• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bistan News
  • 366 वन कर्मचािरयांे की हड़ताल से तस्कर ले जा रहे इमारती लकड़ी
--Advertisement--

366 वन कर्मचािरयांे की हड़ताल से तस्कर ले जा रहे इमारती लकड़ी

असर : भगवानपुरा क्षेत्र में कटाई के फोटो वनकर्मियों ने शेयर किए, 19 सूत्री मांगांे को लेकर चाैथे दिन भी हड़ताल जारी ...

Danik Bhaskar | May 28, 2018, 02:15 AM IST
असर : भगवानपुरा क्षेत्र में कटाई के फोटो वनकर्मियों ने शेयर किए, 19 सूत्री मांगांे को लेकर चाैथे दिन भी हड़ताल जारी

भास्कर संवाददाता | खरगोन

वन रक्षकांे की हड़ताल होने से लकड़ी तस्कर जंगल में सक्रिय हो गए हैं। इमारती लकड़ियांे को काटा जा रहा है। चोरी हो रही लकड़ियांे की सोशल मीिडया पर वनकर्मी शेयर कर रहे हैं। 400 वनकर्मियांे के अमले के हड़ताल से वनांे की सुरक्षा भगवान भरोसे रह गई है।

वनकर्मी 24 मई से 19 सूत्रीय मांगांे को लेकर हड़ताल पर है। तस्कर सतपुड़ा के वनक्षेत्र मंे सागौन के पेड़ांे को काट रहे हैं। हड़ताल से हो रहे असर को प्रभावी दिखाने के लिए वनकर्मी उसे सोशल मीडिया में शेयर कर रहे हैं। इधर, वनकर्मियांे ने रविवार को चौथे दिन दोपहर सरकार की सद्बुिद्ध के लिए धरनास्थल पर भजन गाए। संघ के प्रांताध्यक्ष निर्मल तिवारी ने मोबाइल से संबोधित किया। इस मौके पर वन विस्तार अिधकारी मोनिका मंडलोई, धनोरा रंेजर अजय परसाई, बरुड़ रेंजर भगवानसिंह वर्मा उपस्थित थे। वनकर्मचारी संघ प्रचार प्रमुख अजय गुप्ता ने कहा शिवराज सरकार हमारी अनदेखी कर रही है। वनमंत्री कहते हैं सीएम मेरी नहीं सुन रहे हैं। 19 जायज मांगांे के आदेश जारी होने तक हड़ताल जारी रहेगी।

इन क्षेत्रांे मंे काटे जंगल किए शेयर- काबरी, तितरानिया, सिरवले और बिस्टान के जंगलांे मंे लकड़ी तस्कर सागौन काट रहे हैं। हड़ताल के बाद से बैलगाड़ी और ट्रैक्टरांे मंे लकड़ियां भरकर ले जा रहे हैं। वन विभाग के भोपाल स्तर के अिधकािरयांे ने पुिलस और होमगार्ड की सहायता मांगी है। लेकिन बल की कमी से यह उपलब्ध नहीं हो पाई।

लगी जंगल मंे आग, तेंदुआ भी दिखा- बिस्टान क्षेत्र के जंगल मंे शनिवार रात आग लगने की सूचना भी मिली। वहीं मोहना क्षेत्र में ग्रामीणांे को तेंदुआ दिखा लेकिन अमला नहीं होने के बाद विभाग के अफसरांे को इसे अनदेखा कर हड़ताल पर चले गए। गनीमत है दोबारा वन्यप्राणी की क्षेत्र में चहलपहल ग्रामीणों ने नहीं देखी है।

सागौन के पेड़ को ले जाते तस्कर।