--Advertisement--

प्रीति सुसाइड केस: एक महीने बाद मंत्री रामपाल सिंह रात को पहुंचे प्रीति के घर, परिजनों को मनाने की कोशिश नाकाम

पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर रामपाल सिंह राजपूत चुपचाप सोमवार की रात प्रीति के परिजनों से मिलने पहुंचे।

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 01:20 PM IST
मंत्री रामपाल सिंह पर आरोप है कि उन्होंने प्रीति को अपनी बहू नहीं माना है। मंत्री रामपाल सिंह पर आरोप है कि उन्होंने प्रीति को अपनी बहू नहीं माना है।

भोपाल/रायसेन. प्रीति रघुवंशी सुसाइड केस में उस वक्त नया मोड़ आ गया, जब प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर रामपाल सिंह राजपूत खुद सोमवार की रात को 11:00 बजे चुपचाप प्रीति रघुवंशी के परिजनों से मिलने उदयपुरा स्थित उनके घर पहुंचे। चौतरफा दबाव झेल रहे मंत्री रामपाल सिंह 1 घंटे तक उनके घर रहे और प्रीति के परिजनों को मनाने की भरपूर कोशिश की, लेकिन चंदन रघुवंशी ने किसी भी समझौते से साफ इनकार कर दिया। मंत्री रामपाल सिंह रात के अंधेरे में चुपचाप एक महीने बाद प्रीति के घर पहुंचे हैं।

-बता दें कि 17 मार्च को प्रीति रघुवंशी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। प्रीति से मंत्री रामपाल सिंह के बेटे गिरजेश सिंह ने भोपाल के एक मंदिर में शादी की थी, लेकिन मंत्री रामपाल सिंह ने प्रीति को बहू के रूप में स्वीकार नहीं किया और बेटे की शादी कहीं और पक्की कर दी। इससे दुखी होकर प्रीति ने सुसाइड कर लिया है। इसके बाद से पुलिस की जांच संदेह के घेरे में हैं। पुलिस ने मंत्री और उनके किसी भी परिजन के खिलाफ तमाम शिकायतों के बावजूद केस नहीं दर्ज किया है और न ही किसी की गिरफ्तारी हुई।

-जानकारी के अनुसार, रात 10:00 बजे रघुवंशी समाज के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह और महिला विंग की अध्यक्ष अंशु रघुवंशी पहले ही करीब परिवार के घर पहुंचे। उन्होंने परिजनों से मुलाकात की और बातचीत करते रहे। करीब एक घंटे बाद 11: 00 बजे मंत्री रामपाल सिंह का का काफिला चंदन रघुवंशी के घर के बाहर पहुंचा।

-वह रघुवंशी परिवार से मिले और मामले में समझौता करने पर चर्चा की। लेकिन प्रीति के पिता चंदन रघुवंशी ने किसी भी तरह के समझौते से साफ इनकार कर दिया, उन्होंने कहा कि रघुवंशी समाज जो भी निर्णय लेगा, वही उसे मान्य होगा। 1 घंटे बैठने और समझाने के बाद मंत्री रामपाल सिंह अपने काफिले के पास के साथ वापस लौट गए।

प्रीति रघुवंशी, जिसने 17 मार्च को सुसाइड कर ली थी। प्रीति रघुवंशी, जिसने 17 मार्च को सुसाइड कर ली थी।
X
मंत्री रामपाल सिंह पर आरोप है कि उन्होंने प्रीति को अपनी बहू नहीं माना है।मंत्री रामपाल सिंह पर आरोप है कि उन्होंने प्रीति को अपनी बहू नहीं माना है।
प्रीति रघुवंशी, जिसने 17 मार्च को सुसाइड कर ली थी।प्रीति रघुवंशी, जिसने 17 मार्च को सुसाइड कर ली थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..