Hindi News »Madhya Pradesh »Bistan» बरुड़, सामरपाट और सेगांव में लगेगा पहला हाट

बरुड़, सामरपाट और सेगांव में लगेगा पहला हाट

भास्कर संवाददाता | भगवानपुरा आदिवासी संस्कृति के लोकपर्व भोंगर्या की शुरुआत शुक्रवार से होगी। पहले दिन टांडा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 23, 2018, 02:25 AM IST

बरुड़, सामरपाट और सेगांव में लगेगा पहला हाट
भास्कर संवाददाता | भगवानपुरा

आदिवासी संस्कृति के लोकपर्व भोंगर्या की शुरुआत शुक्रवार से होगी। पहले दिन टांडा बरुड़, सामरपाट व सेगांव में हाट लगेगा। होली के पहले एक सप्ताह तक लगने वाले हाट बाजारों में आदिवासी समुदाय के लोग नए परिधान में पहुंचेंगे।

युवाओं की टोली एक-दूसरे को गुलाल लगाएगी। दोपहर बाद निकलने वाले टोली में ढोल-मांदल के साथ बांसुरी की धुन पर समाजजन थिरकेंगे। बच्चे, युवा व महिलाएं झूलों का लुत्फ उठाएगी। होली पर्व को लेकर हाटों में जमकर खरीदारी भी होगी। गांव के मालसिंह भाई व हिरिया भाई ने कहा एक सप्ताह तक लगने वाले भोंगर्या हाटों का बच्चे, युवा, महिलाएं व बुजुर्ग आनंद उठाते हैं। पर्व को लेकर आदिवासी समुदाय ने अपने रिश्तेदारों को आमंत्रण देकर बुलाया है। होली की तैयारी को लेकर आदिवासी समुदाय के लोग हाट से पूजन सामग्री में हार-कंकण, मीठी सेव, चने, खजूर, नारियल, अगरबत्ती, जलेबी, भजिए आदि की खरीदारी करेंगे। आखरी भोंगर्या हाट 1 मार्च की शाम को होलिका दहन किया जाएगा। रात्रि जागरण के साथ भोंगर्या पर्व का समापन होगा। अगले दिन 2 मार्च को धुलेंडी का पर्व मनाया जाएगा।

मांदल की थाप पर झूमेंगे आदिवासी समाजजन, जमकर होगी खरीदारी, सप्ताहभर जमेगा पर्व का उल्लास

कहां-कब लगेंगे हाट

23 फरवरी टांडा बरुड़, सेगांव, सामरपाट

24 फरवरी भगवानपुरा, गढ़ी

25 फरवरी भग्यापुर, कामोद

26 फरवरी बिस्टान

27 फरवरी पीपलझोपा, मोहना, सामरपाट

28 फरवरी धूलकोट, सिरवेल

1 मार्च काबरी, खरगोन

...इधर,व्यापारियों ने तैयार की खाद्य सामग्री

बिस्टान | क्षेत्र के सामरपाट में भोंगर्या हाट को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है। मोहनपुरा पंचायत की सरपंच गंगाबाई सीताराम बड़ोले ने बताया लाइनिंग कर दुकानें लगाने की जगह तय कर दी है। व्यापारियों ने मीठी सेव, नमकीन, चने, अंगूर, खजूर आदि का स्टॉक कर हाट में पहुंचने की तैयारियां पूरी कर ली है। हार-कंकण व रंग-गुलाल बेचने वाले व्यापारियों में खासा उत्साह है। झूले सज गए है। जालमसिंह डावर, सुकलाल पटेल व जवानसिंह डावर ने बताया आसपास के गांवों के आदिवासी समाजजन लोक संस्कृति के इस पर्व का लुत्फ उठाएंगे। थाना पुलिस बल भी मौजूद रहेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bistan

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×