• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • MP CM Shivraj Singh Chouhan to Congress Kamal Nath Digvijaya Singh; Know Who Is Longest and Shortest Serving Chief Minister Of Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री / शिवराज ने रिकॉर्ड बनाया, सबसे कम 13 दिन सीएम रहे थे नरेशचंद्र सिंह

शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश। शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश।
X
शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश।शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश।

  • वर्ष 2005 से 2018 तक लगातार 13 साल मुख्यमंत्री पद पर रह चुके हैं शिवराज सिंह चौहान
  • इससे पहले तीन-तीन बार अर्जुन सिंह और श्यामाचरण शुक्ल भी प्रदेश के सीएम रह चुके हैं

दैनिक भास्कर

Mar 23, 2020, 10:04 PM IST

भोपाल. मध्य प्रदेश में एक बार फिर राज्य की कमान शिवराज सिंह चौहान के हाथ में है। प्रदेश के 32वें मुख्यमंत्री के ताैर शपथ लेते ही उन्होंने इतिहास रच दिया है। ऐसा पहली बार हुआ है, जब प्रदेश में कोई चौथी बार मुख्यमंत्री बना है। इससे पहले वे वर्ष 2005 से 2008 तक लगातार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। शिवराज के अलावा अब तक अर्जुन सिंह और श्यामाचरण शुक्ल भी तीन-तीन बार सीएम रहे थे। 


शिवराज सिंह चौहान के नाम अपने तरह का एक खास रिकॉर्ड भी है। वह जब पहली बार 29 नवंबर 2005 में मुख्यमंत्री चुने गए, उस दौरान 12वीं विधानसभा का कार्यकाल चल रहा था। मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर को हटाकर भाजपा ने प्रदेश की कमान शिवराज को सौंपी थी। अब 15वीं विधानसभा का कार्यकाल चल रहा है। ऐसे में कांग्रेस के कमलनाथ का तख्ता पलट कर शिवराज सिंह ने फिर से मुख्यमंत्री बनकर एक नया रिकॉर्ड बनाया है। 


सबसे कम सिर्फ 13 दिन सीएम रहे थे नरेशचंद्र सिंह 

प्रदेश में सबसे कम समय तक सीएम रहने का रिकॉर्ड नरेशचंद्र सिंह के20 नाम है। वह सिर्फ 13 दिन ही सीएम रहे हैं। दरअसल, मध्य प्रदेश की सियासत में पहली बार वर्ष 1967 में गैर कांग्रेसी सरकार के गोविंद नारायण सिंह मुख्यमंत्री बने। हालांकि, 1969 में उन्होंने इस्तीफा दे दिया। इसके बाद नरेशचंद्र सीएम बने। हालांकि, सियासी सियासी उठापटक में वह सिर्फ 13 दिन ही सीएम रह पाए और उन्हें इस्तीफा देना पड़ा।

पहली विधानसभा कार्यकाल में तीन सीएम बदले
मध्यप्रदेश में विधानसभा कार्यकाल के दौरान मुख्यमंत्री बदलना कोई नई बात नहीं है। 1956 में हुए पहले विधानसभा चुनाव में भी यह हुआ था। तब पं. रविशंकर शुक्ल, भगवंतराव मंडलोई और कैलाश नाथ काटजू सीएम बने थे। प्रदेश में अब तक 15 बार विधानसभा चुनाव हो चुके हैं। इनमें से 7 विधानसभा कार्यकाल में बीच में ही मुख्यमंत्री के चेहरे बदल गए। कई बार ऐसा हुआ, जब मुख्यमंत्री के चेहरों की कुछ समय बाद वापसी हुई है। 

सिक्किम में चामलिंग 25 साल, महाराष्ट्र में फडणवीस 4 दिन रहे सीएम
सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन चामलिंग भारत के इतिहास में किसी भी राज्य में सबसे अधिक समय 25 साल तक मुख्यमंत्री रहे हैं। चामलिंग वर्ष 1994 से वर्ष 2019 तक लगातार पांच बार सीएम चुने गए। उन्होंने पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री ज्योति बसु का रिकॉर्ड तोड़ा। वहीं, सबसे कम समय तक मुख्यमंत्री रहने का रिकॉर्ड महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस के नाम है।


फडणवीस चार दिन तक राज्य के सीएम रहे हैं। पिछले साल नवंबर में महाराष्ट्र में हुए चुनाव के बाद भाजपा और शिवसेना का गठबंधन टूट गया था। इसके बाद फडणवीस ने राकांपा प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजित पवार के समर्थन से शपथ ली थी। हालांकि, फ्लोर टेस्ट से पहले ही फडणवीस ने पद से इस्तीफा दे दिया था। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना