• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Vivek Sagar Prasad: MP Hoshangabad Hockey Player Vivek Sagar Prasad Reaction After Named 2019 FIH Men's Rising Star of the Year

उपलब्धि / हॉकी खिलाड़ी विवेक सागर को राइजिंग स्टार ऑफ द ईयर का अवॉर्ड, बोले- यह सम्मान साथियों को समर्पित

होशंगाबाद के इटारसी के रहने वाले हैं हॉकी खिलाड़ी विवेक सागर प्रसाद। होशंगाबाद के इटारसी के रहने वाले हैं हॉकी खिलाड़ी विवेक सागर प्रसाद।
X
होशंगाबाद के इटारसी के रहने वाले हैं हॉकी खिलाड़ी विवेक सागर प्रसाद।होशंगाबाद के इटारसी के रहने वाले हैं हॉकी खिलाड़ी विवेक सागर प्रसाद।

  • अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) ने विवेक सागर को किया सम्मानित 
  • सागर ने कहा- हॉकी टीम को ओलिंपिक में पदक जीतने के लिए और अच्छा करना होगा

दैनिक भास्कर

Feb 11, 2020, 05:56 PM IST

भोपाल/होशंगाबाद. मप्र के विवेक सागर प्रसाद को अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) ने सोमवार को 2019 के लिए राइजिंग स्टार ऑफ द ईयर चुना है। 19 साल के विवेक ने अर्जेंटीना के मैको कैसेला और ऑस्ट्रेलिया के ब्लेक गोवर्स को पीछे छोड़ा। कैसेला दूसरे और गोवर्स तीसरे स्थान पर रहे। वोटिंग में विवेक को कुल 34.5 फीसदी वोट मिले, जबकि कैसेला को 22 फीसदी वोट और गोवर्स को 20.9 फीसदी वोट मिले।

अवॉर्ड मिलने के बाद मिडफील्डर विवेक सागर प्रसाद ने दैनिक भास्कर से कहा- मैं बहुत खुश हूं। यह अवॉर्ड अपनी टीम के साथियों को डेडिकेट करूंगा, क्योंकि उनके बिना यह संभव नहीं था। एफआईएच को धन्यवाद कहूंगा- उन्होंने मुझे नॉमिनेट किया और इसके काबिल समझा। हॉकी इंडिया और हॉकी प्रेमियों को भी थैंक्स कहूंगा। जिन्होंने मुझे इतना प्यार दिया।

यह अवॉर्ड मेरे लिए प्रेरणादायक सिद्ध होगा। मैं अपने प्रदर्शन को बरकरार रखना चाहूंगा और आने वाले मैचों में और अच्छा करने का प्रयास करूंगा। ओलिंपिक की तैयारियों पर विवेक कहते हैं कि टीम अच्छा कर रही है लेकिन ओलिंपिक में पदक जीतने के लिए और बेहतर करना होगा। हमने कई मैचों में बड़ी टीमों को मात दी है। हम प्रयास करेंगे कि ओलिंपिक पोडियम फिनिश करें और देश को पाइड फील कराएं। पदक पर वे कहते हैं कि पहले प्रिडिक्ट करना ठीक नहीं है क्योंकि हर टूर्नामेंट अलग होता है। ओलिंपिक तो बहुत बड़ा टूर्नामेंट है।

महज तीन साल में लिखी सफलता की इबारत
विवेक ने अपनी सफलता की इबारत महज तीन सालों में लिखी है। वे जनवरी 2018 में चार देशों के आमंत्रण टूर्नामेंट में कदम रखा था तब वह मात्र 17 साल की उम्र में भारत की राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व करने वाले दूसरे सबसे युवा खिलाड़ी बने थे। न्यूजीलैंड़ के शहर तौरंगा में खेले गए इस मैच में दो रिकॉर्ड बने थे। पदार्पण मैच में जापान पर 6-0 की जीत में विवेक ने दो गोल दागे थे।

वे संदीप सिंह के बाद भारतीय राष्ट्रीय टीम से खेलने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बने। संदीप सिंह ने 17 साल 341 दिन की आयु में खेला, जबकि विवेक विवेक सागर ने 17 वर्ष 352 दिन में। अभी तक 58 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 15 गोल मारने वाले मिडफील्डर विवेक भारतीय टीम के सबसे भरोसेमंद खिलाड़ी बन रहे हैं। जूनियर स्तर पर विवेक ने 20 मैचों में 26 गोल मारे हैं। उन्होंने ब्रेड़ा चैंपियंस ट्रॉफी जून 2018 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल में गोल मारा था। हाल में बेल्जियम के खिलाफ भुवनेश्वर प्रो-लीग में भी शानदार गोल किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना