एंबुलेंस 108 के कॉल सेंटर पर अब एक बार में 360 कॉल्स होंगी रिसीव

Bhopal News - सड़क हादसे या अन्य दुर्घटनाओं में होने वाले घायलों को तत्काल मदद पहुंचाने के लिए चलाई जा रही 108 एंबुलेंस के कॉल...

May 19, 2019, 06:46 AM IST
सड़क हादसे या अन्य दुर्घटनाओं में होने वाले घायलों को तत्काल मदद पहुंचाने के लिए चलाई जा रही 108 एंबुलेंस के कॉल सेंटर को अपग्रेड किया जा रहा है। वेटिंग कॉल को तुरंत रिसीव करने के लिए इसमें 120 डायलर लाइनें बढ़ाई जाएंगी। अभी इसकी संख्या 260 है। अब कुल 360 लाइनों पर एक साथ कॉल रिसीव हो सकेगा। लाइनें कम होने की वजह से हर दिन 3 हजार कॉल ड्रॉप हो जाती हैं। इस व्यवस्था के बाद रोजाना 100 नई कॉल्स रिसीव हो सकेंगी। जिगित्जा हेल्थ केयर के प्रोजेक्ट हेड जितेंद्र शर्मा ने बताया कि 15 अगस्त तक कॉल सेंटर शिफ्टिंग का काम पूरा कर लिया जाएगा। बीते दो साल से कमला नेहरू अस्पताल के 6 फ्लोर पर 108 एंबुलेंस के कॉल सेंटर का संचालन हो रहा था। जगह की कमी के चलते अब इसे सी-21 मॉल में शिफ्ट कर रहे हैं। यहां बैकअप सर्वर लगाया जा रहा है, ताकि कॉल सेंटर में आने वाले कॉल रिसीव हो सके।

भोपाल सहित प्रदेश के सभी जिलों से हर दिन 24 घंटे में 37 हजार कॉलर मदद के लिए यहां कॉल करते हैं, लेकिन करीब 34 हजार कॉल ही रिसीव हो पाती हैं। 3 हजार कॉलर लाइन बिजी होने के कारण वेटिंग में रहते हैं। सबसे ज्यादा कॉल सुबह 10 से शाम 4 बजे के बीच आते हैं। 120 नई डायलर लाइनें बढ़ने से अब हर दिन 45 हजार कॉल्स को रिसीव किया जा सकेगा। गौरतलब है कि भोपाल सहित प्रदेशभर में 606 एंबुलेंस का संचालन सरकार द्वारा अनुबंधित कंपनी जिगित्सा हेल्थ केयर द्वारा किया जा रहा है। नई व्यवस्था शुरू होने से एक्सीडेंट में घायलों से तत्काल संपर्क किया जा सकेगा। एंबुलेंस को बताई गई लोकेशन पर भेजा जा सकेगा। इसका सबसे बड़ा फायदा ग्रामीण क्षेत्र में होगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना