बांद्राभान / उमा भारती की गुरू के अाश्रम में सेवकों को बंधक बनाकर डकैती, ट्रस्टी हैं सीएम



सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।
X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।

  • तीन करोड़ रुपए होने की जानकारी थी डकैतों को, मिले सिर्फ 86 हजार रुपए
  • पुलिस ने दो को हिरासत में लिया, सावध्वी के मुताबिक 10 से 12 थे डकैत

Dainik Bhaskar

Oct 15, 2018, 02:17 AM IST

सीहोर. बांद्राभान के विख्यात बाईराम आश्रम के पास पतई वाले स्वामी रामस्वरूपानंद के आश्रम में शनिवार रात 3 बजे डकैत सेवकों को बंधक बनाकर करीब 86 हजार, मोबाइल, बर्तन व कपड़े ले गए। पुलिस ने दो डकैतों को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से 48 हजार रुपये व अन्य सामान भी बरामद हुअा है।

 

साध्वी प्रज्ञा गिरी ने बताया कि डकैतों की संख्या 10 से 11 थी। इनके हाथों में बड़े-बड़े चाकू थे। डकैतों ने यह भी कहा था कि हमें खबर मिली है कि आश्रम में तीन करोड़ रुपए हैं, जो तलघर में छिपाए हैं। यही तीन करोड़ रुपए ढूंढते हुए इन डकैतों ने पूरा आश्रम छान मारा। पुलिस ने तुकाराम ग्राम करहे टाकली (महाराष्ट्र) और अमीन खां एहसान नगर भोपाल को गिरफ्तार किया है।

 

आश्रम उस समय चर्चा में आया जब वर्ष 2003 में उमा भारती मप्र में विधानसभा चुनाव जीत की मंशा लिए इस आश्रम में आई थीं। आश्रम में उनकी गुरू बाईराम रहती थीं। उनके देवलोक गमन के बाद पतई वाले स्वामी रामस्वरूपानंद रहते हैं। आश्रम के ट्रस्टी सीएम भी हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना