बचपन से डायबिटीज़ झेल रहीं मान्या को पूरे देश में सीएस फाउंडेशन में नंबर-1 रैंक

Bhopal News - india topper सबसे अच्छा रिजल्ट आईसीएसआई के चेयरमैन सीएस प्रणय पटेल ने बताया- यह दूसरा मौका है जब फाउंडेशन एग्जाम...

Jan 26, 2020, 06:46 AM IST
Bhopal News - mp news manya who has been suffering from diabetes since childhood is ranked no1 in cs foundation across the country

india topper

सबसे अच्छा रिजल्ट

{आईसीएसआई के चेयरमैन सीएस प्रणय पटेल ने बताया- यह दूसरा मौका है जब फाउंडेशन एग्जाम में ऑल इंडिया-1 रैंक आई है। 2015 में अवनी मिश्रा ने ऑल इंडिया रैंक हासिल की थी, लेकिन उस वक्त भोपाल सेंटर से सिर्फ एक ही ऑल इंडिया रैंक थी। इस बार रैंक-1 के साथ टॉप-25 में भोपाल के 6 स्टूडेंट्स शामिल हैं।

भोपाल से अन्य टॉपर

{ रिद्म शर्मा को ऑल इंडिया 11वीं रैंक

{ हृदया एस अय्यर को ऑल इंडिया 18वीं रैंक

{ एकता द्विवेदी और स्नेहा चौधरी ऑल इंडिया 23वीं रैंक

{ अनुभा जैन को ऑल इंडिया
25वीं रैंक (इनके बारे में पढ़ें पेज VI पर)

भोपाल से ऑल इंडिया रैंक हासिल करने वाली सभी गर्ल्स

{आईसीएसआई फाउंडेशन परीक्षा-2019 में भोपाल से 116 स्टूडेंट्स बैठे, जिसमें 6 स्टूडेंट्स की ऑल इंडिया रैंक आई। खास बात यह है कि यह सभी लड़कियां हैं। इस बार भोपाल की परफॉर्मेंस में खासा सुधार नजर आता है। पिछले अटेम्प्ट में फाउंडेशन में भोपाल का पासिंग परसेंटेज 71.5% रहा। इस बार 80.17% स्टूडेंट्स पास हुए।

मान्या श्रीवास्तव- आॅल इंडिया रैंक 1

(मां ज्योत्सना होममेकर, पिता एमपी श्रीवास्तव बिजनेसमैन हैं)

पढ़ाई बहुत मुश्किल होती है, एडमिशन लेने के पहले यह भ्रम मेरे दिमाग में भी था। लेकिन मैंने सोचा- ऑल इंडिया रैंक हर साल किसी न किसी बच्चे की आती ही है और वह भी इंसान ही होता है। बस इसी सोच के साथ पहले दिन से ही ऑल इंडिया रैंक-1 के लिए मेहनत की। मैं 3डी यानी डिटर्मिनेशन, डिवोशन और डेडिकेशन पर यकीन करती हूं, और इसी यकीन ने मुझे यह रैंक भी दिलाई। समय के हिसाब से 4 विषयों को बांटकर पढ़ा। रोज पढ़ाई के बाद जो कुछ भी पढ़ा है, उसका एक पन्ने का सार लिख लेती थी, ताकि, अगले दिन की शुरुआत इसको रिवाइज करके करूं।

इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ इंडिया (आईसीएसआई) ने शनिवार को फाउंडेशन परीक्षा 2019 के परिणाम घोषित किए। भोपाल के 6 स्टूडेंट्स ने आईसीएसआई मेरिट में ऑल इंडिया रैंक हासिल की है। भोपाल की मान्या श्रीवास्तव ने ऑल इंडिया रैंक-1 हासिल की है। मान्या को बचपन से टाइप-1 डायबिटीज है, जिसके कारण उन्हें हर वक्त ख्याल रखना पड़ता है कि शुगर लेवल कम ज्यादा ना हो। रोज तीन बार इंसुलिन लेने वाली मान्या कहती हैं- डायबिटीज के कारण कई बार पढ़ाई में कई उतार-चढ़ाव आए, कई बार कोचिंग नहीं जा पाई। लेकिन, मैंने पढ़ाई कभी नहीं छोड़ी।

X
Bhopal News - mp news manya who has been suffering from diabetes since childhood is ranked no1 in cs foundation across the country

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना