• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Bina
  • ट्रांसपाेर्टर की जिद के आगे एसडीएम के आदेश पड़े फीके, केंद्र से नहीं उठाया चना और मसूर
--Advertisement--

ट्रांसपाेर्टर की जिद के आगे एसडीएम के आदेश पड़े फीके, केंद्र से नहीं उठाया चना और मसूर

मंडी में खुले 3 समर्थन मूल्य केंद्र परिसर में रखे चना, मसूर के परिवहन नहीं होने से पैदा हुई जटिल समस्या के साथ ही...

Dainik Bhaskar

May 07, 2018, 04:30 AM IST
ट्रांसपाेर्टर की जिद के आगे एसडीएम के आदेश पड़े फीके, केंद्र से नहीं उठाया चना और मसूर
मंडी में खुले 3 समर्थन मूल्य केंद्र परिसर में रखे चना, मसूर के परिवहन नहीं होने से पैदा हुई जटिल समस्या के साथ ही किसानों का प्रदर्शन और एसडीएम के सख्त आदेश के बाद भी ट्रांसपोर्टर ने चना, मसूर नहीं उठाया है। इससे समस्या ज्यों कि त्यों बनी हैं। भास्कर ने रविवार दोपहर 12 बजे मंडी जाकर केंद्र का जायजा लिया। किर्रावदा एवं रामपुर केंद्र परिसर में हजारों बोरी चना-मसूर ज्यों का त्यों रखा मिला। जिसे छल्ली बनाकर एक-दूसरी बोरी के ऊपर रखा गया था।

वहीं करीब 500 ट्रैक्टर-ट्राॅली सहित अन्य वाहन आड़े-तिरछे खड़े थे। किसान चना, मसूर की तुलाई के लिए समय काटते ट्रैक्टर-ट्राॅलियों के नीचे बैठे नजर आए तो कुछ किसान बोरियों पर सो रहे थे। सबसे ज्यादा खराब स्थिति किर्रावदा व रामपुर केंद्र की नजर आई। इधर धर्मकांटा के पास 3 ट्रक खड़े दिखे जिसमें अनाज लदा था। वहीं अन्य 3 ट्रक मंडी परिसर में खाली खड़े दिखे। जो किसी और व्यापारी के बताए जा रहे थे। किसानों ने बताया कि चना, मसूर को परिसर से नहीं उठाने के कारण जटिल समस्या बनी हुई है। अधिकारी आते हैं और नियम-कानून बता कर आश्वासन देकर चले जाते हैं। मगर उचित कार्रवाई कोई नहीं करता है। जबकि किसान शिकायतों के साथ प्रदर्शन कर चुके हैं, फिर भी कोई हल नहीं निकल रहा है। किसानों ने और भी अन्य समस्याएं बताई।

बतादे कि मंडी में खुले समर्थन मूल्य केंद्र धनौरा, रामपुर व किर्रावदा में चना, मसूर बेचने के लिए कई दिनों से परेशानी झेल रहे किसानों का आक्रोश शनिवार (5 मई) को फूट पड़ा था और वे सड़कों पर उतर आए थे। बीना-खुरई मार्ग मंडी के सामने चक्काजाम लगाया और फिर मंडी में प्रदर्शन किया था। जाम की सूचना पर एसडीएम डीपी द्विवेदी मौके पर पहुंचे और किसानों को समझाइश देकर व्यवस्थाएं दुरूस्त कराने की बात कह कर प्रदर्शन समाप्त कराया था।

बीना। आदेश के बाद भी ट्रांसपोर्टर द्वारा परिवहन न किए जाने से इस तरह से रखी हैं अनाज की बोरियां।

X
ट्रांसपाेर्टर की जिद के आगे एसडीएम के आदेश पड़े फीके, केंद्र से नहीं उठाया चना और मसूर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..