--Advertisement--

सिविल जज एग्जाम में सागर की सोनल गुप्ता प्रदेश में टॉप, डॉ. गौर विवि के 6 विद्यार्थियों ने बाजी मारी

चार विद्यार्थी प्रदेश की टॉप 30 की सूची में शामिल हैं।

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:02 AM IST

सागर. मध्य प्रदेश हाई कोर्ट जबलपुर ने सिविल जज ग्रेड-II की परीक्षा का रिजल्ट गुरुवार शाम घोषित कर दिया। 93 पदों के लिए हुई परीक्षा में डॉक्टर हरिसिंह गौर विवि की सोनल गुप्ता ने प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया। बेगमगंज की रहने वाली सोनल समेत विवि के विधि विभाग से छह विद्यार्थियों ने परीक्षा में बाजी मारी है। इनमें से चार विद्यार्थी प्रदेश की टॉप 30 की सूची में शामिल हैं। इनमें अर्जित दुबे ने तीसरे, साक्षी मासीह 20वें और कपिल देव ने 28 वें स्थान पर रहे हैं। इनके अलावा भूपेंद्र यादव ओबीसी और आनंद बागरी एससी कैटेगरी में पास आउट हुए हैं।

93 पदों के लिए हुई थी परीक्षा, पिछले साल सागर विवि से 13 विद्यार्थी हुए थे चयनित
सिविल जज ग्रेड-II की परीक्षा में बेगमगंज की रहने वाली सोनल गुप्ता ने प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया है। सोनल एडवोकेट राजकुमार गुप्ता की बेटी हैं। वे बताती हैं कि 12 वीं पास करने के बाद पिता ने उसने जज की कुर्सी पर बैठा देखने की इच्छा जाहिर की थी। इसी सपने को पूरा करने के लिए इंदौर में रहकर टारगेट स्टडी की और सफलता को हासिल किया। सोनल समेत विवि के विधि विभाग से छह विद्यार्थियों ने इस परीक्षा में बाजी मारी है। जिनमें से चार विद्यार्थी प्रदेश की टॉप 30 की सूची में शामिल हैं। इनमें अर्जित दुबे ने तीसरे, साक्षी मासीह 20वें और कपिल देव ने 28 वें स्थान पर रहे हैं। इनके अलावा भूपेंद्र यादव ओबीसी और आनंद बागरी एससी कैटेगरी में पास आउट हुए हैं। सागर से 11 विद्यार्थियों ने सिविल जज की परीक्षा का इंटरव्यू दिया था। हालांकि पिछले साल इस परीक्षा में पास होने वाली विद्यार्थियों की संख्या 13 थी।

शिक्षक की बेटी ने भी मारी बाजी
प्रदेश में पहला स्थान हासिल करने वाली सोनल गुप्ता ने 2016 में सागर विवि से बीए एलएलबी की पढ़ाई पूरी की थी। वहीं 20 वां स्थान हासिल करने वाली साक्षी दमोह के शिक्षक अजय मसीह की बेटी हैं। जिन्होंने हाल ही में विवि के दीक्षांत समारोह के दौरान विश्वविद्यालय पदक हासिल किया था।

परीक्षा में 28 वां स्थान हासिल करने वाले कपिल देव भी वरिष्ठ अधिवक्ता भारत पटेल के पुत्र हैं। कपिल ने सिविल जज की तैयारी करने के लिए कोचिंग पढ़ाई और पिता का सपना पूरा किया। वे विवि में पढ़ाई करते हुए एकेडमिक काउंसिल के सदस्य भी हैं।