• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Teachers of government schools will take oath; Will come to school on time and teach students with dedication

बाल दिवस / सरकारी स्कूल शिक्षक लेंगे शपथ; समय पर स्कूल आने और समर्पण भाव से छात्रों को पढ़ाएंगे

बाल दिवस को मप्र के शिक्षकों को शपथ दिलाई जाएगी। बाल दिवस को मप्र के शिक्षकों को शपथ दिलाई जाएगी।
X
बाल दिवस को मप्र के शिक्षकों को शपथ दिलाई जाएगी।बाल दिवस को मप्र के शिक्षकों को शपथ दिलाई जाएगी।

  • बदलाव जहां शिक्षक कमियां छोड़ते हैं, उन्हीं बातों को शपथ में किया गया है शामिल
  • 14 नवंबर को पं. नेहरू की जयंती पर दिलाई जाएगी शपथ, लोक शिक्षण आयुक्त ने जारी किया आदेश 

दैनिक भास्कर

Nov 13, 2019, 06:19 PM IST

भोपाल. सरकारी स्कूलों में कार्यरत शिक्षकों को अब शपथ लेना होगी कि वह स्कूल में समय पर पहुंचेंगे और छात्रों को समर्पण भाव से पढाएंगे। यह शपथ 14 नवंबर को पं. जवाहरलाल नेहरू की जयंती के अवसर पर दिलाई जाएगी। आयुक्त लोक शिक्षण जयश्री कियावत ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। स्कूल में होने वाली प्रार्थना के बाद शपथ दिलाई जाएगी।

 

उल्लेखनीय है कि स्कूलों में शिक्षकाें की कमियों के बारे में स्कूल शिक्षा विभाग ने फीडबैक लिया था। फीडबैक में शिक्षकों की और स्कूलों की जो कमियां सामने आईं थीं, उन्हीं के आधार पर शपथ तैयार करवाई जाएगी। वहीं यह मॉनिटरिंग भी होगी कि शिक्षकों ने जो शपथ ली है, उसके अनुसार काम कर रहे हैं या नहीं। 14 नवंबर को पं. जवाहरलाल नेहरू की जयंती पर स्कूलों में छात्रों के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं जिससे छात्रों का व्यक्तित्व विकास हाे सके।

 

स्कूल शिक्षा विभाग के अफसर कार्यक्रमों के आयोजन के सिलसिले योजना बना रहे थे, इसी दौरान शिक्षकों के बारे में लिया गया वह फीडबैक भी सामने आया। पिछले दिनों ग्वालियर में हुई संभाग स्तरीय बैठक में भी शिक्षकों के स्कूल में देरी से पहुंचने की बात सामने आई थी। अभी हाल में जिला शिक्षा अधिकारी और जिला परियोजना समन्वय के निरीक्षण में भी कुछ शिक्षकों के समय पर न पहुंचने और छात्रों की कॉपियां नियमित रूप से चेक करके छात्रों की कमियां सुधारने में ढिलाई की बात भी सामने आई थी।

 

शिक्षकों को इन कामों को करने की लेना होगी शपथ
शिक्षक स्कूल के विद्यार्थियों के हित में समर्पण से काम करेंगे। शिक्षक नियमित रूप से और नियत समय पर स्कूलों में पहुंचेंगे। तन्मयता से अध्यापन कार्य को अंजाम देंगे। विद्यार्थियों की कॉपियों को रोज चेक करेंगे और सुधारने का कार्य करवाएंगे। बच्चों को गुणवत्तायुक्त शिक्षा एवं संपूर्ण व्यक्तित्व विकास के लिए प्रयासरत रहेंगे।

 

स्कूल को आदर्श स्कूल के रूप में करेंगे विकसित
शिक्षक शपथ पर कायम हैं या नहीं इसकी मॉनीटरिंग करेंगे। शपथ लेने के बाद शिक्षक शपथ कायम रहते हैं या नहीं इसकी मॉनिटरिंग शिक्षा विभाग के अफसर करेंगे। इसके लिए स्कूलों का आैचक निरीक्षण किया जाएगा और छात्रों से भी बात की जाएगी कि शिक्षक उनकी कॉपियां चेक कर उनमें सुधार करवा रहे हैं या नहीं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना