भोपाल

--Advertisement--

उमरिया, गुना और श्योपुर में भारी बारिश, शिवपुरी में 15 लोगों बचाया, राजगढ़ में दो छात्र बहे

पिछले 24 घंटों में उमरिया 159.6, गुना 110.6, श्योपुर 110.0 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है।

Danik Bhaskar

Sep 08, 2018, 05:19 PM IST

भोपाल। प्रदेश में मानसून एक बार फिर सक्रिय हो गया है। पिछले 24 घंटों में उमरिया 159.6, गुना 110.6, श्योपुर 110.0 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। भोपाल में देर रात 11 बजे के बाद तेज बारिश हुई। वहीं बालाघाट, कटनी, शहडोल, नरसिंहपुर, मंडला समेत आसपास के जिलों में भी तेज बारिश होती रही। नर्मदा सहित कई सहायक नदियों के उफान पर रहने से डिंडोरी कई घंटों तक टापू बना रहा। जबलपुर-डिंडौरी वाया शहपुरा और मंडला-डिंडौरी मार्ग शुक्रवार शाम पांच बजे तक बंद रहे। शिवपुरी के नरवर तहसील के कल्याण पुर गांव में 5 और सूड गांव में बाढ़ में फंसे 10 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। राजगढ़ में नदी में बह रहे दो छात्रों को बचा लिया गया है।

राजगढ़ में बहे दो छात्रों को बचाया

राजगढ़ में शनिवार को सुबह बनिया टोडी गांव के परीक्षा देने जा रहे दो छात्र बाइक सहित नदी के तेज बहाव में बह गए। छात्र विनोद ओर शिवराज त्रैमासिक परीक्षा देने बाइक से ब्यावरा जा रहे थे। सुठालिया से 3 किलोमीटर दूर पार्वती नदी के पुल पर पानी होने के चलते युवको ने बाइक निकालने का प्रयास किया और तेज बहाव के कारण दोनों नदी में बह गए। छात्रों को बहता देख मौके पर मौजूद गांव के लोग रस्सी लेकर नदी के पुल पर गए और करीब 15 से 20 मिनट की मशक्कत के बाद दोनों युवको को बचाया एवं बाइक को भी सुरक्षित निकाल लिया।

शिवपुरी में भारी बारिश

शिवपुरी शहर में जलभराव के हालत हैं। जिले में शुक्रवार रात भारी बारिश हुई है। नदी-नाले उफान पर हैं। तीन तहसीलों में हालत बेहद खराब हैं। बदसवास में 7 इंच, कोलारस में 6 और शिवपुरी में 5 इंच बारिश हुई है। पचावली पर सिंध नदी पहली बार पुल से 10 फीट ऊपर बह रही है। मड़ीखेड़ा बांध के एक साथ दस गेट खोल दिए गए हैं। कूनो नदी में उफान पर है। शिवपुरी-श्योपुर मार्ग बंद है। बदरवास और कोलारस का सड़क संपर्क भी टूट गया है।

नदी नाले उफान पर


छतरपुर में दो दिन से बारिश जारी है। जिले के नदी नाले उफान पर हैं। बिजावर और छतरपुर का संपर्क शाम को कट गया है। बड़ामलहरा से सूरजपुरा मार्ग भी बंद है। इसी प्रकार बिजावर से किशनगढ़ का संपर्क भी टूटा हुआ है। बिजावर से छतरपुर रोड पर स्थित जमुनया नाला में आए उफान के कारण छतरपुर से बिजावर का संपर्क टूट गया। जमुनया नाला उफान पर होने के कारण दोनों ओर सैकड़ों वाहनों की कतारें लग गईं। बड़ामलहरा में एक दर्जन से अधिक ग्रामों का जनपद मुख्यालय बड़ामलहरा से संपर्क टूटा रहा। छतरपुर रोड पर स्थित जमुनया नाला उफान था, वाहनों की आवाजाही बंद थी। इसी दौरान पुल पार कर रही एक कमांडर जीप नाले में बह गई जिसमें सवार 4 लोग भी नाले में बह गए। इनमें 3 लोग तैर कर बाहर आ गए, जबकि ड्राइवर का पता नहीं चला है।

राजधानी में आज भी बारिश के आसार


भोपाल में शुक्रवार सुबह से शुरू हुई हल्की बारिश से मौसम में ठंडक घुल गई। अधिकतम तापमान 23.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जो सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस कम था। दोपहर तीन से चार बजे के बीच खासी ठंडक का एहसास हुआ। शुक्रवार शाम के वक्त शुरू हुई बारिश का सिलसिला शनिवार को 10 तक जारी रहा। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि शनिवार को भी दोपहर से पहले हल्की बारिश के आसार है।

मौमस में बदलाव लाने वाले प्रमुखतीन कारण


1- उत्तर पूर्वी मध्यप्रदेश और आस-पास के इलाके में बना है कम दबाव का क्षेत्र।
2-मानसून ट्रफ लाइन फिरोजपुर, हिसार, फरीदाबाद, ग्वालियर से अति कम दबाव के क्षेत्र से होकर उड़ीसा के बालासोर से बंगाल की खाड़ी तक बनी है।
3- हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात का घेरा 3.1 किमी एवं 4.5 किमी के बीच दक्षिण गुजरात और उत्तरी कोंकण के बीच बना है।


24 घंटे में कहां कितनी बारिश

उमरिया 159.6, गुना 110.6, श्योपुर 110.0, टीकमगढ़ 83.0, दतिया 58.2, खजुराहो 48.6, दमोह 47.0, सागर 43.8, नौगांव 41.2, पचमढ़ी 40.0, रायसेन 36.2, नरसिंहपुर 32.0, मंडला 31.1, जवलपुर 24.6, भोपाल, 19.6, भोपाल 19.6, उज्जैन 11.8, शाजापुर 11.0, रीवा 10.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है।

राजगढ़ में छात्रों को नदी से निकालते ग्रामीण। राजगढ़ में छात्रों को नदी से निकालते ग्रामीण।
शिवपुरी में मड़ीखेड़ा डेम ते डेम के गेट खोल दिए गए हैं। शिवपुरी में मड़ीखेड़ा डेम ते डेम के गेट खोल दिए गए हैं।
शिवपुरा के कोलारस में गुंजार नदी उफान पर है। शिवपुरा के कोलारस में गुंजार नदी उफान पर है।
डिंडौरी-मंडला मार्ग पर करमेर नदी उफनाई। डिंडौरी-मंडला मार्ग पर करमेर नदी उफनाई।
गुना में भारी बारिश के बाद गोपी बांध के सभी गेट खोल दिए गए हैं। गुना में भारी बारिश के बाद गोपी बांध के सभी गेट खोल दिए गए हैं।
भारी बारिश से शिवपुरी में करीब 100 साल पुराना बरगद का पेड़ गिर गया। भारी बारिश से शिवपुरी में करीब 100 साल पुराना बरगद का पेड़ गिर गया।
शिवपुरी में नदी नाले उफान पर हैं। शिवपुरी में नदी नाले उफान पर हैं।