• Hindi News
  • Mp
  • Bhopal
  • Bhopal Monsoon Rain Today Live Update: Madhya Pradesh's Bhopal records highest rainfall In 39 Years

भोपाल / 39 साल में सबसे ज्यादा बारिश; आज दोपहर 2.30 बजे तक 1688.9 मिमी रिकॉर्ड की गई



भोपाल में सबसे ज्यादा बारिश का 2006 का रिकॉर्ड टूट चुका है। फोटो कोलार डैम की, जिसे 13 बाद खोलना पड़ा। भोपाल में सबसे ज्यादा बारिश का 2006 का रिकॉर्ड टूट चुका है। फोटो कोलार डैम की, जिसे 13 बाद खोलना पड़ा।
बारिश ने इस बार भोपाल को तरबतर किया। बारिश ने इस बार भोपाल को तरबतर किया।
Bhopal Monsoon Rain Today Live Update: Madhya Pradesh's Bhopal records highest rainfall In 39 Years
X
भोपाल में सबसे ज्यादा बारिश का 2006 का रिकॉर्ड टूट चुका है। फोटो कोलार डैम की, जिसे 13 बाद खोलना पड़ा।भोपाल में सबसे ज्यादा बारिश का 2006 का रिकॉर्ड टूट चुका है। फोटो कोलार डैम की, जिसे 13 बाद खोलना पड़ा।
बारिश ने इस बार भोपाल को तरबतर किया।बारिश ने इस बार भोपाल को तरबतर किया।
Bhopal Monsoon Rain Today Live Update: Madhya Pradesh's Bhopal records highest rainfall In 39 Years

  • इससे पहले साल 1980 में भोपाल में 1688.9 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई थी
  • शाहपुरा में सूखी नदी में ज्यादा पानी आने से नागपुर-भोपाल हाइवे करीब 15 घंटे बंद रहा

Dainik Bhaskar

Sep 18, 2019, 06:15 PM IST

भोपाल. राजधानी में 39 साल में सबसे ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई। बुधवार को दोपहर 2.30 बजे तक 1688.9 मिमी बारिश दर्ज हुई। इसके साथ, 2006 की सबसे ज्यादा बारिश 1686.4 का रिकॉर्ड भी पीछे रह गया। बुधवार को सुबह हल्की धूप खिली। हालांकि, दोपहर 12 बजे के बाद छाए घने बादलों ने एक बार शहर को तर कर दिया।

 
वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि 1980 से 2019 के बीच उपलब्ध बारिश के आंकड़ों के मुताबिक, दक्षिण-पश्चिम मानसून का प्रभाव जून से सितंबर तक रहता है। उन्होंने बताया कि 1980 में इस अवधि में भोपाल में सर्वाधिक 1688.9 बारिश का आंकड़ा दर्ज किया गया था। मौसम वैज्ञानिकों द्वारा संभावना जताई जा रही है कि बारिश का ये सिलसिला जारी रहा तो यह रिकॉर्ड टूट सकता है। 

 

सूखी नदी में रातभर फंसे रहे वाहन 

वहीं बैतूल के शाहपुर क्षेत्र में सूखी नदी में उफान आने से मंगलवार को भोपाल-नागपुर हाइवे 15 घंटे बंद रहा। इससे दोनों तरफ रातभर सैकड़ों वाहन फंसे गए। भोपाल से बैतूल जा रही दो एंबुलेंस भी इस बाढ़ में फंस गईं। बुधवार दोपहर 12 बजे पानी कुछ कम हुआ तो हाइवे खुला और वाहनों का आवागमन चालू हो पाया।

 

मौसम विभाग के मुताबिक, कम दबाव का क्षेत्र बनने के कारण राज्य के कई हिस्सों में आगामी 24 घंटों में बारिश हो सकती हैं।

betul

 

Dainik Rashifal - DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना