Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Water Not Found At Shiv Nair Center

लाखों के शिव नीर केंद्र पर नहीं बुझ रही लोगों की प्यास, कुछ ही को मिल रहा एक रुपए लीटर पानी

राजधानी में शिव नीर केंद्र की शुरुआत सितंबर 2015 में हुई थी।

Bhaskar News | Last Modified - May 01, 2018, 03:30 AM IST

  • लाखों के शिव नीर केंद्र पर नहीं बुझ रही लोगों की प्यास, कुछ ही को मिल रहा एक रुपए लीटर पानी

    भोपाल.नगर निगम द्वारा राजधानी में निजी कंपनी की मदद से खोले गए शिव नीर केंद्र अब लोगों की प्यास नहीं बुझा पा रहे हैं। ढाई साल पहले शहर में 12 स्थानों पर शिव नीर केंद्र खोलने का वादा किया गया था, लेकिन शुरू हुए सिर्फ दो। इन दोनों केंद्रों से भी आम लोगों को मुफ्त मिलने वाला पानी अब नहीं मिल रहा है। हालांकि कुछ व्यापारियों को इन केंद्रों से एक रुपए लीटर के हिसाब से पानी मिल जाता है।


    राजधानी में शिव नीर केंद्र की शुरुआत सितंबर 2015 में हुई थी। विश्व हिंदी सम्मेलन के दौरान पुरानी विधानसभा के पास पहला शिव नीर केंद्र खोला गया था। केंद्र चल तो रहा है, लेकिन केवल चुनिंदा दुकानों पर ही कंपनी पानी सप्लाय कर रही है। केंद्र के दो वाटर कूलर बंद पड़े हैं। यहां लोग प्यास बुझाने आते जरूर हैं, लेकिन टूटी टोटी देख मायूस होकर लौट जाते हैं। केंद्र पर पानी शुद्ध करने वाले प्लांट की देखरेख करने वाले कर्मचारी के मुताबिक कुछ ही दुकानों पर पानी सप्लाय हो रहा है। प्याऊ वाले वाटर कूलर बंद करने की वजह इनके नल बार-बार तोड़ दिए जाना है। यहां से बमुश्किल 300 लीटर पानी बिकता है। जानकारी के मुताबिक नगर निगम को एक केंद्र की स्थापना पर 20 लाख रुपए तक का खर्च उठाना पड़ता है।

    महीनों से बंद हैं वाटर कूलर, नलों की टोटियां भी टूटीं

    एमपी नगर जोन-2 में खोला गया शिव नीर केंद्र में पानी के लिए एक रुपए प्रति लीटर शुल्क वसूला जा रहा था, जिसे विरोध के बाद बंद करना पड़ा। यह केंद्र कभी चलता है तो कभी बंद रहता है। बाजार के व्यापारी एक रुपए लीटर के हिसाब से 20 लीटर पानी की कैन खरीदते हैं। केंद्र से रोजाना 300 से 400 लीटर पानी बिक रहा है।

    यहां भी खुलना थे शिव नीर केंद्र

    एपी नगर जोन-1, न्यूमार्केट, सराफा, बस स्टैंड, भोपाल-हबीबगंज रेलवे स्टेशन, दस नंबर मार्केट, सेकंड स्टॉप, मनीषा मार्केट, विजय मार्केट और कोलार क्षेत्र में शिव नीर केंद्र खोले जाने थे, लेकिन केंद्र खोलने के लिए नगर निगम आज तक कोई ठोस काम नहीं कर पाया है।

    मेयर ने किया था वादा, जो ढाई साल बाद भी अधूरा

    महापौर आलोक शर्मा ने शिव नीर के नाम से शहर के सभी मुख्य बाजारों में केंद्र खोलने का ऐलान किया था। साथ ही उन्होंने कहा था कि इन केंद्रों के खुलने से शहरवासियों को मुफ्त और साफ पानी मिलने लगेगा। बाजारों के व्यापारी भी एक रुपए लीटर में पीने का पानी खरीद सकेंगे।

    शिगूफा बनकर रह गई पानी की बोतल
    निगम ने परिषद की बैठकों के साथ ही प्रमुख कार्यक्रमों में निजी कंपनियों के बदले शिव नीर के पानी की बोतल खरीदना तय किया था। वजह कीमतों में आधा का अंतर था। इस केंद्र से बाजार में मिलने वाली 50 रुपए की कैन 20 रुपए लीटर में मिलना तय हुआ था। निगम ने छोटी बोतल में पानी पैक करने को कहा था, ताकि पानी पर सालाना खर्च होने वाले 20 लाख रुपए को आधा किया जा सके।

    कुछ कारणों से शहर में शिव नीर खोलने में देरी हुई है
    मेयर आलोक शर्मा ने बताया कि शिव नीर केंद्र खोलने की तैयारी चल रही है। कुछ दिक्कतों की वजह से देरी हो गई थी। अभी दोनों केंद्र ठीक चल रहे हैं। हम हर हाल ही में शहर की जनता को पीने का पानी उपलब्ध कराएंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×