मप्र / धमकी देते हुए बोले मम्मा- अपने को तो एमपी नगर में ही गुमठी लगाना है



Speaking threatening, Mamma says,
X
Speaking threatening, Mamma says,

  • पूर्व विधायक की जिद के चलते एमपी नगर को गुमठी फ्री करने को लेकर हुई चर्चा बेनतीजा
  • नगर निगम अफसरों ने कहा- एमपी नगर में नहीं लगने देंगे गुमठी 
  • एक सप्ताह में सड़क किनारे लगीं 400 गुमठियों को हटा चुका है नगर निगम का अमला

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 04:12 AM IST

भोपाल . एमपी जोन-1 से गुमठी हटाने से नाराज व्यापारियों और पूर्व भाजपा विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह के साथ नगर निगम और जिला प्रशासन के अफसरों के साथ हुई मीटिंग में जमकर हंगामा हुआ। व्यापारी एमपी नगर में ही गुमठी लगाने की मांग पर अड़े रहे। इस पर निगम, जिला प्रशासन और पुलिस के अफसरों ने एमपी नगर में गुमठी नहीं लगाने देने का फरमान सुना दिया।

 

इससे खफा पूर्व विधायक ने अफसरों को धमकी भरे लहजे में व्यापारियों को संबोधित करते हुए कहा, अपने को गुमठी एमपी नगर में ही लगाना है। उन्होंने निगम अफसरों को चेतावनी दी है कि जल्द ही वे गुमठी हटाने के मामले में कानूनी नोटिस भेजेंगे। इसके बाद गुमठी व्यापारियों ने मीटिंग का बहिष्कार कर दिया। मीटिंग बेनतीजा खत्म हो गई। नगर निगम ने एमपी नगर जोन- 1 से बीते एक सप्ताह में सड़क किनारे लगी करीब 400 गुमठियों को हटाया है। तभी से व्यापारी और पूर्व विधायक नगर निगम की गुमठी हटाने की कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं। 

 

पूर्व विधायक बोले: जिम्मेदारों को देंगे कानूनी नोटिस, सोमवार को करेंगे विधानसभा का घेराव

 

हम व्यवस्थापन के लिए जगह तलाश रहे हैं, सहयोग करें : पूरे प्रशासन का निर्णय है कि एमपी नगर में अवैध गुमठियां नहीं लगने दी जाएंगी। हम इनके व्यवस्थापन के लिए जगह तलाश रहे हैं। अभी हमने दाना- पानी रोड और कोलार रोड पर कुछ जगह देखी है। लेकिन इस पर अंतिम निर्णय होना है। आपको कार्रवाई में सहयोग करना चाहिए। - कमल सोलंकी, अपर आयुक्त, नगर निगम

 

इंतजाम तो आपको हटाने से पहले करना चाहिए था : केंद्र सरकार ने फेरी वालों के लिए कानून बनाया है। आपको गुमठी हटाने से पहले व्यवस्थापन की व्यवस्था करना चाहिए थी। हम डीआईजी, कलेक्टर और नगर निगम कमिश्नर तीनों को कानूनी नोटिस भेज रहे हैं और सोमवार को विधानसभा का घेराव करेंगे। - सुरेंद्रनाथ सिंह, पूर्व भाजपा विधायक

 

गुमठी व्यवसायी बोले- हमें एमपी नगर में ही चाहिए जगह : पूर्व विधायक के जाने के बाद अधिकारियों ने गुमठी व्यवसायियों से चर्चा की। निगम के कमर साकिब ने इन लोगों को बताया कि हम जगह ढूंढ रहे हैं। अभी कोलार रोड और दाना पानी रोड पर जगह देखी है। लेकिन गुमठी व्यवसायी राजी नहीं हुए। सभी ने एक स्वर में कहा कि हमें एमपी नगर में ही जगह चाहिए। हम इतनी दूर जाकर कारोबार नहीं कर सकते।

 

इधर, प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय के बाहर से हटा अतिक्रमण : कलेक्टर तरुण पिथोड़े के निर्देश पर गुरुवार दोपहर को निगम अमले ने शिवाजी नगर स्थित प्रदेश कांग्रेस कमेटी दफ्तर के बाहर का अतिक्रमण हटाया। यहां चाय-पान की गुमठियों ने सड़क को घेर रखा था। यह स्थिति तब है जबकि लिंक रोड नंबर एक सहित प्रमुख मार्गों को अतिक्रमण के हिसाब से रेड जोन में शामिल किया है। न केवल पीसीसी के आसपास बल्कि अन्य जगहों पर भी ठेलों का अतिक्रमण है।

 

आजाद मार्केट में दुकानदारों ने किए  15-15 वर्गफीट तक अतिक्रमण : भाजपा पार्षद संजीव गुप्ता ने आजाद मार्केट इतवारा से अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। गुप्ता ने कहा कि सड़क पर डिवाइडर के पास दोनों तरफ से 15-15 वर्ग फीट तक दुकानदारों ने अतिक्रमण कर रखा है। नतीजा दो पहिया वाहन भी नहीं निकल पाते हैं। दिन में कई बार तो स्थिति यह बनती है कि पैदल यात्रियों का भी सड़क से निकलना मुश्किल हो रहा है। उन्होंने अतिक्रमण हटाने और आजाद मार्केट को स्मार्ट मार्केट बनाने की मांग की।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना