बालिका गृह में साथ सोने से मना किया तो 7 लड़कियों ने की थी हाथ की नस काटने की कोशिश, प्रबंधन ने दबा दिया था मामला

मध्यप्रदेश न्यूज : महिला एवं बाल विकास विभाग ने नोटिस देकर झाड़ा पल्ला

dainikbhaskar.com

Apr 16, 2019, 05:14 PM IST
Bhopal MP News In Hindi : Seven Girls Cut Their Arm Nerves In Shelter Home When Prevent To Sleep Together

भोपाल (मध्यप्रदेश)। बालिकागृह में 7 लड़कियों ने एक साथ पेंसिल शार्पनर की ब्लेड से अपने हाथ की नस काटने की कोशिश की थी। लड़कियों ने ये कदम सिर्फ इसलिए उठाया क्योंकि उन्हें एक साथ सोने नहीं दिया गया। इतना ही नहीं बालिका गृह की अधीक्षिका द्वारा इन लड़कियों को अस्पताल भेजने के बजाय बालिका गृह में ही प्राथमिक उपचार देकर मामले को दबाने की कोशिश की गई। घटना मार्च के आखिरी सप्ताह की है।

घटना का खुलासा जुवेनाइल जस्टिस मॉनिटरिंग कमेटी द्वारा नियुक्त गई टीम के निरीक्षण के दौरान गुरुवार को हुआ। टीम ने मामले की जांच करके रिपोर्ट कमेटी को सौंप दी है। साथ ही मामले में कलेक्टर द्वारा कमेटी बनाकर जांच कराने और काउंसलर नियुक्त करने के निर्देश दिए हैं। बालिका गृह में जबलपुर से एक किशोरी आई थी, जो यहां की बच्चियों से जल्दी घुल-मिल गई।
बच्चियां उसके साथ कमरे में सोने की जिद करने लगीं। जब बालिका गृह की केयरटेकर ने उन्हें अपने-अपने कमरे में सोने के लिए भेजा, तो लड़कियों ने पेंसिल शार्पनर की ब्लेड से अपने हाथ की नस काटने लगीं। एक-एक करके 7 लड़कियों ने अपने हाथ की नस काटने की कोशिश की। गनीमत रही कि वे नस काटने में नाकाम रहीं। हां घाव जरूर हो गया था।
मामले को छिपाने के लिए बालिका गृह की अधीक्षिका अंतोनिया एक्का कुजूर ने लड़कियों का प्राथमिक इलाज कराके उन्हें चुप रहने के लिए कहा। एक हफ्ते बाद एक कर्मचारी ने चुपके से बाल कल्याण समिति को मामले के बारे में बताया। समिति के सदस्यों ने महिला एवं बाल विकास विभाग व कलेक्टर को मामले की जानकारी दी। साथ ही अधीक्षिका को नोटिस देकर जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लिया। वहीं बालिका गृह की अधीक्षिका एक्का 3 बार सस्पेंड हो चुकी हैं।

पहले भी हो चुकीं हैं घटनाएं

1. 2016 में सफाई को लेकर लड़कियां आपस में झगड़ गई थीं।
2. नवंबर 2017 में एक बालिका के साथ मारपीट की गई। इससे उसकी कॉलर बोन टूट गई थी। बाद में संक्रमण के बाद उसकी मौत हो गई थी।
3. चौकीदार महिला को तकिया से मुंह दबाकर 3 लड़कियां ने मारने की कोशिश की थी और यहां से भाग गई थीं।

अब कलेक्टर करेंगे जांच

मामले की जानकारी लगने के बाद जज कुमुदिनी पटेल ने बालिका गृह का निरीक्षण किया था। उन्होंने अपनी रिपोर्ट जुवेनाइल जस्टिस मॉनिटरिंग कमेटी को दे दी है। कमेटी ने कलेक्टर को कमेटी बनाकर जांच करने और काउंसलर नियुक्त करने के निर्देश दिए हैं।
- आशुतोष मिश्रा, सदस्य, जिला विधिक प्राधिकरण
घटना के बारे में पता चलते ही हमने महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को इसकी जानकारी दे दी थी। इस मामले में बाल कल्याण समिति कुछ नहीं कर सकती।
- कृपाशंकर चौबे, सदस्य, बाल कल्याण समिति

X
Bhopal MP News In Hindi : Seven Girls Cut Their Arm Nerves In Shelter Home When Prevent To Sleep Together
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना