Hindi News »Madhya Pradesh »Bina» मंडी के समर्थन मूल्य केंद्र रामपुर में आग लगने से 27 हजार का बारदाना जला

मंडी के समर्थन मूल्य केंद्र रामपुर में आग लगने से 27 हजार का बारदाना जला

कृषि उपज मंडी में खुले समर्थन मूल्य केंद्र रामपुर सोसायटी के परिसर में रखे बारदाना सहित जिंस में रविवार की रात...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 08, 2018, 03:25 AM IST

मंडी के समर्थन मूल्य केंद्र रामपुर में आग लगने से 27 हजार का बारदाना जला
कृषि उपज मंडी में खुले समर्थन मूल्य केंद्र रामपुर सोसायटी के परिसर में रखे बारदाना सहित जिंस में रविवार की रात करीब डेढ़ बजे आग लग गई। इस आगजनी से करीब 27 हजार रुपए का नुकसान होना बताया गया है।

यकायक लगी आग से हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुुंचे पुलिसकर्मियों के साथ किसानों ने आग बुझाने के लिए काफी भागदौड़ की और आग बुझाने का प्रयास कर भड़कने से रोका। कुछ देर बाद नपा दमकल कर्मी भी पहुंच गए और आग को बुझाया। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा आग इतनी भीषण थी कि कुछ ही देर में परिसर में रखे चना, मसूर से भरी बोरी सहित बारदाना को अपनी चपेट में ले लिया। शुक्र रहा सभी के प्रयास से बड़ा हादसा होने से बच गया।

सूचना पर सोमवार सुबह दो बार 7 बजे एवं साढ़े 11 बजे एसडीएम डीपी द्विवेदी पहुंचे और मामले की जानकारी ली। एएसओ से आग में हुए नफा-नुकसान की जांच पड़ताल करने कहा। सहायक आपूर्ति अधिकारी जीएस रघुवंशी ने बताया कि इस आगजनी में सिर्फ बारदाना जला है। जबकि बोरियों में भरा चना, मसूर बच गया है। उन्होंने बताया कि रामपुर केंद्र में समर्थन मूल्य से खरीदा गया 2845.50 क्विंटल चना, मसूर रखा था। आग ने 450 बोरियों को अपनी चपेट मंे लिया था।

जिसे देखने पर पाया कि बोरियों में भरा अनाज सुरक्षित है। जबकि बोरियां जल गई है। शासन की दर अनुसार एक बोरी करीब 60 रुपए की पड़ती है। इस तरह करीब 27 हजार रुपए का नुकसान हुआ है।

एसडीएम द्विवेदी ने कहा कि आग से ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। सिर्फ बोरियां जली है, अनाज बच गया है। मुख्य ट्रांसपोर्टर से बात कर स्पष्ट निर्देश है कि मंगलवार तक अनाज का परिवहन हो जाना चाहिए। नहीं हुआ तो एफआईआर की कार्रवाई भी हो सकती है।

हादसा

कृषि उपज मंडी में नहीं है फायर सेफ्टी सिस्टम, पुलिस कर्मियों एवं किसानाें के प्रयास से बड़ा नुकसान होने से बचा

बीती रात कृषि मंडी में रखे समर्थन मृल्य के चना एवं मसूर से भरी बोरियों में आग लग गई।

भास्कर संवाददाता| बीना

कृषि उपज मंडी में खुले समर्थन मूल्य केंद्र रामपुर सोसायटी के परिसर में रखे बारदाना सहित जिंस में रविवार की रात करीब डेढ़ बजे आग लग गई। इस आगजनी से करीब 27 हजार रुपए का नुकसान होना बताया गया है।

यकायक लगी आग से हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुुंचे पुलिसकर्मियों के साथ किसानों ने आग बुझाने के लिए काफी भागदौड़ की और आग बुझाने का प्रयास कर भड़कने से रोका। कुछ देर बाद नपा दमकल कर्मी भी पहुंच गए और आग को बुझाया। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा आग इतनी भीषण थी कि कुछ ही देर में परिसर में रखे चना, मसूर से भरी बोरी सहित बारदाना को अपनी चपेट में ले लिया। शुक्र रहा सभी के प्रयास से बड़ा हादसा होने से बच गया।

सूचना पर सोमवार सुबह दो बार 7 बजे एवं साढ़े 11 बजे एसडीएम डीपी द्विवेदी पहुंचे और मामले की जानकारी ली। एएसओ से आग में हुए नफा-नुकसान की जांच पड़ताल करने कहा। सहायक आपूर्ति अधिकारी जीएस रघुवंशी ने बताया कि इस आगजनी में सिर्फ बारदाना जला है। जबकि बोरियों में भरा चना, मसूर बच गया है। उन्होंने बताया कि रामपुर केंद्र में समर्थन मूल्य से खरीदा गया 2845.50 क्विंटल चना, मसूर रखा था। आग ने 450 बोरियों को अपनी चपेट मंे लिया था।

