मध्यप्रदेश / दिग्विजय ने कहा- भाजपा और बजरंग दल आईएसआई से पैसे लेते हैं; शिवराज बोले- हमारी देशभक्ति से देश वाकिफ



More non-Muslims spying for Pakistan than Muslims Congress leader Digvijaya Singh
X
More non-Muslims spying for Pakistan than Muslims Congress leader Digvijaya Singh

  • दिग्विजय ने कहा - जासूसी मामले में पकड़ाए लोग बजरंग दल और भाजपा से संबंधित 
  • शिवराज ने कहा- पाकिस्तान राहुल गांधी का हवाला देता है, आरएसएस की देशभक्ति को विश्व और देश जानता है

Dainik Bhaskar

Sep 01, 2019, 01:04 PM IST

भिंड/भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा है कि पड़ोसी देश पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के मामले में पकड़ाए गए लोग बजरंग दल और भारतीय जनता पार्टी से संबंधित हैं। 

 

दिग्विजय सिंह ये बात भिंड में शनिवार देर शाम पत्रकारों से चर्चा करते हुए गही। वे यहां महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण करने आए थे। मध्यप्रदेश में हाल ही में जासूसी करने के सिलसिले में कुछ लोगों की गिरफ्तारी के परिप्रेक्ष्य में उन्होंने कहा कि जितने भी पाकिस्तान के लिए जासूसी करते पाए गए, वे सब बजरंग दल, भारतीय जनता पार्टी से जुड़े हैं। 'आईएसआई' से पैसा ले रहे हैं। 

 

दिग्विजय सिंह कहा 'आईएसआई' के लिए जासूसी मुसलमान कम, गैरमुसलमान ज्यादा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी विचारधारा की लडाई भाजपा से है। 'संघ' से है, जिन्होंने भारत की आजादी के संघर्ष में भाग नहीं लिया। हमें वो राष्ट्रीयता का सबक सिखाना चाहते हैं। कहां थे, यह लोग 1947 से पहले। कहां थे यह लोग, जब आजादी की लडाई में भगत सिंह, असफाक उल्ला खान ने फांसी का फंदा चूमा।

 

दिग्विजय सिंह ने आर्थिक मुद्दे को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों की भी आलोचना की और कहा कि देश में लाखों लोग बेरोजगार हो गए हैं। विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में मंदी छा गयी है। उन्होंने कहा कि इन सबके लिए केंद्र सरकार की नीतियां जिम्मेदार हैं, जो आर्थिक क्षेत्र के लिए ठीक नहीं हैं। 


उन्होंने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर चल रही कथित खींचतान के संबंध में कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ अभी भी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का पद रिक्त नहीं है। यह पद जब रिक्त होगा, तब नए अध्यक्ष के बारे में केंद्रीय नेतृत्व विचार करेगा। उन्होंने इसी से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा कि वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस से नाराज नहीं हैं और उनकी स्वयं श्री सिंधिया से बात हुयी है।

 

बयान पर दिग्विजय ने सफाई दी
दिग्विजय ने अपने बयान पर रविवार को सफाई देते हुए ट्वीट किया, ‘‘कुछ चैनल चला रहे हैं कि मैंने भाजपा पर यह आरोप लगाया है कि वे आईएसआई से पैसा ले कर पाकिस्तान के लिए जासूसी करते हैं। यह पूरी तरह से गलत है। बजरंग दल और भाजपा के आईटी सेल के पदाधिकारियों को आईएसआई से पैसे लेकर पाकिस्तान के लिए जासूसी करते हुए मप्र पुलिस ने पकड़ा है। मैंने यह आरोप लगाया है जिस पर मैं आज भी कायम हूं। चैनल वाले ये सवाल भाजपा से क्यों नहीं पूछते।’’

 

शिवराज ने कहा, ‘‘वे (दिग्विजय) खबरों में बने रहने के लिए विवादित बयान देते रहते हैं। वे और उनके नेता पाकिस्तान की भाषा बोलते हैं। पाकिस्तान राहुल गांधी का हवाला देता है। भाजपा-आरएसएस की देशभक्ति को विश्व और देश जानता है।’’

 

दिग्विजय ने पूछा था- शिवराज बताएं देशद्रोही कौन है?

हाल ही में मध्य प्रदेश पुलिस ने टेरर फंडिंग मामले में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इस पर दिग्विजय सिंह ने कमलनाथ सरकार को बधाई देते हुए शिवराज सिंह, गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल पर निशाना साधा था। दिग्विजय ने 24 अगस्त को ट्वीट किया था, ‘‘शिवराज जी अब बताएं देशद्रोही कौन है? क्या पाकिस्तान के लिए खुफियागिरी करने वालों को बचाने वाला देशद्रोही है या नहीं? अमित शाह जी अजीत डोभाल जी देशद्रोही तो आपके घर में निकले।’’

 

दिग्विजय के बयान पर राकेश सिंह ने दी तीखी प्रतिक्रिया

राकेश सिंह ने की निंदा: प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने ट्वीट के माध्यम से कहा कि कांग्रेस के लोग उस भाजपा पर आरोप लगा रहे हैं, जिसके लिए राष्ट्रहित ही सर्वोपरि है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह और कांग्रेस, वे ही लोग हैं, जो अनुच्छेद 370 के समर्थन में छाती पीटते रहे और आज किस प्रकार की बातें करते हैं। 

 

टेरर फंडिंग मामले में पांच आरोपी गिरफ्तार
मध्य प्रदेश पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने 21 अगस्त की रात टेरर फंडिंग मामले में अलग-अलग जगह से 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। आरोपियों में बलराम सिंह, भागवेंद्र सिंह, सुनील सिंह, शुभम तिवारी और एक अन्य हैं। वहीं, भागवेंद्र को इंदौर एसटीएस ने गिरफ्तार किया था। सुनील 2014 से देश विरोधी गतिविधियों में सक्रिय था, लेकिन एटीएस उसे पकड़ नहीं पाई थी। आरोप है कि ये आरोपी पाकिस्तान के विभिन्न फोन नंबरों पर संपर्क कर बड़ी रकम का लेन-देन आतंकियों के साथ करते थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना