मप्र / एक दुकान से दूध-चिकन बेचने की योजना शुरू; भाजपा बोली- धार्मिक भावनाएं आहत होंगी

राज्य सरकार मध्यप्रदेश में एक ही दुकान से गाय का दूध और कड़कनाथ मुर्गे का चिकन बेचेगी। राज्य सरकार मध्यप्रदेश में एक ही दुकान से गाय का दूध और कड़कनाथ मुर्गे का चिकन बेचेगी।
भोपाल में ऐसा एक आउटलेट खोला गया है। भोपाल में ऐसा एक आउटलेट खोला गया है।
आउटलेट के फ्रीजर में रखा कड़कनाथ चिकन। आउटलेट के फ्रीजर में रखा कड़कनाथ चिकन।
X
राज्य सरकार मध्यप्रदेश में एक ही दुकान से गाय का दूध और कड़कनाथ मुर्गे का चिकन बेचेगी।राज्य सरकार मध्यप्रदेश में एक ही दुकान से गाय का दूध और कड़कनाथ मुर्गे का चिकन बेचेगी।
भोपाल में ऐसा एक आउटलेट खोला गया है।भोपाल में ऐसा एक आउटलेट खोला गया है।
आउटलेट के फ्रीजर में रखा कड़कनाथ चिकन।आउटलेट के फ्रीजर में रखा कड़कनाथ चिकन।

  • भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा की आपत्ति- इससे धार्मिक भावनाएं आहत होंगी
  • उन्होंने कहा- दूध के आउटलेट और चिकन के आउटलेट को एक दूसरे से कुछ दूरी पर खोला जाना चाहिए

दैनिक भास्कर

Sep 14, 2019, 04:47 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश सरकार ने एक ही आउटलेट पर गाय का दूध और कड़कनाथ मुर्गे का चिकन बेचने की योजना शुरू की है। सरकार का दावा है कि उसके पार्लर से मिलने वाला चिकन और गाय के दूध में शुद्धता की पूरी गारंटी है। लेकिन, भाजपा ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई है। भाजपा ने कहा है कि इससे धार्मिक भावनाएं आहत होंगी। सरकार को सभी धर्मों का सम्मान करना चाहिए।

 

भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष और विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि हिंदू धर्म में गाय और उसका दूध बेहद पूजनीय होता है जिसका कई त्योहारों में और उपवास में इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में जो व्यक्ति चिकन बेच रहा है, वही व्यक्ति गाय का दूध कैसे बेच सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार ने चिकन और दूध के पार्लर को एक साथ खोलकर हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया, इसलिए दोनों पार्लर को अलग-अलग जगह पर खोला जाए और दोनों का व्यवसाय करने वाले व्यक्ति भी अलग हों।

 

मंत्री ने कहा- भाजपा के आरोप निराधार 
मध्यप्रदेश सरकार के पशुपालन मंत्री लाखन सिंह यादव ने कहा कि भाजपा के आरोप निराधार हैं। कड़कनाथ चिकन पार्लर और मिल्क पार्लर के बीच में पार्टीशन किया गया है। इसमें एक तरफ कड़कनाथ का मांस तो दूसरे हिस्से से गाय का दूध बेचा जा रहा है।

 

आदिवासी युवाओं को रोजगार देंगे
लाखन यादव ने कहा कि दोनों पार्लर को साथ में इसलिए बनाया गया है ताकि एक ही जगह पर लोगों को दोनों चीजें मिल सकें। आदिवासी युवाओं को रोजगार देने और जनता को शुद्ध दूध उपलब्ध कराने के मकसद से एक ही जगह दूध और चिकन बेचने की योजना शुरू की है। इसमें पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मॉडल के तहत आउटलेट खोलकर सरकार गाय का शुद्ध दूध, कड़कनाथ चिकन और देसी अंडे मुहैया कराएगी।

 

एक ही आउटलेट में बेच रहे हैं दूध और चिकन  
पशुपालन विभाग के पशुधन और कुक्कुट विकास निगम ने भोपाल में ऐसा एक पार्लर खोला है। इस पार्लर में एक तरफ मशहूर कड़कनाथ का चिकन और अंडे मिल रहे हैं। दूसरी तरफ गाय का शुद्ध दूध उपलब्ध कराया जा रहा है। भोपाल के बुल मदर फार्म की गायों का दूध इस पार्लर के जरिए बेचा जा रहा है। वहीं, कुक्कुट विकास निगम आदिवासियों को कड़कनाथ मुर्गों को खिलाने के लिए दाने उपलब्ध करा रहा है।

 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना