कुत्तों से बचने दौड़ी गाय... झुग्गी की छत पर पहुंची और 5 साल के मासूम पर जा गिरी, मौत

Bhopal News - छत पर लगी टीन शेड तोड़ते हुए दामखेड़ा झुग्गी में गिरी गाय की चपेट में आने से केजी-1 के छात्र की मौत हो गई। उस वक्त छात्र...

Jan 03, 2020, 06:50 AM IST
Bhopal News - mp news the cow ran to escape from the dogs reached the roof of the slum and fell on the innocent of 5 years death
छत पर लगी टीन शेड तोड़ते हुए दामखेड़ा झुग्गी में गिरी गाय की चपेट में आने से केजी-1 के छात्र की मौत हो गई। उस वक्त छात्र माता-पिता और छोटी बहन के साथ खाना खा रहा था। बाद में पता चला कि कुत्तों के झुंड से बचने के लिए गाय दामखेड़ा टीले पर दौड़ लगा रही थी। तभी वह टीले के समानांतर तन चुकी झुग्गियों पर पहुंच गई। अंधेरे के कारण वह झुग्गियों की छत पर 30 फीट तक दौड़ी और एक कमजोर चद्दर तोड़ते हुए झुग्गी में जा गिरी। ये हादसा बुधवार रात साढ़े आठ बजे ए-सेक्टर, दामखेड़ा में विष्णु नवरंग के पांच वर्षीय बेटे लक्ष्य के साथ हुआ। पेशे से मिस्त्री विष्णु यहां प|ी साधना, दो साल की बेटी और लक्ष्य के साथ रहते हैं। रिश्तेदार जोगेंद्र बंजारे ने बताया कि घर का इकलौता बेटा लक्ष्य एक निजी स्कूल में केजी-1 का छात्र था। हादसे की खबर मिलते ही बस्ती में चीख-पुकार मच गई। बेटे को तड़पते देख विष्णु उसे लेकर अस्पताल की ओर दौड़े। अस्पताल में डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल की सूचना पर कोलार पुलिस पहुंची और मर्ग कायम किया।

दामखेड़ा टीले के समानांतर गड्‌ढे में बनी है झुग्गियां

ऐसे हुआ था हादसा...

टीन की छत तोड़ते हुए गाय बच्चे पर जा गिरी

इलस्ट्रेशन : गौतम चक्रवर्ती

2

कुत्तों से बचने झुग्गियों की छत पर गाय दौड़ी। पैर टीनशेड में फंसा, संभली फिर दौड़ी

3

1

टीले के समानांतर यह रोड है...

आखिरी शब्द- मम्मी भूख लगी है

मां कहती हैं कि हादसे से कुछ देर पहले ही उसने खाना मांगा था। बोला था- मम्मी भूख लगी है। अब साधना इन्हीं अल्फाजों को दोहराते हुए बिलख रही हंै। लक्ष्य का 23 फरवरी को जन्मदिन था। वह अपने पापा से बड़े केक के साथ जन्मदिन मनाने के मनुहार करता था।

तीस फीट तक टीन की चादर पर दौड़ी गाय

दामखेड़ा ए-सेक्टर बस्ती गड्ढे में बनी है। उसके बगल की जमीन (टीला) बस्ती की झुग्गियों के समानांतर है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि गाय टीले पर थी। कुत्तों के झुंड ने उस पर भौंकना शुरू कर दिया। वह दौड़ी और झुग्गियों की छत पर पहुंच गई। एक बार वह लड़खड़ाई होगी। फिर दौड़ने लगी। करीब तीस फीट दूर तीसरी झुग्गी की छत उसका वजन झेल नहीं पाई और गाय झुग्गी के अंदर जा गिरी।

Bhopal News - mp news the cow ran to escape from the dogs reached the roof of the slum and fell on the innocent of 5 years death
Bhopal News - mp news the cow ran to escape from the dogs reached the roof of the slum and fell on the innocent of 5 years death
Bhopal News - mp news the cow ran to escape from the dogs reached the roof of the slum and fell on the innocent of 5 years death
X
Bhopal News - mp news the cow ran to escape from the dogs reached the roof of the slum and fell on the innocent of 5 years death
Bhopal News - mp news the cow ran to escape from the dogs reached the roof of the slum and fell on the innocent of 5 years death
Bhopal News - mp news the cow ran to escape from the dogs reached the roof of the slum and fell on the innocent of 5 years death
Bhopal News - mp news the cow ran to escape from the dogs reached the roof of the slum and fell on the innocent of 5 years death
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना