• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bina
  • बीओआरएल अस्पताल में बना आधुिनक मेटरनिटी वार्ड
--Advertisement--

बीओआरएल अस्पताल में बना आधुिनक मेटरनिटी वार्ड

रिफाइनरी (बीओआरएल) द्वारा सिविल अस्पताल में करीब एक करोड़ रुपए की लागत से बनाए जा रहे दो मंजिला आधुनिक मेटरनिटी...

Danik Bhaskar | Apr 16, 2018, 03:40 AM IST
रिफाइनरी (बीओआरएल) द्वारा सिविल अस्पताल में करीब एक करोड़ रुपए की लागत से बनाए जा रहे दो मंजिला आधुनिक मेटरनिटी वार्ड का लाभ जल्द ही गर्भवति महिलाओं को मिलना शुरू हो जाएगा। बिल्डिंग का काम लगभग पूरा हो चुका है। बचे काम को पूर्ण करने के लिए ठेकेदार तैयारियों में जुटा है। बीओआरएल अधिकारी इसे तय समय सीमा में खोलने की तैयारी में हैं। इस मेटरनिटी वार्ड में गर्भवती महिलाओं को बेहतर आधुनिक सुविधाएं मिलेंगी।

वर्तमान में नए मेटरनिटी वार्ड की बिल्डिंग निर्माण कार्य पूरा हो चुका है और टाइल्स, रंग रोगन का काम जारी है। यह वार्ड मई में बनकर तैयार हो जाएगा। इसके तुरंत बाद रिफाइनरी वार्ड में पलंग लगाएगी। जिसमें करीब 15 पलंग के साथ 3 लेवर टेबल लगाई जाएंगी।

बच्चों की देखरेख के लिए न्यू बोर्न बेबी कार्नर भी खोला जाएगा। जिसमें नवजात शिशु की देखरेख होगी। वार्ड में स्टॉफ नर्स और डॉक्टर ड्यूटी रूम भी रहेगा। बीओआरएल के नवीन गहरवार ने बताया कि मई माह के अंत तक नए मेटरनिटी वार्ड में गर्भवति महिलाओं की डिलेवरी शुरू हो जाएं, इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं। ताकि आधुनिक उपकरण के साथ-साथ साफ स्वच्छ माहौल में प्रसव हो और महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिले। वर्तमान में लेवर रूम और डिलेवरी वार्ड वर्षों पुराने भवन में संचालित हो रहा है। पर्याप्त जगह न होने से गर्भवती महिलाओं को परेशानी होती है। यहां तक कि स्टाफ नर्स को रुकने के लिए अलग से रूम भी नहीं है। लेवर रूम के बाजू में ही स्टाफ नर्स का ड्यूटी रुम हैं। इससे स्टाफ नर्स को भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

अब एक साथ तीन

प्रसव की सुविधा होगी

वर्तमान में सिविल अस्पताल में एक लेबर टेबल है। इससे एक बार में सिर्फ एक प्रसव कराया जाता है। इस परेशानी को खत्म करने के लिए एक ही वार्ड में 3 लेबर टेबल लगाई जाएगी। स्टाफ तीनों टेबलों पर एक साथ 3 डिलेवरी करा सकता है। नया मेटरनिटी वार्ड बनने से पुराना लेबर और डिलेवरी रूम खाली हो जाएगा। इस वार्ड को पोस्ट नेटल वार्ड के रूप में विकसित किया जाएगा। ताकि ज्यादा डिलेवरी होने पर महिलाओं को इस वार्ड में भर्ती कर सके। सिविल अस्पताल प्रभारी डां. अारके जैन ने बताया कि मेटरनिटी वार्ड को बीओआरएल द्वारा बनाया जा रहा है।