--Advertisement--

पक्षी प्यासे न रहें इसलिए 7 साल से बांट रहे सकोरे

गर्मी आते ही जल स्तर कम हो जाता है। नदियों के साथ अन्य जल स्रोत भी सूखने लगते हैं। ऐसे में पक्षियों को पानी नहीं मिल...

Dainik Bhaskar

Mar 29, 2018, 02:00 AM IST
पक्षी प्यासे न रहें इसलिए 7 साल से बांट रहे सकोरे
गर्मी आते ही जल स्तर कम हो जाता है। नदियों के साथ अन्य जल स्रोत भी सूखने लगते हैं। ऐसे में पक्षियों को पानी नहीं मिल पाने से उनको खतरा बना रहता है। इनकी प्यास बुझाने के लिए बुधवार को ज्ञान सागर पब्लिक स्कूल में समारोह रखा। इसमें स्कूल के मार्तंड सोलंकी व नीता सोलंकी ने 150 सकोरे विद्यार्थियों को वितरित किए। विद्यार्थी इनको अपने घरों के अलावा आसपास के पेड़ों पर लटका कर रोज इनमें पानी भरेंगे ताकि पक्षी अपनी प्यास बुझा सके।

पक्षी प्रेम

सात साल पहले गर्मी में स्कूल जाते समय एक चिड़िया मृत मिली थी इसके बाद से सकोरे बांटने का काम शुरू किया

पक्षियों को मिलता रहता है पानी

विद्यार्थियों ने कहा कि इनको घरों व पेड़ों पर लटका कर नियमित पानी भरेंगे। पक्षियों को पूरी गर्मी पानी मिलता रहेगा। उनकी प्यास बुझने के साथ उनको खतरा भी नहीं रहेगा। मुस्कान, शिवानी, सिमरन, राधिका सहित अन्य विद्यार्थियों ने बताया कि यह बेहद नेक काम है। सभी को पक्षियों के लिए यह करना चाहिए। हमको भी सुकून मिलता है।

पक्षियों की प्यास बुझाने विद्यार्थियों को हर साल सकोरे वितरित किए जाते हैं।

सात साल से बांट रहे

श्री सोलंकी स्कूल स्टाफ के साथ सात सालों से स्वयं के रुपए से सकोरे बांटते हैं। इससे विद्यार्थियों में प्रकृति व पक्षियों के प्रति प्रेम बढ़ता है। श्री सोलंकी ने बताया कि सात साल पहले गर्मी में स्कूल जाते समय एक चिड़ियां मृत मिली थीं। पता चला था कि प्यास की वजह से उसकी मौत हुई थी। इसके बाद संकल्प लिया कि वह हर साल मिट्टी के सकोरे वितरित करेंगे। स्वयं भी इनको आसपास के पेड़ों पर लटकाएंगे। आठवें वर्ष भी बाकायदा संकल्प पूरा किया।

X
पक्षी प्यासे न रहें इसलिए 7 साल से बांट रहे सकोरे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..