--Advertisement--

पीपुल्स के विजयवर्गीय 18 घंटे जेल में रहकर फिर अस्पताल में लौट आए, जांच रिपोर्ट नॉर्मल

मंगलवार शाम सीबीआई कोर्ट के आदेश पर न्यायिक हिरासत में पुलिस उन्हें स्ट्रेचर पर लेकर जेल पहुंची थी।

Danik Bhaskar | May 03, 2018, 01:04 AM IST

भोपाल. व्यापमं महाघोटाले की पीएमटी 2012 गड़बड़ी मामले में आरोपी पीपुल्स मेडिकल कॉलेज के चेयरमैन सुरेश एन विजयवर्गीय केंद्रीय जेल में 18 घंटे गुजारने के बाद बुधवार शाम करीब 4 बजे भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल में भर्ती हो गए। उन्होंने मंगलवार को भोपाल की सीबीआई जज बीपी पांडे की अदालत में सरेंडर किया था। अदालत ने उन्हें 15 दिन की न्यायिक हिरासत में केंद्रीय जेल भेज दिया था।


विजयवर्गीय को डिपार्टमेंट ऑफ कार्डियोलॉजी के सीसीयू में भर्ती किया गया है। वे लगातार सीने में दर्द की शिकायत कर रहे हैं। लेकिन, उनकी ईसीजी और ईको जांच रिपोर्ट नार्मल है। गुरुवार को विजयवर्गीय की दूसरी जरूरी मेडिकल जांचें की जाएगी। ताकि मेडिकल गड़बड़ी के आरोपी विजयवर्गीय की बीमारी की पहचान कर, उसका इलाज किया जा सके।

बैरक में पैदल चलकर गए

मंगलवार शाम सीबीआई कोर्ट के आदेश पर न्यायिक हिरासत में पुलिस उन्हें स्ट्रेचर पर लेकर जेल पहुंची थी। जेल दाखिल होने की कार्रवाई के बाद बैरक तक का रास्ता स्ट्रेचर अथवा पैदल चलकर तय करने के संबंध में पूछा गया था। इस दौरान एक जेल प्रहरी ने पैदल चलने पर बीमारी जल्दी ठीक होने की सलाह दी थी। इसके बाद वे दो लाेगों का सहारा लेकर जेल अस्पताल तक गए थे।

सीबीआई की अदालत में सरेंडर करने के बाद विजयवर्गीय केंद्रीय जेल के लिए कोर्ट से पीपुल्स हॉस्पिटल एंड मेडिकल कॉलेज की एंबुलेंस से रवाना हुए थे। लेकिन, कोर्ट से प्राइवेट एंबुलेंस से जेल जाने का आदेश जारी नहीं होने के कारण पुलिस गार्ड ने उन्हें एंबुलेंस 108 में शिफ्ट कर दिया था।

भोपाल केंद्रीय जेल के अधीक्षक दिनेश नरगावे ने बताया कि पीएमटी गड़बड़ी मामले में जेल में बंद विजयवर्गीय ने बुधवार दोपहर को सीने दर्द की शिकायत की थी। इसके बाद गार्ड के साथ उन्हें हमीदिया अस्पताल भेजा था, जहां से उन्हें भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल रैफर किया गया है।