• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bina
  • केंद्रों पर रखा हजारों बोरा अनाज; परिसर में जगह नहीं, हो सकती है खरीदी बंद
--Advertisement--

केंद्रों पर रखा हजारों बोरा अनाज; परिसर में जगह नहीं, हो सकती है खरीदी बंद

कृषि उपज मंडी में खुले 3 उपार्जन केंद्र में समर्थन मूल्य के तहत चना, मसूर व सरसों की खरीदी जारी है लेकिन इस अनाज को...

Danik Bhaskar | Apr 26, 2018, 03:15 AM IST
कृषि उपज मंडी में खुले 3 उपार्जन केंद्र में समर्थन मूल्य के तहत चना, मसूर व सरसों की खरीदी जारी है लेकिन इस अनाज को उठाया नहीं जा रहा है। समय पर ट्रांसपोर्टिंग नहीं होने से तीनों केंद्र के परिसर भर गए है और जगह भी नहीं बची है। यह अनाज उठाने के लिए कई बार केंद्र संचालक वरिष्ठ अधिकारियों से कह चुके हैं, फिर भी सुनवाई नहीं हो रही है। जगह नहीं बचने से केंद्र संचालक अब खरीदी बंद करने का मन बना रहे हैं।

शिकायत मिलने पर तहसीलदार कमलेश अग्रवाल, कृषक सदस्य अमरप्रताप सिंह ठाकुर मंडी पहुंचे और जायजा लेकर सभी से चर्चा की। उन्हें बताया कि यहां खुले धनोरा, किर्रावदा व रामपुर समर्थन मूल्य केंद्र पर हर दिन चना,मसूर की खरीदी कर रहे हैं।

लेकिन जिंस को संबंधित अधिकारियों द्वारा उठाकर गोदाम नहीं भेजा रहा है। इस कारण तीनों केंद्र के परिसर पूरी तरह भर चुके हैं। अनाज तौलने के लिए भी जगह नहीं बची है। यदि ऐसा ही चलता रहा तो वे अनाज खरीदना बंद कर देंगे। हालांकि मौका पर तहसीलदार व मंडी सदस्य ने समझाइश दी और समस्या का समाधान कराने कहा।

14 साै से ज्यादा रखे हंै बोरे जगह नहीं, कैसे हो तुलाई

तीनों केंद्रो पर 1400 से ज्यादा चना, मसूर से भरे बोरे रखे हैं। जिन्हंे एक सप्ताह से नहीं उठाया गया है। धनोरा केंद्र में करीब 450 क्विंटल, रामपुर केंद्र में करीब 350 क्विंटल व किर्रावदा केंद्र पर करीब 650 क्विंटल बोरा अनाज रखा होना बताया गया है। बता दंे कि इन केंद्रो पर आए दिन कुछ न कुछ समस्या आने से किसानों को परेशान होना पड़ रहा है। सोमवार को हम्मालों के हड़ताल पर चले जाने से अनाज की तुलाई बंद हो गई थी और किसान भी भड़क गए थे।

इस मामले को तहसीलदार, मंडी सदस्य ठाकुर ने समझाइश देकर शांत किया था। अब खरीदे चना, मसूर की ट्रांसपोर्टिंग न होने से समस्या खड़ी हो गई है।

बीना समर्थन मूल्य खरीदी केंद्र का निरीक्षण करते तहसीलदार कमलेश अग्रवाल।

काॅग्रेसियों ने राज्यपाल

के नाम ज्ञापन सौंपा

पटनाबुजर्ग। चना-मसूर खरीदी केंद्रों पर धांधली और किसानों के साथ हो रही लूट के विरोध में ब्लाक काॅग्रेस ने अनुविभागीय अधिकारी को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। अगर दो दिन में किसानो की उपरोक्त समस्याओं का हल नही किया गया तो धरने की चेतावनी दी गई है। उनकी मांग है किसान फसल छान कर लाते हैं उसी स्थिति में खरीदा जाए। किसान के जितने रकबे का पंजीयन है। एक ही बार बुलाकर पूरे माल को तौला जाए। किसी कारण से मैसेज वाले दिन नहीं पहुंच पाते हैं तो अगले दिन उसके माल की तुलाई की जाय। किसानों का संपूर्ण कर्ज माफ किया जाए। इसके अलावा सूखा राहत राशि का वितरण किसानो को शीघ्रकर फसल से वसूली जा रही 5 प्रतिशत जीएसटी षुल्क एवं 2.20 प्रतिशत मंडी शुल्क हटाया जाए। ज्ञापन देने वालों एड बीडी पटेल शिवराज सिंह, सौरव हजारी, ज्योति पटेल के अलावा कई किसान शामिल हैं।