• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Biyawara
  • फसल के भाव पर गुस्साए किसान, हंगामे के बीच लूटे 40 बोरी चने और 20 बोरी इमली
--Advertisement--

फसल के भाव पर गुस्साए किसान, हंगामे के बीच लूटे 40 बोरी चने और 20 बोरी इमली

Biyawara News - कृषि उपज मंडी में फसल के कम भाव को लेकर गुस्साए किसानों ने गुरुवार सुबह से लेकर शाम तक जमकर हंगामा किया। इस दौरान...

Dainik Bhaskar

Apr 06, 2018, 02:00 AM IST
फसल के भाव पर गुस्साए किसान, हंगामे के बीच लूटे 40 बोरी चने और 20 बोरी इमली
कृषि उपज मंडी में फसल के कम भाव को लेकर गुस्साए किसानों ने गुरुवार सुबह से लेकर शाम तक जमकर हंगामा किया। इस दौरान मंडी प्रशासन ने मैन गेट बंद कर दिया। इससे परिसर में वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। हंगामा के चलते व्यापारियों ने नीलामी बंद कर दी। इससे किसान और गुस्सा गए। हंगामा कर रहे किसानों ने 40 बोरी चना व 20 बोरी इमली की फसल लूट ली।

छह-सात व्यापारियों के गोदाम व तौल कांटों को नुकसान पहुंचाया गया। यह घटनाक्रम परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरों में भी कैद हो गया है। खबर लगने पर मौके पर पहुंची पुलिस के साथ एसडीएम व तहसीलदार ने शाम तक सुलह की कोशिश की। लेकिन बात नहीं बनी। इससे 8 हजार क्विंटल से ज्यादा अनाज की नीलामी नहीं होने से सैकड़ों ट्रैक्टर-ट्रॉली सड़क पर खड़े रहे। इस कारण शाम तक शहर में जाम लगा रहा।

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई चना व इमली लूट के साथ व्यापारियों के सामान की तोड़फोड़

समझाइश के बावजूद नहीं हो पाई सुलह, दिनभर बंद रही नीलामी

उपज के दाम कम मिलने पर किसानों ने कृषि उपज मंडी का गेट बंद कर नारेबाजी और तोड़फोड़ की।

इस तरह शुरू हुआ हंगामा

कृषि उपज मंडी में गुरुवार को बड़ी संख्या में किसान उपज बिक्री के लिए पहुंचे। इस दिन मंडी में 12 हजार क्विंटल विभिन्न उपज की आवक रही। लेकिन सुबह मंडी में उपज खरीदी कारोबार शुरू होने के आधे घंटे बाद 11. 45 बजे गेहूं के भाव को लेकर किसान गुस्सा गए। किसानों के अनुसार उन्हें गेहूं की फसल का भाव कम दिया जा रहा था। जब हंगामा शुरू हुआ तो व्यापारियों ने उपज खरीदी बंद कर दी। नीलामी रुकने से आक्रोशित किसानों ने तोड़फोड़ शुरू कर दी।

फसल लूटी, गोदाम व तौल कांटों को पहुंचाया नुकसान

मंडी से मिली जानकारी के अनुसार गेट बंद करने के कुछ समय बाद गुस्साए किसानों ने पथराव शुरू कर दिया। इस बीच छह-सात व्यापारियों के गोदाम व तौल कांटों को भी तोड़फोड़ कर नुकसान पहुंचाया गया। व्यापारी लखन यादव के गोदाम से गल्ले की बोरियां भी लूट ली गईं। व्यापारी नरेंद्र शेखर, नंदकिशोर मंगल, नवीन बादशाह सहित कुछ अन्य व्यापारियों के गोदाम व करीब 22 तौल कांटों को नुकसान पहुंचाया गया। जबकि 40 बोरी चना व 20 बोरी इमली की बोरियां लूटने की जानकारी लगी है। किसानों का यह हंगामा परिसर में लगे सीसीटीवी में भी कैद हो गया।

बमुश्किल खुलवाया मंडी गेट, नहीं हो पाई नीलामी शुरू

तहसीलदार अलका सिंह ने नाराज किसानों को समझाइश दी। उनकी समझाइश के चलते कुछ घंटे बाद किसानों ने मंडी गेट खोल दिया। इसके बाद परिसर में खड़े वाहनों की निकासी शुरू हो पाई। हालांकि थोड़ी देर बाद फिर यह गेट प्रदर्शनकारियों ने बंद करा दिया। बाद में एसडीएम अंजली शाह भी मौके पर पंहुची। उन्होंने किसान, व्यापारियों व मंडी प्रशासन से बात की। लेकिन कोई हल नहीं निकल पाया। इसके चलते शाम तक भी मंडी में वापस खरीदी शुरू नहीं हो पाई। इधर मंडी प्रशासन ने हंगामा कर रहे किसानों के खिलाफ थाना में शिकायत की है। वहीं कांग्रेस नेताओं ने किसानों को सही भाव दिलाने के लिए धरना भी दिया।

बंद किया मंडी का मेन गेट

गुस्साए किसानों ने मंडी का मेन गेट बंद कर दिया। इस बीच परिसर में वाहनों की लंबी कतार लग गई। जाम की वजह से फल-सब्जी मंडी आने-जाने वाले लोग भी प्रभावित हो गए। लेकिन किसानों का हंगामा लगातार बढ़ता जा रहा था। सिटी थाना पुलिस सहित तहसीलदार अलका सिंह मंडी पहुंची।

X
फसल के भाव पर गुस्साए किसान, हंगामे के बीच लूटे 40 बोरी चने और 20 बोरी इमली
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..