• Hindi News
  • Mp
  • Bhopal
  • OPD of government hospitals is now from 9 am to 4 pm; New arrangements may be implemented in June

मप्र / सरकारी अस्पतालों की ओपीडी अब सुबह 9 से शाम 4 बजे तक; जून में लागू हो सकती है नई व्यवस्था



मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर बुलाई बैठक। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर बुलाई बैठक।
X
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर बुलाई बैठक।मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर बुलाई बैठक।

  • मुख्यमंत्री कमलनाथ ने समीक्षा बैठक में दिए स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को सुधारने के निर्देश, 
  • मरीजाें काे मिल सके बेहतर इलाज, इसलिए... अस्पतालों में नई व्यवस्था अपनाई जा रही 

Dainik Bhaskar

May 31, 2019, 12:41 PM IST

भोपाल. जेपी अस्पताल सहित राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों की ओपीडी सुबह 9 बजे से शुरू होगी, जो शाम 4 बजे तक चलेगी। ताकि सरकारी अस्पतालों में आने वाले किसी भी मरीज को इलाज और जांच के लिए इंतजार न करना पड़े। यह फैसला गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में हुआ। इससे पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ और स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने सरकारी अस्पतालों की चिकित्सा सेवाओं की समीक्षा की।

 

बैठक में मुख्यमंत्री ने सरकारी अस्पतालों में विशेषज्ञ डॉक्टर्स के खाली पदों को सीधी भर्ती से भरने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को दिए हैं। स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने बताया कि ओपीडी का नया टाइम टेबल जून में लागू होगा। इसमें डॉक्टर्स सहित अस्पताल के स्टॉफ को दोपहर में 45 मिनट का लंच ब्रेक दिया जाएगा। ओपीडी लंच ब्रेक के दौरान अस्पतालों की इमरजेंसी यूनिट संचालित रहेगी। इस बैठक में प्रमुख सचिव स्वास्थ्य पल्लवी जैन गोविल, सचिव राजीव दुबे एवं स्वास्थ्य आयुक्त नीतेश व्यास आदि मौजूद थे। 

 

अभी इलाज में देरी होती है 
स्वास्थ्य संचालनालय के अफसराें ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित अस्पतालाें की ओपीडी अभी सुबह 8 बजे से दाेपहर 1 बजे तक और शाम काे 5 से 6 बजे तक संचालित हाेती है। ओपीडी में दाेपहर 12 बजे के बाद पहुंचने वाले उन मरीजाें का इलाज देर से शुरू हाे पाता है, जिन्हें अस्पताल के डाॅक्टर्स पैथाेलाॅजिकल अथवा रेडियाेलाॅजिकल इनवेस्टीगेशन कराने की सलाह देते हैं।

 

इसकी वजह पैथाेलाॅजी डिपार्टमेंट में ओपीडी पेशेंट के सैंपल कलेक्शन दाेपहर 11.30 बजे बंद हाेना है। जबकि रेडियाेलाॅजी डिपार्टमेंट में ओपीडी के बाद एक्सरे काे छाेड़कर शेष सभी जांचें बंद हाे जाती है। दाेनाें डिपार्टमेंट की अधिकांश जांचें ओपीडी के बाद बंद हाेने के कारण मरीज का इलाज देरी से शुरू हाे पाता है। 

 

विशेषज्ञ डाॅक्टर्स के खाली पदाें पर नियुक्ति के लिए होगी सीधी भर्ती 
सरकारी अस्पतालाें में विशेषज्ञ डाॅक्टर्स के खाली पद सीधी भर्ती से भरे जाएंगे। इससे प्रदेश के अस्पतालाें में स्पेशलिस्ट डाॅक्टर्स की कमी पूरी हाेगी। गाैरतलब है स्वास्थ्य विभाग में अभी डाॅक्टर्स की भर्ती मेडिकल ऑफिसर (असिस्टेंट सर्जन, पीजीएमओ) पद से हाेती है। सरकार पीजीएमओ काे प्रमाेशन देकर विशेषज्ञ डाॅक्टर के पद पर पदस्थ करती है। इस नियम के कारण सरकारी अस्पतालाें में विशेषज्ञ डाॅक्टर, बताैर पीजीएमओ ज्वाॅइन नहीं करते। इस कारण सरकारी अस्पतालाें में विशेषज्ञ डाॅक्टर्स के 1 हजार से ज्यादा पद लंबे समय से खाली हैं। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना