Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» A Month Later Minister Rampal Singh Arrived At The House Of Priti

प्रीति सुसाइड केस: एक महीने बाद मंत्री रामपाल सिंह रात को पहुंचे प्रीति के घर, परिजनों को मनाने की कोशिश नाकाम

पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर रामपाल सिंह राजपूत चुपचाप सोमवार की रात प्रीति के परिजनों से मिलने पहुंचे।

विष्णु यादव | Last Modified - Apr 17, 2018, 02:15 PM IST

  • प्रीति सुसाइड केस: एक महीने बाद मंत्री रामपाल सिंह रात को पहुंचे प्रीति के घर, परिजनों को मनाने की कोशिश नाकाम
    +1और स्लाइड देखें
    मंत्री रामपाल सिंह पर आरोप है कि उन्होंने प्रीति को अपनी बहू नहीं माना है।

    भोपाल/रायसेन. प्रीति रघुवंशी सुसाइड केस में उस वक्त नया मोड़ आ गया, जब प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर रामपाल सिंह राजपूत खुद सोमवार की रात को 11:00 बजे चुपचाप प्रीति रघुवंशी के परिजनों से मिलने उदयपुरा स्थित उनके घर पहुंचे। चौतरफा दबाव झेल रहे मंत्री रामपाल सिंह 1 घंटे तक उनके घर रहे और प्रीति के परिजनों को मनाने की भरपूर कोशिश की, लेकिन चंदन रघुवंशी ने किसी भी समझौते से साफ इनकार कर दिया। मंत्री रामपाल सिंह रात के अंधेरे में चुपचाप एक महीने बाद प्रीति के घर पहुंचे हैं।

    -बता दें कि 17 मार्च को प्रीति रघुवंशी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। प्रीति से मंत्री रामपाल सिंह के बेटे गिरजेश सिंह ने भोपाल के एक मंदिर में शादी की थी, लेकिन मंत्री रामपाल सिंह ने प्रीति को बहू के रूप में स्वीकार नहीं किया और बेटे की शादी कहीं और पक्की कर दी। इससे दुखी होकर प्रीति ने सुसाइड कर लिया है। इसके बाद से पुलिस की जांच संदेह के घेरे में हैं। पुलिस ने मंत्री और उनके किसी भी परिजन के खिलाफ तमाम शिकायतों के बावजूद केस नहीं दर्ज किया है और न ही किसी की गिरफ्तारी हुई।

    -जानकारी के अनुसार, रात 10:00 बजे रघुवंशी समाज के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह और महिला विंग की अध्यक्ष अंशु रघुवंशी पहले ही करीब परिवार के घर पहुंचे। उन्होंने परिजनों से मुलाकात की और बातचीत करते रहे। करीब एक घंटे बाद 11: 00 बजे मंत्री रामपाल सिंह का का काफिला चंदन रघुवंशी के घर के बाहर पहुंचा।

    -वह रघुवंशी परिवार से मिले और मामले में समझौता करने पर चर्चा की। लेकिन प्रीति के पिता चंदन रघुवंशी ने किसी भी तरह के समझौते से साफ इनकार कर दिया, उन्होंने कहा कि रघुवंशी समाज जो भी निर्णय लेगा, वही उसे मान्य होगा। 1 घंटे बैठने और समझाने के बाद मंत्री रामपाल सिंह अपने काफिले के पास के साथ वापस लौट गए।

  • प्रीति सुसाइड केस: एक महीने बाद मंत्री रामपाल सिंह रात को पहुंचे प्रीति के घर, परिजनों को मनाने की कोशिश नाकाम
    +1और स्लाइड देखें
    प्रीति रघुवंशी, जिसने 17 मार्च को सुसाइड कर ली थी।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×