मप्र / बालाघाट से रेस्क्यू तेंदुए की वन विहार में माैत मां से बिछड़ने के बाद यहां की गई थी शिफ्टिंग

Rescue leopard from Balaghat was shifted here after being separated from mother mother in Van Vihar
X
Rescue leopard from Balaghat was shifted here after being separated from mother mother in Van Vihar

  • 12 दिसंबर की शाम अचानक बीमार हो गई थी मादा तेंदुअा शावक

दैनिक भास्कर

Dec 17, 2019, 03:03 AM IST

भोपाल  . राजधानी के वन विहार नेशनल पार्क में रविवार काे एक मादा तेंदुअा शावक की माैत हाे गई। वह तीन दिन से बीमार थी। शुरूअाती जांच में माैत फेफड़ाें में इनफेक्शन हाेने के कारण हाेने की बात सामने आई है। वन विहार प्रबंधन ने मादा तेंदुअा शावक के शव का पाेस्टमार्टम कर उसके बाॅडी पार्ट काे जांच के लिए स्कूल अाॅफ वाइल्ड लाइफ फाॅरेंसिंक एंड हेल्थ जबलपुर एवं एनीमल डिसीज इनवेस्टीगेशल लैब जहांगीराबाद भेजे हैं।

 
वन विहार के अफसराें ने बताया कि इसी साल 13 मार्च काे सामान्य वन मंडल बालाघाट में एक मादा तेंदुए काे रेस्क्यू किया गया था। वह जंगल में अपनी मां से बिछड़ गया था। शावक काे मार्च 2019 में रेस्क्यू करने के बाद वन विहार में शिफ्ट किया गया था। यहां दूसरे वन्य प्राणियाें की तरह उसकी भी देखभाल की जा रही थी। वन विहार अफसराें के अनुसार 12 दिसंबर काे अचानक मादा शावक तेंदुए की सेहत बिगड़ गई। इस पर वन विहार स्थित अस्पताल के डाॅक्टर्स ने तेंदुअा शावक का इलाज शुरू कर दिया था।


प्रबंधन का कहना है कि इलाज से उसकी सेहत सुधार हाे रहा था। लेकिन, रविवार शाम अचानक उसकी माैत हाे गई। साेमवार काे शावक का पाेस्टमार्टम किया गया। शव की शार्ट पीएम रिपाेर्ट में उसके फेफड़ाें में संक्रमण की बात सामने अाई है।  

फॉरेंसिक जांच से ही हाेगा माैत के कारणाें का खुलासा

वन विहार नेशनल पार्क के डायरेक्टर दफ्तर के अफसराें ने बताया कि मादा तेंदुअा शावक की माैत के सही कारणाें का खुलासा स्कूल अाॅफ वाइल्ड लाइफ फाॅरेंसिक एंड हैल्थ जबलपुर से जांच रिपाेर्ट अाने के बाद हाेगा। इसके लिए साेमवार काे शव के पाेस्टमार्टम के साथ ही उसके अांतरिक अंगाें काे जांच के लिए भेजा गया है। स्कूल के फाॅरेंसिक विशेषज्ञ बाॅडी पार्ट की जांच अगले तीन सप्ताह में पूरी करेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना