• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • Bhopal - हबीबगंज अंडरब्रिज के पास बनेगा नया अंडरपास, 3 लाख आबादी को फायदा
--Advertisement--

हबीबगंज अंडरब्रिज के पास बनेगा नया अंडरपास, 3 लाख आबादी को फायदा

इंफ्रास्ट्रक्चर रिपोर्टर | भोपाल हबीबगंज अंडरब्रिज के पास एक नया अंडरपास बनाया जाएगा। नया अंडरपास इस तरह बनाया...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 02:26 AM IST
इंफ्रास्ट्रक्चर रिपोर्टर | भोपाल

हबीबगंज अंडरब्रिज के पास एक नया अंडरपास बनाया जाएगा। नया अंडरपास इस तरह बनाया जाएगा कि उसमें पानी नहीं भरे। मौजूदा अंडरब्रिज पर सालभर पानी का रिसाव होता रहता है। बरसात होने पर तो यह बंद ही हो जाता है। होशंगाबाद रोड से लेकर अरेरा कॉलोनी, बावड़ियाकलां और कोलार समेत अासपास की करीब तीन लाख की आबादी रोजाना इस समस्या को झेलती है।

दरअसल, इस समस्या को देखते हुए निगमायुक्त अविनाश लवानिया ने डीआरएम शोभन चौधुरी से चर्चा की। चौधुरी ने रेलवे के नियमों का हवाला देते हुए कहा कि इस अंडरपास के निर्माण में रेलवे के बजट से राशि खर्च नहीं की जा सकती, क्योंकि इसके निर्माण से कोई रेलवे क्रासिंग बंद नहीं हो रही है। इस पर निगमायुक्त ने उन्हें बजट उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। एक महीने तक चली कार्रवाई में अंडरपास का एस्टीमेट बन गया। और 5 करोड़ 80 लाख के इस एस्टीमेट से 3 करोड़ रुपए राज्य शासन ने स्वीकृत कर दिए। शेष राशि निगम अपने बजट से देगा। सोमवार को निगम ने अपना सहमति पत्र रेलवे को भेज दिया है। अब रेलवे टेंडर और वर्कऑर्डर की औपचारिकता पूरी करके दो माह में यह काम शुरू कर देगा। अधिकतम तीन माह में यह पूरा हो जाएगा।

पीक ऑवर्स में हर घंटे गुजरते हैं 6 हजार वाहन...

ऐसा बनेगा अंडरपास

मौजूदा हबीबगंज अंडरब्रिज के पास अरेरा कॉलोनी की तरफ से जाने पर बांई ओर 6-6 मीटर चौड़ाई के दो डोम बनाए जाएंगे। इन्हें जमीन से 1.1 मी. ऊंचा बनाया जाएगा ताकि यहां पानी न भरे। दोनों डोम वन- वे के रूप में इस्तेमाल होंगे।

हबीबगंज आरओबी का फायदा भी नहीं

निगम ने जब हबीबगंज आरओबी बनाया तो माना जा रहा था कि समस्या का समाधान हो जाएगा, लेकिन इसे वन-वे बनाया गया। यानी होशंगाबाद रोड से अरेरा कॉलोनी आने वाले वाहन तो ब्रिज से आ सकते हैं, लेकिन जा नहीं सकते। इस कारण अरेरा कॉलोनी से होशंगाबाद रोड पर जाने के लिए अंडरब्रिज से ही गुजरना पड़ता है।


चढ़ाई पर लगा सिग्नल भी हादसे की वजह

ब्रिज से बाहर निकलते ही होशंगाबाद रोड पर सिग्नल लगा हुआ है। इसके रेड होने पर ब्रिज से बाहर निकल रहे वाहनों के लिए बैलेंस करना मुश्किल हो जाता है, क्योंकि पीछे वाहनों की कतार लगी होती है और यहां बेतरतीब चढ़ाई है। इस वजह से कई बार एक्सीडेंट हो जाते हैं।


अंडरब्रिज नहीं, यह तो पानी निकलने की जगह है

मौजूदा अंडरब्रिज रेलवे ट्रैक के नीचे से पानी निकालने की पुलिया थी। होशंगाबाद रोड पर बसाहट होने पर जरूरत पड़ी और यहां सड़क बनाकर इसे अंडरब्रिज की तरह इस्तेमाल किया जाने लगा। एक माह पहले महापौर आलोक शर्मा व निगम आयुक्त यहां का दौरा करने आए थे। इस दौरान समस्या भी सामने आई थी।