खुदकुशी: रात 11 बजे तक अच्छे से देखी झांकी, फिर कमरे में चला गया सोने; सुबह नहीं उठा तो बड़े भाई ने तोड़ दिया दरवाजा; अंदर का मंजर देख पैरों तले खिसक गई जमीन / खुदकुशी: रात 11 बजे तक अच्छे से देखी झांकी, फिर कमरे में चला गया सोने; सुबह नहीं उठा तो बड़े भाई ने तोड़ दिया दरवाजा; अंदर का मंजर देख पैरों तले खिसक गई जमीन

Bhaskar News

Oct 13, 2018, 04:38 PM IST

पिछली नवरात्रि से जुड़ा है कनेक्शन, बघेलखंड विंध्य आदर्श समाज के उपाध्यक्ष का भतीजा है मृतक

Youth Committed Suicide in Bhopal

भोपाल. बघेलखंड विंध्य आदर्श समाज के उपाध्यक्ष के भतीजे ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। फांसी लगाने के कारणों का खुलासा तो नहीं हो पाया, लेकिन आज से एक साल पहले उनके छोटे भाई ने भी खुदकुशी कर ली थी। सिमरिया रीवा निवासी 22 वर्षीय पिंटू उर्फ स्वप्निल अग्निहोत्री बड़े भाई राेहणी के साथ चाचा टीपी अग्निहोत्री के मकान में रहते थे। उनके चाचा बघेलखंड विंध्य आदर्श समाज के उपाध्यक्ष हैं। पिंटू प्राइवेट जॉब करता था।

समाज के अध्यक्ष उमाशंकर तिवारी ने बताया, गुरुवार रात पिंटू रात 11 बजे तक झांकी में बैठा रहा। इसके बाद वह अपने कमरे में सोने चला गया। सुबह नहीं उठने पर बड़े भाई रोहणी ने धक्का देकर दरवाजा खोला, तो उसे फांसी पर पाया। वे उसे जेपी अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों ने पुलिस को घटना की सूचना दी।

तिवारी ने बताया, छह भाइयों में पिंटू पांचवें नंबर का था। एक साल पहले इसी नवरात्रि में उसके छोटे भाई शशिकांत ने भी खुदकुशी कर ली थी। सबसे बड़े भाई गांव पर रहते हैं। पुलिस ने मौके से एक मोबाइल फोन जब्त किया है, लेकिन कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। निजामुद्दीन कॉलोनी में रहने वाले मृतक से बड़े भाई अश्विन ने बताया कि उन्हें तो समझ ही नहीं आ रहा कि पिंटू ने ऐसे कैसे कर लिया? पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव लेकर रीवा के लिए निकल गए।

X
Youth Committed Suicide in Bhopal
COMMENT