--Advertisement--

कर्नाटक चुनाव: बहुमत न मिलने पर प्रदेश अध्यक्ष सिंह ने कहा- विकास पर बात करती है पार्टी

मुख्यमंत्री चौहान को भी पार्टी कार्यालय पहुंचना था, लेकिन दिल्ली में संसदीय बोर्ड की मीटिंग के कारण वे नहीं आए।

Dainik Bhaskar

May 16, 2018, 02:27 AM IST
MP leaders On question of not getting majority of BJP in Karnataka elections

भोपाल. मध्यप्रदेश भाजपा के अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह ने कहा कि जो कांग्रेस कर्नाटक में जीत के दावे कर रही थी और राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनने तक की बात कर रहे थे, उसे जनता ने सबक सिखा दिया। कांग्रेस विजय के आसपास भी नहीं टिक पाई। समाज को बांटो और राज करो की नीति को जनता ने पूरी तरह नकार दिया है और भाजपा की विकासवादी राजनीति का स्वागत किया है। जब उनसे मीडिया ने पूछा कि यदि देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आंधी चल रही है तो फिर कर्नाटक में बहुमत क्यों नहीं मिला, इस पर राकेश सिंह बोले-‘हमने कभी नहीं कहा कि देश में मोदी की आंधी चल रही है। भाजपा हमेशा विकास के मुद्दे पर बात करती है।’


शिवराज का ट्वीट- 15 मई-कांग्रेस गई

इससे पूर्व पार्टी दफ्तर में मंगलवार को जमकर आतिशबाजी की गई। इस दौरान राकेश सिंह के साथ पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी पार्टी कार्यालय पहुंचना था, लेकिन दिल्ली में संसदीय बोर्ड की मीटिंग के कारण वे नहीं आए। हालांकि उन्होंने ट्वीट करके कांग्रेस पर कटाक्ष किया कि वह अब देश में कांग्रेस सिमट गई है। उसे अपना नाम पीएमपी यानी, पंजाब-मिजोरम और पुडुचेरी रखना चाहिए। उन्होंने यह भी लिखा कि ‘15 मई-कांग्रेस गई’। मुख्यमंत्री ने प्रतिक्रिया भी दी कि मोदी दुनिया के लोकप्रिय और शक्तिशाली नेता हैं। कर्नाटक की जनता ने विकास का एजेंडा, नीतियां, गरीबों के कल्याण के साथ हर वर्ग के लिए किए कामों पर विश्वास व्यक्त किया है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में कर्नाटक में कार्यकर्ताओं ने रणनीतियां बनाकर परिश्रम की पराकाष्ठा की। वे आधुनिक चाणक्य हैं और जनसमर्थन को वोटों में बदलने का माद्दा रखते हैं।


टीम में कोई बदलाव नहीं
नए प्रदेश अध्यक्ष ने यह भी कहा कि टीम में कोई बदलाव नहीं होगा। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान की टीम अच्छा काम कर रही है। मैं उनके साथ कंफर्टेबल हूं।

चुनाव से पहले हर नेता को देंगे काम

राकेश सिंह ने एक सवाल के जवाब में कहा कि पार्टी में कोई भी नेता व कार्यकर्ता खाली हाथ नहीं बैठेगा। चुनाव से पहले सबको काम दिया जाएगा। जहां तक प्रत्याशी चयन का सवाल है तो पार्टी अपने स्तर पर परीक्षण कर रही है। हर राजनीतिक दल ऐसा करता है। उन्होंने संकेत दिए कि सांसद या पूर्व सांसद को भी विधानसभा चुनाव लड़ाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हम सिर्फ इतना देखेंगे कि कौन जीत सकता है और वह आदर्श हो।

कमलनाथ का पलटवार : एक समय देश में दो सीट पर सिमट गई थी भाजपा

कर्नाटक चुनाव के आए नतीजे के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस को नाम बदलकर पीएमपी (पंजाब, मिजोरम,पांडिचेरी) रखने सलाह पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने भाजपा पर निशाना साधा है। कमलनाथ ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा है कि कांग्रेस को नाम बदलने सलाह देने वाले शिवराज जी, 2014 में भाजपा को मात्र 31 प्रतिशत वोट ही मिले थे-- और एक समय पूरे देश में भाजपा के पास मात्र 2 सीट थी तो आपकी पार्टी का नाम बदलकर क्या रखा गया।नाथ ने एक अन्य ट्वीट कर कहा है कि कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस को 38 प्रतिशत वोट मिले हैं व भाजपा को 36 प्रतिशत। जेडीएस को मिलाकर दोनों को कुल 56 प्रतिशत वोट मिले हैं व दोनों की सीटें मिलाकर बहुमत का आंकड़ा स्पष्ट है। जिस भाजपा ने गोवा, मणिपुर, मेघालय में कम सीट मिलने के बाद भी सरकार बनाने के लिए लोकतंत्र की जमकर धज्जियां उड़ाईं वो आज किस मुंह से लोकतंत्र की दुहाई दे रहे हैं।

X
MP leaders On question of not getting majority of BJP in Karnataka elections
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..