Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Population Of Kolar Dependent On Private Tankers For Water In Summer

चार माह में सिर्फ 3 हजार घरों में पानी, लोगों ने कहा टैंकर मंगा लेंगे, लेकिन कनेक्शन के 10 हजार नहीं देंगे

केरवा प्रोजेक्ट शुरू होने के बावजूद कोलार की तीन लाख आबादी आज भी निजी टैंकरों पर निर्भर है।

​पंकज श्रीवास्तव | Last Modified - May 03, 2018, 01:40 AM IST

  • चार माह में सिर्फ 3 हजार घरों में पानी, लोगों ने कहा टैंकर मंगा लेंगे, लेकिन कनेक्शन के 10 हजार नहीं देंगे
    +1और स्लाइड देखें

    भोपाल.केरवा प्रोजेक्ट के नाम पर 52.10 करोड़ रुपए खर्च करने के बाद भी कोलार में पानी चुनिंदा घरों की दहलीज तक ही पहुंच सका है। 25 दिसंबर को केरवा प्रोजेक्ट के शुभारंभ के बाद अब तक बमुश्किल 3 हजार लोगों ने ही नल कनेक्शन लिया है। रहवासियों का तर्क है कि पानी देने के लिए कनेक्शन के नाम पर निगम ने 10 हजार रुपए का शुल्क तय कर दिया है। ये बहुत ज्यादा है। नगर निगम ने रहवासियों को कनेक्शन शुल्क की राशि तीन किस्तों में देने का भी ऑफर दिया, लेकिन रहवासियों का कहना है कि यह बहुत ज्यादा है। कोलार की जनता से संपत्तिकर पहले से ही अधिक वसूला जा रहा है। लोगों का कहना है कि हम टैंकर मंगा लेंगे, लेकिन कनेक्शन के लिए 10 हजार रुपए नहीं देंगे।

    महापौर की अपील के बाद 15 दिन में हुए 800 कनेक्शन

    केरवा से पानी की सप्लाई शुरू होने से लेकर 15 अप्रैल तक मात्र 2200 कनेक्शन हुए थे। महापौर और विधायक की अपील के बाद 15 दिन में मात्र 800 कनेक्शन हुए हैं। इस हिसाब से अब तक केरवा के 3 हजार कनेक्शन हो पाए हैं। कनेक्शन की इस धीमी रफ्तार को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि लोग केरवा का कनेक्शन लेने में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं।

    आज भी टैंकरों पर निर्भर
    केरवा प्रोजेक्ट शुरू होने के बावजूद कोलार की तीन लाख आबादी आज भी निजी टैंकरों पर निर्भर है। सरकार ने लाखों रुपए यह सोचकर खर्च किए थे कि कोलार की सबसे बड़ी पानी की परेशानी को समाप्त किया जा सके, लेकिन कनेक्शन की दरों के कारण यह उद्देश्य पूरा नहीं हो पाया।

    चूनाभट्‌टी के बराबर प्रॉपर्टी टैक्स दे रहे हैं कोलारवासी
    रहवासियों का कहना है प्रॉपर्टी टैक्स का आंकलन तो चूनाभट्‌टी और एमपी नगर परिक्षेत्र के आधार पर किया गया है। फिर नगर निगम यहां उन क्षेत्रों की तरह सुविधाएं क्यों नहीं देता? अब जब नल कनेक्शन की बात है तो निगम पूरे शहर में एक समान शुल्क होने का तर्क दे रहा है।

    बहुमंजिला में नहीं दिए जा रहे कनेक्शन

    कोलार में 80 फीसदी बहुमंजिला इमारतों में बल्क कनेक्शन लेने के लिए इंतजाम नहीं है। इस कारण मल्टीस्टोरी में रहने वाले लोग आज भी निजी टैंकरों से अपने-अपने घर की टंकी में पानी डालवाकर काम चला रहे हैं। लोग यहां भी व्यक्तिगत कनेक्शन चाह रहे हैं, लेकिन नगर निगम के पास इनको कनेक्शन देने के लिए विकल्प नहीं है।

    मेयर आलोक शर्मा ने बताया कि राजधानी में कनेक्शन की दरें एक समान हैं। कोलार के लोगों की सुविधा के लिए हमने तीन किस्तों में कनेक्शन शुल्क देने का ऑफर दिया है।

  • चार माह में सिर्फ 3 हजार घरों में पानी, लोगों ने कहा टैंकर मंगा लेंगे, लेकिन कनेक्शन के 10 हजार नहीं देंगे
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×