल ही में प्रोजेक्ट के लिए राशि के इंतजाम के लिए फिर कवायद शुरू की है। सीईओ बुद्धेश वैद्य ने इस संबंध में भोपाल टूरिज्म कौंसिल से संपर्क किया है। इसके अलावा बीडीए ने सांसद आलोक संजर से भी सांसद निधि देने का अनुरोध किया है। बीडीए को उम्मीद है कि स्थानीय विधायकों की निधि से भी राशि मिल जाएगी।

  4. ये काम भी होने हैं 

    • वाल्मी के सामने से गुजरने वाली सड़क को सेकंड वीआईपी रोड के रूप में विकसित किया जाएगा। आसपास के पूरे क्षेत्र का सौंदर्यीकरण भी होगा।
    • एडवेंचर स्पोर्ट्स और फ्लावर वैली के साथ फूड जोन बनेगा।
    • गोल्फ काेर्स, एम्फीथिएटर और रिसोर्ट विकसित करने की भी योजना है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना