मध्यप्रदेश / सात सीनियर्स को सुपरसीड कर रेड्‌डी होंगे प्रदेश के नए सीएस, ओएसडी बने

मप्र के नए सीएस एम गोपाल रेड्डी (अभी ओएसडी)। मप्र के नए सीएस एम गोपाल रेड्डी (अभी ओएसडी)।
X
मप्र के नए सीएस एम गोपाल रेड्डी (अभी ओएसडी)।मप्र के नए सीएस एम गोपाल रेड्डी (अभी ओएसडी)।

  • वर्तमान सीएस मोहंती का रिटायरमेंट 31 को, रेड्‌डी इन्हीं से लेंगे चार्ज
  • 1992 से 94 तक छिंदवाड़ा कलेक्टर भी रह चुके हैं रेड्डी, नाथ से नजदीकी

दैनिक भास्कर

Mar 06, 2020, 03:27 AM IST

भोपाल. जल संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव एम गोपाल रेड्डी मप्र के नए मुख्य सचिव होंगे। राज्य सरकार ने गुरुवार को उन्हें मुख्य सचिव का ओएसडी नियुक्त कर दिया है। वह सात सीनियर अधिकारियों को सुपरसीड कर 31 मार्च से सीएस पद की जिम्मेदारी संभालेंगे। इनमें वन विभाग के एसीएस व 1984 बैच के एपी श्रीवास्तव, जयदीप गोविंद (केंद्रीय प्रतिनियुक्ति) व टीआरआई के डायरेक्टर प्रेमचंद मीणा, 1985 बैच के राधेश्याम जुलानिया (केंद्रीय प्रतिनियुक्ति), दीपक खांडेकर (प्रतिनियुक्ति), कृषि उत्पादन आयुक्त प्रभांशु कमल व राजस्व मंडल अध्यक्ष इकबाल सिंह बैंस शामिल हैं। वर्तमान मुख्य सचिव सुधि रंजन मोहंती 31 मार्च को रिटायर रहे हैं। रेड्डी इसी दिन जिम्मेदारी संभालेंगे।

एपी श्रीवास्तव एक अप्रैल से अवकाश पर जा रहे हैं और सरकार ने उन्हें प्रशासन अकादमी का जिम्मा दे दिया है। इकबाल सिंह राजस्व मंडल का काम संभाल रहे है, लिहाजा वे भी मंत्रालय से बाहर हैं। मीणा भी टीआरआई में हैं और वल्लभभवन से बाहर हैं। प्रभांशु कमल 30 मई को रिटायर हो जाएंगे। दूसरी ओर, मोहंती ने विद्युत नियामक आयोग के चेयरमैन पद के लिए आवेदन कर दिया है, इसलिए माना जा रहा है कि रिटायर होने के बाद वे नई भूमिका में आ सकते हैं।

छिंदवाड़ा कलेक्टर रह चुके रेड्डी
रेड्डी के मुख्य सचिव बनने की चर्चा काफी पहले थी। इसके पीछे बड़ी वजह, मुख्यमंत्री कमलनाथ से उनकी नजदीकी। वे 6 जुलाई 92 से 19 सितंबर 94 तक छिंदवाड़ा कलेक्टर भी रह चुके हैं। कमलनाथ कई महत्वपूर्ण बैठकों में मोहंती के साथ रेड्डी को भी रखते थे। रेड्डी का सितंबर में रिटायर होने वाले हैं, इसलिए उनका कार्यकाल महज सात महीने का रहेगा। मुख्यमंत्री चाहें तो तीन-तीन माह के एक्सटेंशन का विकल्प रेड्डी के पास रहेगा।

संयोग... 24 साल पहले इंदौर कलेक्टर पद का चार्ज भी मोहंती से ही लिया था

रेड्‌डी और मोहंती गहरे दोस्त है। मोहंती उनसे हमेशा कहते रहे हैं कि मप्र की ब्यूरोक्रेसी में दो ही पोजिशन टाॅप की हैं, एक- इंदौर कलेक्टर का पद और दूसरा- मुख्य सचिव का। खास बात ये कि दोनों ही दोस्त इंदौर कलेक्टर रह चुके हैं और अब रेड्‌डी, मोहंती के बाद सीएस बनने जा रहे हैं। संयोग ये भी कि 27 जून 1996 में रेड्‌डी ने मोहंती से ही इंदौर कलेक्टर का चार्ज लिया था और अब उन्हीं से मुख्य सचिव पद का चार्ज लेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना