• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bistan News
  • संदिग्ध गतिविधि की सीसीटीवी पर लोकेशन मिलते ही बदमाशों तक पहुंचेगी मोबाइल वैन
--Advertisement--

संदिग्ध गतिविधि की सीसीटीवी पर लोकेशन मिलते ही बदमाशों तक पहुंचेगी मोबाइल वैन

शहर की सुरक्षा व संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए 120 सीसीटीवी कैमरे लग चुके हैं। पुलिस का दावा है कि हर संदिग्ध...

Danik Bhaskar | Mar 09, 2018, 02:30 AM IST
शहर की सुरक्षा व संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए 120 सीसीटीवी कैमरे लग चुके हैं। पुलिस का दावा है कि हर संदिग्ध गतिविधि की निगरानी होगी। बदमाशों की लोकेशन मिलते ही मोबाइल वैन उनकी धरपकड़ करेगी। खासकर महिला अपराधाें पर अंकुश लगेगा। गुरुवार कंट्रोल रूम में टेस्टिंग हुई। एसपी रेडियो भोपाल व झोनल अधिकारी नीतू ठाकुर ने फुटेज व तकनीकी जानकारियां ली। कंट्रोल रूम से लाइव देखा।

निरीक्षण में फुटेज की ब्राइटनेस कम करने व कुछ पाइंट्स सेट करने को कहा। शहर में संवेदनशील व अतिसंवेदनशील हिस्सों में निगरानी होगी। इंजीनियरों का दावा है हाई डेफिनेशन कैमरों से क्षेत्र में गिरी सुई भी आसानी से सीसीटीवी में दिखेगी। दोपहर 1.30 बजे झोनल अधिकारी ने 20 पाइंट्स की कंट्रोल रूम से लोकेशन देखी। अन्य कैमरों के भी एंगल देख उन्होंने कुछ पाइंट्स ठीक करने को कहा। शहर निकासी व आगमन के लिए जिला अस्पताल, नवग्रह मंदिर, बिस्टान नाका, भगतसिंह चौराहा व औरंगपुरा क्षेत्र के लिए पाइंट्स तय किए हैं। यहां से शहर में या बाहर से अपराध कर गुजरने वाले बदमाशों की लोकेशन पकड़ में आएगी। इस दौरान रेडियो प्रभारी एसआर अलावा, प्रभारी कंट्रोल रूम प्रधान आरक्षक राजेश खन्ना, प्रोजेक्टर मैनेजर गौरव दशोरे आदि मौजूद थे। यहां निरीक्षण के बाद वे धार रवाना हुई।

15 अतिसंवेदनशील व 5 बाहरी नाकों पर कैमरों ने काम करना शुरू किया

खरगोन | कंट्रोल रूम से सीसीटीवी कैमरों की मॉनीटरिंग करती झोनल अधिकारी नीतू ठाकुर।

50 फीसदी घट जाएंगे अपराध

नवग्रह पुल निर्माण के कारण एक-दो माह बाद कुछ पाइंट्स हटा लेने को कहा है। रेडियो एसपी ने एसपी डी कल्याण चक्रवर्ती से भी चर्चा की। उन्होंने बताया शहर में 50 फीसदी तक अपराधों में कमी आएगी। प्रदेश के संवेदनशील शहरों में 61 शहरों में कंट्रोल रूम सीसीटीवी लगाए गए हैं। कंट्रोल रूम के मैनेजर गौरव दशोरे ने बताया सारे कैमरे हाई डेफिनेशन व चार मैगा पिक्सल है। हर बारीक वस्तु दिखेगी। इसका रोजाना रिकाॅर्ड मेंटेन होगा। डॉटा सुरक्षित रखा जाएगा।

भास्कर संवाददाता | खरगोन

शहर की सुरक्षा व संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए 120 सीसीटीवी कैमरे लग चुके हैं। पुलिस का दावा है कि हर संदिग्ध गतिविधि की निगरानी होगी। बदमाशों की लोकेशन मिलते ही मोबाइल वैन उनकी धरपकड़ करेगी। खासकर महिला अपराधाें पर अंकुश लगेगा। गुरुवार कंट्रोल रूम में टेस्टिंग हुई। एसपी रेडियो भोपाल व झोनल अधिकारी नीतू ठाकुर ने फुटेज व तकनीकी जानकारियां ली। कंट्रोल रूम से लाइव देखा।

निरीक्षण में फुटेज की ब्राइटनेस कम करने व कुछ पाइंट्स सेट करने को कहा। शहर में संवेदनशील व अतिसंवेदनशील हिस्सों में निगरानी होगी। इंजीनियरों का दावा है हाई डेफिनेशन कैमरों से क्षेत्र में गिरी सुई भी आसानी से सीसीटीवी में दिखेगी। दोपहर 1.30 बजे झोनल अधिकारी ने 20 पाइंट्स की कंट्रोल रूम से लोकेशन देखी। अन्य कैमरों के भी एंगल देख उन्होंने कुछ पाइंट्स ठीक करने को कहा। शहर निकासी व आगमन के लिए जिला अस्पताल, नवग्रह मंदिर, बिस्टान नाका, भगतसिंह चौराहा व औरंगपुरा क्षेत्र के लिए पाइंट्स तय किए हैं। यहां से शहर में या बाहर से अपराध कर गुजरने वाले बदमाशों की लोकेशन पकड़ में आएगी। इस दौरान रेडियो प्रभारी एसआर अलावा, प्रभारी कंट्रोल रूम प्रधान आरक्षक राजेश खन्ना, प्रोजेक्टर मैनेजर गौरव दशोरे आदि मौजूद थे। यहां निरीक्षण के बाद वे धार रवाना हुई।

इन 20 पाइंट्स पर लगाए हैं 120 सीसीटीवी

पोस्ट आॅफिस चौराहा, झंडा चौक, तालाब चौक, बावड़ी बस स्टैंड, नवग्रह मंदिर, बिस्टान नाका, मोहन टॉकिज, हैदर मस्तान चौक, तलाई मस्जिद, छोटी मोहन टॉकिज, करबला, ईदगाह चौराहा, चावला बिल्डिंग, जैतापुर चौकी, गोल बिल्डिंग, प्रेसिडेंट होटल, कुंदा तट स्थित सिद्धि विनायक मंदिर, बड़ा पुल, औरंगपुरा, संजयनगर में सीसीटीवी लगाए हैं। एक पाइंट पर 5 या 6 कैमरे लगे हैं।

कंट्रोल रूम के प्रोजेक्टर पर हर कैमरे के हैं पाइंट्स

कंट्रोल में बड़े प्रोजेक्टर पर सारे सीसीटीवी की निगरानी होगी। यहां टीम के दो पुलिसकर्मियों की तीन शिफ्ट में ड्यूटी रहेगी। हर कैमरे के पाइंट्स प्राेजेक्टर पर दिखेंगे। यदि कोई घटना होती है या संदिग्ध नजर आते हैं तो कंट्रोल रूम से कनेक्ट मोबाइल वैन को सूचना जाएगी। वेन का एक दल तत्काल मौके पर पहुंचकर अपराधी की धरपकड़ करेगा।

अतिसंवेदनशील क्षेत्र में मिलेगी मदद

पुलिस के अनुसार सबसे अतिसंवेदनशील क्षेत्र तालाब चौक, मोहन टॉकीज, गोशाला मार्ग, संजय नगर आदि क्षेत्रों में सबसे ज्यादा घटनाएं होती हैं। यहां लगे सीसीटीवी कैमरों से लगातार रिकार्डिंग करेंगे। अब आसानी से असामाजिक तत्व पकड़ में आएंगे।

जल्द उद्घाटन होगा