जिसे देखने पर पाया कि बोरियों में भरा अनाज सुरक्षित है। जबकि बोरियां जल गई है। शासन की दर अनुसार एक बोरी करीब 60 रुपए की पड़ती है। इस तरह करीब 27 हजार रुपए का नुकसान हुआ है।

एसडीएम द्विवेदी ने कहा कि आग से ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। सिर्फ बोरियां जली है, अनाज बच गया है। मुख्य ट्रांसपोर्टर से बात कर स्पष्ट निर्देश है कि मंगलवार तक अनाज का परिवहन हो जाना चाहिए। नहीं हुआ तो एफआईआर की कार्रवाई भी हो सकती है।

भास्कर संवाददाता| बीना

कृषि उपज मंडी में खुले समर्थन मूल्य केंद्र रामपुर सोसायटी के परिसर में रखे बारदाना सहित जिंस में रविवार की रात करीब डेढ़ बजे आग लग गई। इस आगजनी से करीब 27 हजार रुपए का नुकसान होना बताया गया है।

यकायक लगी आग से हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुुंचे पुलिसकर्मियों के साथ किसानों ने आग बुझाने के लिए काफी भागदौड़ की और आग बुझाने का प्रयास कर भड़कने से रोका। कुछ देर बाद नपा दमकल कर्मी भी पहुंच गए और आग को बुझाया। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा आग इतनी भीषण थी कि कुछ ही देर में परिसर में रखे चना, मसूर से भरी बोरी सहित बारदाना को अपनी चपेट में ले लिया। शुक्र रहा सभी के प्रयास से बड़ा हादसा होने से बच गया।

सूचना पर सोमवार सुबह दो बार 7 बजे एवं साढ़े 11 बजे एसडीएम डीपी द्विवेदी पहुंचे और मामले की जानकारी ली। एएसओ से आग में हुए नफा-नुकसान की जांच पड़ताल करने कहा। सहायक आपूर्ति अधिकारी जीएस रघुवंशी ने बताया कि इस आगजनी में सिर्फ बारदाना जला है। जबकि बोरियों में भरा चना, मसूर बच गया है। उन्होंने बताया कि रामपुर केंद्र में समर्थन मूल्य से खरीदा गया 2845.50 क्विंटल चना, मसूर रखा था। आग ने 450 बोरियों को अपनी चपेट मंे लिया था।

जिसे देखने पर पाया कि बोरियों में भरा अनाज सुरक्षित है। जबकि बोरियां जल गई है। शासन की दर अनुसार एक बोरी करीब 60 रुपए की पड़ती है। इस तरह करीब 27 हजार रुपए का नुकसान हुआ है।

एसडीएम द्विवेदी ने कहा कि आग से ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। सिर्फ बोरियां जली है, अनाज बच गया है। मुख्य ट्रांसपोर्टर से बात कर स्पष्ट निर्देश है कि मंगलवार तक अनाज का परिवहन हो जाना चाहिए। नहीं हुआ तो एफआईआर की कार्रवाई भी हो सकती है।

बीड़ी या शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका

टीआई कमल निगवाल ने बताया कि आग लगने के दो कारण सामने आ सकते हैं। बीड़ी या फिर शार्ट सर्किट। क्योंकि घटना स्थल से थोड़ी दूर अपनी उपज बेचने आए किसान टीन शेड मंे बैठे थे। कुछ शराब की बोतले, जली हुई बीड़ी भी पाई गई हैं। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि किसी किसान ने बीड़ी पीकर वहीं डाल दी होगी जिससे आग भड़क उठी। दूसरा कारण शार्ट सर्किट भी हो सकता है। फिलहाल अज्ञात के खिलाफ आगजनी का मामला दर्ज कर आग लगने के कारणों की जांच की जा रही है।

सालाना आय करोड़ों, फिर भी फायर सेफ्टी नहीं

सालाना करोड़ों रुपए आय कमाने वाली मंडी मंे आगजनी से निपटने कोई इंतजाम नहीं है। यहां फायर सेफ्टी सिस्टम नहीं लगाए गए हैं। गर्मी में आगजनी का खतरा रहता है, लेकिन यहां इसे नजर अंदाज किया जा रहा है। यहां टीन शेड के नीचे या फिर व्यापारियों की गोदाम में हजारों क्विंटल अनाज रखा रहता है। खुला परिसर होने के काेरण दिन-रात में कई लोग आते जाते रहते हैं। जो बीड़ी, सिगरेट अादि भी पीते नजर अाते हैं। ऐसे संवेदनशील जगह होने के बाद भी आग से निपटने के उपाय न होना कहीं न कहीं प्रबंधन की लापरवाही उजागर कर रहा है। मंडी सचिव डीसी लड़िया ने कहा यहां फायर सेफ्टी की सुविधा नहीं है। इसके लिए मंडी समिति से चर्चा की गई है। जल्द ही कोई समाधान निकाला जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bina

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×