बीना

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Bina
  • मंडी में अनाज की नीलामी न हो पाने से नाराज किसानों ने गेट बंद किया
--Advertisement--

मंडी में अनाज की नीलामी न हो पाने से नाराज किसानों ने गेट बंद किया

भास्कर संवाददाता| खुरई/ बीना खुरई की नई कृषि उपज मंडी में शुक्रवार को बंपर आवक देर शाम तक हुई तुलाई के बाद बचे हुए...

Dainik Bhaskar

Apr 14, 2018, 03:30 AM IST
मंडी में अनाज की नीलामी न हो पाने से नाराज किसानों ने गेट बंद किया
भास्कर संवाददाता| खुरई/ बीना

खुरई की नई कृषि उपज मंडी में शुक्रवार को बंपर आवक देर शाम तक हुई तुलाई के बाद बचे हुए किसानों ने हंगाम कर दिया और नीलामी किए जाने की मांग करने लगे। वहीं बीना में मंडी प्रबंधन ने सभी वाहनों को मंडी के पीछे खेतों में खड़ा करा दिया। यहां पर किसान भरी दोपहरी में दिन भर कड़ी धूप से एवं छाया, पानी के लिए परेशान होते रहे। ग्राम करोंदा में पिपरासर समर्थन मूल्य खरीदी केंद्र पर परिवहन ठीक तरह से नहीं होने के कारण करीब 5 हजार क्विंटल से ज्यादा गेंहूू खुले आसमान के नीचे खेत में पड़ा है। तीन चार दिन से खराब हो रहे मौसम के कारण किसान सहित केंद्र संचालक चिंता में हैं।

खुरई में करीब 10 हजार क्विंटल मंडी में आया। अनाज की नीलामी शाम 7 बजे तक चली उसके बाद भी करीब 150 ट्रैक्टर-ट्रॉलियों पर लदे अनाज की नीलामी नहीं हो पाई। जिससे किसान नाराज हो गए और हंगामा कर दिया। किसानों ने रात 7.30 बजे मंडी का मेन गेट बंद कर दिया और नीलामी कराने की मांग करने लगे। लगातार छुट्टियां होने से किसान परेशान नजर आए। इसकी सूचना प्रशासन को मिलते ही मौके पर तहसीलदार केएन ओझा, एसडीओपी रवि भदौरिया पहुंच गए। किसानों ने उन्हें बताया कि मंडी में नीलामी के लिए अनाज से लदी ट्रॉलियां लगाई थीं। शाम 7 बजे तक नीलामी हुई लेकिन करीब 150 ट्रॉलियां छूट गईं। अब लगातार छुट्टी है ऐसे में कहां जाएं। मंडी में किसानों को नकद राशि भी कम दी जा रही है।

भास्कर संवाददाता| खुरई/ बीना

खुरई की नई कृषि उपज मंडी में शुक्रवार को बंपर आवक देर शाम तक हुई तुलाई के बाद बचे हुए किसानों ने हंगाम कर दिया और नीलामी किए जाने की मांग करने लगे। वहीं बीना में मंडी प्रबंधन ने सभी वाहनों को मंडी के पीछे खेतों में खड़ा करा दिया। यहां पर किसान भरी दोपहरी में दिन भर कड़ी धूप से एवं छाया, पानी के लिए परेशान होते रहे। ग्राम करोंदा में पिपरासर समर्थन मूल्य खरीदी केंद्र पर परिवहन ठीक तरह से नहीं होने के कारण करीब 5 हजार क्विंटल से ज्यादा गेंहूू खुले आसमान के नीचे खेत में पड़ा है। तीन चार दिन से खराब हो रहे मौसम के कारण किसान सहित केंद्र संचालक चिंता में हैं।

खुरई में करीब 10 हजार क्विंटल मंडी में आया। अनाज की नीलामी शाम 7 बजे तक चली उसके बाद भी करीब 150 ट्रैक्टर-ट्रॉलियों पर लदे अनाज की नीलामी नहीं हो पाई। जिससे किसान नाराज हो गए और हंगामा कर दिया। किसानों ने रात 7.30 बजे मंडी का मेन गेट बंद कर दिया और नीलामी कराने की मांग करने लगे। लगातार छुट्टियां होने से किसान परेशान नजर आए। इसकी सूचना प्रशासन को मिलते ही मौके पर तहसीलदार केएन ओझा, एसडीओपी रवि भदौरिया पहुंच गए। किसानों ने उन्हें बताया कि मंडी में नीलामी के लिए अनाज से लदी ट्रॉलियां लगाई थीं। शाम 7 बजे तक नीलामी हुई लेकिन करीब 150 ट्रॉलियां छूट गईं। अब लगातार छुट्टी है ऐसे में कहां जाएं। मंडी में किसानों को नकद राशि भी कम दी जा रही है।

खुरई में कृषि उपज मंडी में नीलामी न होने से नाराज किसानों को समझाइश देते एसडीओपी एवं तहसीलदार। इनसेट में किसानों ने नाराजगी जताते हुए गेट बंद किया।

X
मंडी में अनाज की नीलामी न हो पाने से नाराज किसानों ने गेट बंद किया
Click to listen..