• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • Bhopal - निगम कमिश्नर की जानकारी के बिना तोड़ दिया 150 साल पुराना गेट, दो अफसरों से सारे प्रभार छीने
--Advertisement--

निगम कमिश्नर की जानकारी के बिना तोड़ दिया 150 साल पुराना गेट, दो अफसरों से सारे प्रभार छीने

इंफ्रास्ट्रक्चर रिपोर्टर| भोपाल बाग फरहत अफ्जा का 150 साल पुराना गेट को तोड़ने के मामले में नगर निगम आयुक्त...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 03:21 AM IST
इंफ्रास्ट्रक्चर रिपोर्टर| भोपाल

बाग फरहत अफ्जा का 150 साल पुराना गेट को तोड़ने के मामले में नगर निगम आयुक्त अविनाश लवानिया ने उपायुक्त बीडी भूमरकर और अतिक्रमण अधिकारी कमर साकिब से सारे प्रभार छीन कर दोनों को ऑफिस अटैच कर दिया है। दोनों अफसरों को दिए नोटिस में दोनों अफसरों से पूछा गया है कि उन्होंने यह ऐेतिहासिक गेट किसके आदेश पर तोड़ दिया। उन्हें नोटिस का जवाब 24 घंटे में देने को कहा गया है।

दोनों अफसरों से यह भी साफ करने को कहा गया है कि गेट को तोड़ने से पहले भारतीय पुरातत्व संरक्षण (एएसआई) की सलाह क्यों नहीं ली गई और यह भी स्पष्ट नही है कि निगम के इंजीनियरिंग विभाग की रिपोर्ट भी ली गई या नहीं? इस मामले में सिटी इंजीनियर पीके जैन की भूमिका को लेकर भी संदेह है, लेकिन अभी उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

तीन दिन से चल रही थी कार्रवाई

अतिक्रमण दस्ता पिछले तीन दिनों से यह गेट तोड़ने की कार्रवाई कर रहा था, रविवार को इसे पूरी तरह धराशाई कर दिया गया। गेट टूटने पर सोशल मीडिया पर कई लोगों ने गुस्सा और दु:ख जाहिर किया था। निगम अमले ने इतनी बड़ी कार्रवाई कर दी लेकिन निगमायुक्त को जानकारी देना भी जरूरी नहीं समझा गया। भूमरकर ने दैनिक भास्कर से कहा कि वे इस जोन के प्रभारी हैं लेकिन उन्होंने न तो मौखिक और न लिखित आदेश दिया। उन्हें नहीं पता कि यह गेट किसके आदेश पर तोड़ा गया।