मप्र / बच्चों की पढ़ाई का तरीका बेहतर करने के लिए सीबीएसई तैयार कर रहा है 9-12वीं की प्रश्नावली

Dainik Bhaskar

Mar 19, 2019, 11:15 AM IST



news study policy in cbse
X
news study policy in cbse

  • स्कूलों से मांगे पुराने प्रश्नपत्र
  • मेधावी बच्चों की उत्तर पुस्तिका
  • सही आंकलन में होगी मददगार

भोपाल। सीबीएसई अब 9वीं से 12वीं कक्षा के बच्चों के लिए प्रश्नावली तैयार करेगा। छात्रों को पढ़ाई के बेहतर नतीजे मिल सकें, इसके लिए सरल और बेहद सतर्कता से बनाई गई प्रश्नावली की तैयारी की जा रही है। यह आईटी प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होगी। सीबीएसई द्वारा जारी अधिसूचना में कहा गया है कि यह प्रश्नावली बच्चों को उनकी पढ़ाई के तरीके को सुधारने में तो मदद करेगी ही, साथ ही यह शिक्षकों को भी बच्चों के सही आंकलन और पढ़ाने के तरीके को बेहतर बनाने में मददगार साबित होगी। यह प्रश्नावली सभी के लिए मुक्त-संसाधन के रूप में उपलब्ध होगी। 

 

सीबीएसई ने स्कूलों से कहा है कि विषय में स्कूल में अव्वल आने वाले छात्र-छात्रा की उत्तर पुस्तिका भी भेजें, ताकि सीबीएसई उत्तर लिखने के बेहतर तरीके को बच्चों से साझा कर सके। सीबीएसई इस उत्तर पुस्तिका में बच्चे की निजी जानकारी और स्कूल की जानकारी को सुरक्षित रखने का प्रयास भी करेगा। 


सहायता मांगी: आंतरिक परीक्षाओं के प्रश्नपत्र भी भेजें सीबीएसई ने सभी संबद्ध स्कूलों से इस प्रश्नावली को तैयार करवाने में सहायता मांगी है। सीबीएसई ने कहा है कि स्कूलों में 9वीं और 11वीं के लिए जो भी प्रश्नपत्र तैयार किया जा रहे हैं, या फिर 10वीं और 12वीं के बच्चों की आंतरिक परीक्षाओं के लिए जो भी प्रश्नपत्र तैयार करते हैं, वैसे ही कक्षा और विषय के आधार पर तैयार सवालों को सीबीएसई को भेजें। 


सभी विषयों के पेपर भेजने की छूट : यह सवाल 9वीं और 10वीं के सभी विषयों अंग्रेजी, हिंदी, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, गणित समेत 11वीं और 12वीं के विषयों जैसे फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी, गणित, अंग्रेजी, हिंदी, एकाउंटेंसी, बिजनेस स्टडीज, अर्थशास्त्र, इतिहास, राजनीति शास्त्र, भूगोल, साइकोलॉजी, सोश्योलॉजी, फिजिकल एजुकेशन और कंप्यूटर साइंस के हो सकते हैं। स्कूल के पास यदि बीते सालों के प्रश्नपत्र उपलब्ध हैं, तो उनको भी सीबीएसई द्वारा दिए गए प्रारूप में भेजें। 

COMMENT