Hindi News »Madhya Pradesh »Bina» ढाबा मालिक ने बिछड़े बुजुर्ग को बेटे से मिलाया

ढाबा मालिक ने बिछड़े बुजुर्ग को बेटे से मिलाया

नगरीय क्षेत्रों में बुजुर्गों के साथ दुव्र्यवहार एवं वृद्धाआश्रम भेजने की खबरें रोजाना आम है। लेकिन एक ढाबे के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 11, 2018, 03:10 AM IST

नगरीय क्षेत्रों में बुजुर्गों के साथ दुव्र्यवहार एवं वृद्धाआश्रम भेजने की खबरें रोजाना आम है। लेकिन एक ढाबे के मालिक युवक ने मानवीयता की मिसााल पेश करते हुए नई दिल्ली के याददाश्त खो चुके बुजुर्ग की दो दिन तक सेवा की, फिर दस्तावेजों के आधार पर उसके घर का पता लगाया। उसके बाद पुलिस की मदद से बेटे को बुलाकर बुजुर्ग को घर पहुंचा दिया।

एएसआई जगदीश भगत ने बताया कि खुरई बीना रोड पर कुलवाई के पास ढाबा चलाने वाले अरविंद ठाकुर निवासी खेजरा एक बुजुर्ग को लेकर आए। वहां बुजुर्ग का बेटा नई दिल्ली से पहुंचा। पूछताछ के बाद पिता को बेटे को सौंप दिया। दरअसल अरविंद ठाकुर अपने ढाबे पर बैठे थे। सामने से एक बुजुर्ग हाथ में आईना और ब्लेड लिए हुए जा रहा था। वह बार बार बड़ी हुई दाड़ी की ओर ईशारा कर रहा था। उसकी मानसिक स्थिति ठीक न देखकर अरविंद ने उन्हें ढाबे पर बुला लिया। उनसे चाय पीने को कहा। तब बुजुर्ग ने कहा पहले मेरी दाड़ी बना दो फिर चाय पीउंगा। इस पर उसे वह पढ़ालिखा बुजुर्ग समझ में आया, उसने बुजुर्ग की दाड़ी बना दी। उसे चाय पिलाई, खाना खिलाया। उसके बाद उससे पता पूछा तो बुजुर्ग ने कहा मुझे कुछ याद नहीं है। बुजुर्ग की शर्ट जेब में आधार कार्ड था, बैंक आॅफ बड़ौदा की पास बुक थी। जिस पर बैंक के नंबर लिखे थे। जिन्हें डाॅयल किया बुजुर्ग की जानकारी दी। उसके बाद नई दिल्ली करोल बाग ब्रांच से एक व्यक्ति बुजुर्ग के घर पहुंचा। उसके बेटे को सूचना दी कि वह खुरई थाने पहुंचे। फिर बेटा ओमप्रकाश अगले दिन खुरई थाने पहुंचा तो पिता मिल गए। उनका परिवार व्यापारी है सभी बाहर जाते हैं। पिता अन्य स्थान का कहकर निकले थे। वह याददाश्त खोने के कारण खुरई पहुंच गए। पिता पुत्र के मिलन पर पुलिस एवं ढाबा संचालक ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि लोग बुजुर्गों के प्रति गंभीरता दिखाएं तो आपसी प्रेम बढ़ेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bina

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×