• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • Bhopal - फ्लाइट्स बढ़ाने के लिए नाइट पार्किंग चार्ज कम करने की तैयारी
--Advertisement--

फ्लाइट्स बढ़ाने के लिए नाइट पार्किंग चार्ज कम करने की तैयारी

ट्रांसपोर्ट रिपोर्टर | भोपाल राजाभोज एयरपोर्ट पर नाइट पार्किंग चार्ज कम करने की तैयारी की जा रही है, ताकि भोपाल...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 02:26 AM IST
ट्रांसपोर्ट रिपोर्टर | भोपाल

राजाभोज एयरपोर्ट पर नाइट पार्किंग चार्ज कम करने की तैयारी की जा रही है, ताकि भोपाल से फ्लाइट्स की संख्या बढ़ सके। इसके लिए एयरपोर्ट प्रबंधन एयरलाइंस कंपनियों को विमान पार्क करने का ऑफर देगा। इसके लिए नाइट पार्किंग चार्ज को दूसरे एयरपोर्ट के मुकाबले कम किया जाएगा। ताकि ज्यादा से ज्यादा एयरलाइंस कंपनी अपने विमानों को यहां पर रात में पार्क कर सकंे। यह फैसला मंगलवार को संभागायुक्त कवींद्र कियावत के दफ्तर में आयोजित एयरपोर्ट की पर्यावरण सुरक्षा समिति की बैठक में लिया गया। संभागायुक्त ने इसके लिए एयरपोर्ट प्रबंधन को एक प्रस्ताव बनाकर एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को भेजने के निर्देश दिए हैं।

संभागायुक्त ने अफसरों से कहा कि इंदौर में 8 से ज्यादा विमान रात में पार्क होते हैं। यदि राजाभोज एयरपोर्ट पर नाइट पार्किंग चार्ज कम कर दिए जाएं और एयरलाइंस कंपनियों को अपने एयरक्राफ्ट इंदौर की जगह भोपाल में पार्क करने के लिए मना लिया जाए तो यहां पर फ्लाइट्स संख्या को बढ़ाया जा सकता है। इसका सीधा फायदा शहर के यात्रियों को मिलेगा।

इंदौर में रात को 11 एयरक्राफ्ट पार्क

करने की सुविधा, भोपाल में 17 की

एयरपोर्ट डायरेक्टर अनिल विक्रम ने बताया कि भोपाल में एक साथ 17 एयरक्राफ्ट को नाइट में पार्क किया जा सकता है। इंदौर में इसकी संख्या 11 है। सूत्रों ने बताया कि इंदौर में अभी जेट और इंडिगो ने 8 फ्लाइट की नाइट पार्क करने के लिए जगह ली है। जबकि 3 फ्लाइट्स को पार्क करने की जगह एयरपोर्ट प्रबंधन ने रिजर्व रखी है।

नई फ्लाइट शुरू करने पर चर्चा

बैठक में बेंगलुरू के लिए भोपाल से सीधी उड़ान सेवा शुरू करने पर चर्चा की गई। इस पर एयरपोर्ट डायरेक्टर ने कहा कि कंपनियों को ऑफर दिया जा रहा है। लेकिन अभी तक कंपनियों की तरफ से जवाब नहीं आया है। दिल्ली के लिए दोपहर में नई फ्लाइट शुरू करने पर भी चर्चा की गई।

गंदगी हटे, मेट्रो रूट को भी जोड़ा जाए

एयरपोर्ट प्रबंधन ने संभागायुक्त से कहा कि शादी समारोह में बचने वाले खाद्य पदार्थों को एयरपोर्ट के आसपास फेंक दिया जाता है, जिससे यहां पशु-पक्षी आ जाते हैं। इसको लेकर नगर निगम की जिम्मेदारी तय की जाए। साथ ही ऐसी व्यवस्था की जाए कि गांधीनगर इलाके में मीट और चिकन बेचने वालों के यहां पर डस्टबिन रखवाए जाएं। साथ ही एयरपोर्ट प्रबंधन ने सुबह के वक्त लो-फ्लोर बस की सुविधा एयरपोर्ट तक करने और मेट्रो के रूट को एयरपोर्ट तक जोड़ने की मांग रखी। इस पर संभागायुक्त ने विचार करने के लिए कहा है। वहीं, नगर निगम अपर आयुक्त एमपी सिंह ने बताया कि एयरपोर्ट से संबंधित शिकायतों के लिए नोडल अधिकारी बना दिए गए हैं।