भोपाल / मनुआभान टेकरी पर बच्ची से गैंगरेप और सिर कुचलकर हत्या के केस में डेढ़ माह बाद भी पुलिस पेश नहीं कर सकी चालान



फाइल फोटो फाइल फोटो
X
फाइल फोटोफाइल फोटो

  • 12 साल की बच्ची की सामूहिक दुष्कर्म के बाद पत्थर से सिर कुचलकर की गई थी हत्या
  • कोर्ट में चालान पेश करने के लिए पुलिस को अभी भी डीएनए रिपोर्ट का इंतजार

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 01:21 AM IST

भोपाल. मनुआभान की टेकरी पर 12 साल की बच्ची की सामूहिक दुष्कर्म के बाद पत्थर से सिर कुचलकर की गई हत्या के मामले में चालान प्रस्तुत करने में पुलिस ने फुर्ती नहीं दिखाई। पुलिस डेढ़ महीने बाद भी कोर्ट में चालान प्रस्तुत करने की स्थिति में नहीं है। कोर्ट में चालान पेश करने के लिए पुलिस को अभी भी डीएनए रिपोर्ट का इंतजार है। रिपोर्ट आने में अभी भी कम से कम 10 दिन और लगने का अनुमान है। 

 

जानकारी के मुताबिक लांबाखेड़ा निवासी 12 साल की बच्ची 30 अप्रैल को अपनी 16 वर्षीय चचेरी बुआ और उसके बॉयफ्रेंड अविनाश साहू के साथ मनुआभान की टेकरी घूमने आई थी। यहां पहाड़ियों में अविनाश साहू और उसके दोस्त जस्टिन ने बच्ची के साथ पहले सामूहिक दुष्कर्म किया। सच्चाई सामने आने के डर से दोनों ने पत्थर से उसका सिर कुचलकर हत्या कर लाश वहीं छिपा दी थी। इसके बाद आरोपी चचेरी बुआ के साथ पहले बच्ची को तलाशते रहे। बाद में पुलिस को भी गुमराह करते रहे थे। पुलिस को जब अविनाश पर संदेह हुआ तो उससे पूछताछ की गई। जिसमें उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया था। पुलिस ने इस मामले में अविनाश और जस्टिन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, लेकिन बुआ अभी संदेह के घेरे में है। 

 

दर्ज हो चुके हैं 25 गवाहों के बयान :
टीआई कोहेफिजा अमरेश बोहरे का कहना है कि इस मामले में अब तक करीब 25 गवाहों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं। घटना से संबंधित भौतिक साक्ष्य इकट्ठा कर लिए गए हैं। अगले 10 दिन में डीएनए रिपोर्ट मिलने के बाद चालान पेश कर दिया जाएगा। टीआई के मुताबिक चालान में कोई कमी नहीं छोड़ना चाहते जिससे आरोपियों को फायदा मिले। 

 

डीएनए रिपोर्ट के इंतजार में कब तक हाथ पर हाथ धरे बैठी रहेगी पुलिस :

किसी की भी बेटी के साथ दुष्कृत्य जैसी घटना होना मानवता को शर्मसार करती है। लेकिन पुलिस किसी मामले में फुर्ती दिखाती है लेकिन कुछ मामलों में सुस्त रहती है। मेरी बिटिया अब इस दुनिया में नहीं है। लेकिन हमें न्याय कब मिलेगा पता नहीं। डेढ़ महीने में पुलिस चालान तक पेश नहीं कर सकी है। ऐसे मामलों में अक्सर देखने में आता है कि जब हंगामा और दबाव ब्रढ़ता है तो पुलिस जल्द से जल्द चालान पेश कर देती है। 30 अप्रैल से अब तक हमारा पूरा परिवार न्याय की आस में भटक रहा है लेकिन पुलिस अब भी चालान पेश करने के लिए डीएनए रिपोर्ट के इंतजार में हाथ पर हाथ धरे बैठी है। -मनुआभान टेकरी कांड की पीड़िता की मां का दर्द

 

सबूत जुटाने में ज्यादा वक्त लगा :
साक्ष्य जुटाने में समय लगा इसलिए विवेचना में भी देरी हुई। किसी प्रकार की जल्दबाजी नहीं की गई। डीएनए रिपोर्ट मिलते ही चालान पेश कर दिया जाएगा।  इरशाद वली, डीआईजी, भोपाल

 

अब सिर्फ डीएनए रिपोर्ट का इंतजार :

12 साल की बच्ची से दो लोगों ने दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या की थी। दोनों आरोपियों से पूछताछ की गई और उनके सैंपल लिए गए। आरएफएसएल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। दोनों के डीएनए सैंपल लिए गए हैं। जिन्हें सागर लैब भेजा गया है। चालान के लिए डीएनए रिपोर्ट का इंतजार है। -मनु व्यास, एएसपी जोन-3

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना