• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Biyawara
  • चार दिनों बाद सप्लाई शुरू करने जोड़ी लाइन तो प्रेशर से फूटे पाइप, झरने के रूप में बहा पानी
--Advertisement--

चार दिनों बाद सप्लाई शुरू करने जोड़ी लाइन तो प्रेशर से फूटे पाइप, झरने के रूप में बहा पानी

Dainik Bhaskar

Mar 30, 2018, 02:25 AM IST

Biyawara News - शहर में नदी से टंकियों के लिए पेयजल सप्लाई करने वाले संपवेल पर लगा हाई टेंशन लाइन ट्रांसफार्मर तीन दिन पहले जल गया...

चार दिनों बाद सप्लाई शुरू करने जोड़ी लाइन तो प्रेशर से फूटे पाइप, झरने के रूप में बहा पानी
शहर में नदी से टंकियों के लिए पेयजल सप्लाई करने वाले संपवेल पर लगा हाई टेंशन लाइन ट्रांसफार्मर तीन दिन पहले जल गया था। इसके कारण शहर की पेयजल टंकियों में पानी स्टोर न होने की वजह से शहर के 4 हजार नल कनेक्शनों में पेयजल नहीं पहुंचने से 21 हजार से ज्यादा लोग चौथे दिन भी परेशान हुए। पानी के लिए दिनभर हाहाकार मचा रहा। नगर पालिका ने ट्रांसफार्मर सुधराने का काम शुरू कर दिया है। इसी बीच मोहनपुरा जल आवर्धन योजना से शहर की पेयजल टंकियों को कनेक्ट कर पानी सप्लाई करने नपा गुरुवार को सप्लाई शुरू की, लेकिन इसी बीच प्रेशर के चलते पाइप और रबर फट गए। रातभर पानी सड़कों पर झरने के रूप में बहता रहा। सुबह जब नपा कर्मचारियों को इसकी जानकारी लगी तो आनन-फानन में सप्लाई बंद कर रिपेयरिंग का काम शुरू किया है।


4 हजार नल कनेक्शनों में पानी नहीं पहुंचने से 21 हजार से ज्यादा लोग चौथे दिन भी परेशान हुए

घरों में नहीं पहुंचा, रातभर सड़कों पर झरने के रूप में बहता रहा पानी

चार दिन तक कनेक्शन में लगे, पहले ही दिन फेल

नपा सब इंजीनियर के मुताबिक ट्रांसफार्मर को ठीक करने प्रयास किए, इसी बीच नई जल आवर्धन योजना से टंकियों को कनेक्ट कर शहर में सप्लाई शुरू करना चाही। लेकिन पहले दिन ही बायपास रोड पर डॉ गुंजन त्रिपाठी के फार्महाउस के यहांं लाइन फ्रेशर से फट गई। इसके बाद पुराने फिल्टर प्लांट के यहा भी फ्रेशर के चलते रबर फट गया, इससे रात भर पानी बहता रहा, लेकिन टंकियों में पानी नहीं पहुंचा। सुबह दोनों जगह झरने का आकर लेने वाली पाइप लाइन की सूचना लोगों ने नपा कर्मचारियों को दी, इसके बाद सप्लाई बंद की।

प्राइवेट टैंकरों का ले रहे सहारा, वे भी नहीं मिल रहे

शहर में पेयजल के लिए पिछले चार दिनों से लोग परेशान हो रहे हैं। मजबूरी में प्राइवेट टैंकर का सहारा लेकर घरों में पानी डलवा रहे है। शहर के इंग्ले कॉलोनी निवासी कन्हैयालाल दांगी, मनोज पंवार, रामलीला कॉलोनी के रामप्रसाद मेवाड़े, राजेंद्र सक्सेना, भंवर कॉलोनी के बाबूलाल फौजी ने बताया कि चार दिन से पानी रही आ रहा था, गुरुवार को उम्मीद थी, लेकिन सप्लाई नहीं हुई। अब टैंकर भी बार-बार मंगाने पर नहीं मिल रहे हैं।

बायपास और पुराने फिल्टर प्लांट के यहा फूटी लाइन से बहता पानी।

इधर.... ब्यावरा में राहत

जोड़ी फूटी पाइप लाइन, चौथे दिन मिला पानी

ब्यावरा| नपा के कर्मचारियों की लापरवाही से जूना ब्यावरा आजाद मार्ग मेंं दो दिन पहले फूटी पुरानी पाइप लाइन समय पर नहीं जुड़ने पर परेशान लोगों ने नपा अध्यक्ष से शिकायत की। इसके बाद गुरुवार को पाइप लाइन जोड़ दी गई। शहर के कुछ क्षेत्र के लोगों को नलों से चौथे दिन पानी मिल सका। 70 प्रतिशत लोग पानी के लिए परेशान रहे।

ऐसे फूटी थी पाइप लाइन: शहरी में साढ़े 9 करोड़ की शहरी पेयजल योजना के लिए एजेंसी द्वारा हर गली मोहल्लों में नई पाइप लाइन डाली है। एजेंसी कर्मचारियों के काम करने के बीच आजाद मार्ग व इससे आगे पुरानी पाइप लाइन दो दिन पहले फूट गई थी। यह समय पर ठीक नहीं की गई। लाेगों ने नपा से शिकायत की थी। लेकिन कर्मचारियों द्वारा पुरानी पाइप लाइन का सामान नहीं होने का बहाना बनाकर बेगार टाली जा रही थी।

ठीक करा दी पाइप लाइन


X
चार दिनों बाद सप्लाई शुरू करने जोड़ी लाइन तो प्रेशर से फूटे पाइप, झरने के रूप में बहा पानी
Astrology

Recommended

Click to listen..