मध्यप्रदेश / हेमंत करकरे पर विवादित बयान के बाद साध्वी प्रज्ञा से मिलीं सुमित्रा महाजन

X

  • सुमित्रा ताई और साध्वी प्रज्ञा की मुलाकात गर्मजोशी भरी रही, ताई ने साध्वी प्रज्ञा शुभकामनाएं भी दीं
  • ताई ने पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर से मुलाकात की, उनके स्वास्थ्य का हाल चाल लिया 

Apr 30, 2019, 07:54 PM IST

भोपाल. शहीद हेमंत करकरे की शहादत को लेकर दिए बयान से सुर्खियों में आईं लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने भोपाल में भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से मुलाकात की। साध्वी प्रज्ञा से सुमित्रा ताई बेहद गर्मजोशी से मिलीं और उन्हें शुभकामनाएं दीं। सुमित्रा ताई ने हेमंत करकरे को लेकर दिए बयान पर स्पष्टीकरण भी दिया। पहले पूर्व सीएम उमा भारती और अब सुमित्रा ताई की साध्वी प्रज्ञा से मुलाकात के सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं।

 

मंगलवार को सुमित्रा ताई अस्वस्थ चल रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद कैलाश सारंग, पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर और कैलाश जोशी को देखने भोपाल आईं थी। इस दौरान वे पार्टी के प्रदेश कार्यालय पहुंची। जहां उनकी मुलाकात साध्वी प्रज्ञा सिंह से हुई। सुमित्रा ताई ने बताया कि साध्वी प्रज्ञा पहले एबीवीपी में रहीं। उस दौरान उनसे भोपाल में मुलाकात हुई और इंदौर में भी उनसे कई बार मुलाकात हुई। इस नाते उन्होंने साध्वी प्रज्ञा को शुभकामनाएं दी हैं।

 

महाराष्ट्र एटीएस की कार्रवाई पर संदेह
मीडिया से बातचीत में लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा, 'उन्होंने हेमंत करकरे को लेकर कुछ नहीं कहा था, लेकिन चूंकि महाराष्ट्र एटीएस ने दिलीप पाटीदार सहित 5-6 लोगों को इंदौर से हिरासत में लिया था, लिहाजा इंदौर का प्रतिनिधि होने के नाते उन्होंने महाराष्ट्र एटीएस की कार्रवाई के बारे में जानकारी चाही थी जो उन्हें नहीं दी गई। इसके बाद से दिलीप पाटीदार गायब हैं। ऐसे में कार्रवाई को लेकर संदेह तो होगा ही।'

 

हेमंत करकरे को लेकर ये कहा था 
सुमित्रा ताई ने हेमंत करकरे की शहादत को लेकर कहा था कि करकरे को शहीद के रूप में ही जाना जाएगा क्योंकि वे ऑन ड्यूटी आतंकियों की गोली का शिकार हुए थे। लेकिन महाराष्ट्र एटीएएस के प्रमुख के रूप में करकरे की भूमिका संदेह से परे नहीं थी। सुमित्रा ताई ने ये भी कहा था कि उनके पास कोई सबूत नहीं हैं, लेकिन उन्होंने सुना है कि कांग्रेस नेता और भोपाल से पार्टी के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह करकरे के दोस्त थे और उनके इशारे पर महाराष्ट्र एटीएस ने इंदौर से कई गिरफ्तारियां की थीं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना