• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Biyawara
  • भगवान श्री राम के प्रति हनुमान जी की भक्ति अतुलनीय है
--Advertisement--

भगवान श्री राम के प्रति हनुमान जी की भक्ति अतुलनीय है

ब्यावरा|भगवान हनुमान बल, बुद्धि व भक्ति में श्रेष्ठ है। उनके जैसा भक्त सृष्टि में नहीं हो सकता। भगवान श्रीराम के...

Danik Bhaskar | Apr 03, 2018, 02:25 AM IST
ब्यावरा|भगवान हनुमान बल, बुद्धि व भक्ति में श्रेष्ठ है। उनके जैसा भक्त सृष्टि में नहीं हो सकता। भगवान श्रीराम के प्रति उनकी भक्ति अतुलनीय है। यह बात अंजनीलाल मंदिर धाम पर भगवान हनुमान जन्मोत्सव के तहत रखी गई श्री हनुमंत व्याख्यान माला में आमंत्रित विद्वानों ने कही। प्रवक्ता पं. कपिल कुमार जी ने बताया कि भगवान हनुमान जी का अवतरण रामकाज के लिए हुआ। उनके जैसा पराक्रमी भी कोई नहीं है। श्रीहनुमान की आहट मात्र से ही लंका में अफरा तफरी मच गई थी। लक्ष्मण जी की मूर्छा दूर करने के लिए वह स्वयं संजीवनी बूटी का समूचा पहाड़ उठा लाए थे। इनके अलावा व्याख्यान माला में विद्वान डा. ब्रजेश दीक्षित ने बताया कि असंभव कार्य को जो संभव कर दे, वह हनुमान जी हैं। उन्होंने अपनी पूंछ से लंका जला डाली थी। वह बल, बुद्धि व भक्ति के दाता हैं। हमारे पाठ्यक्रमों में उनके साहस, भगवान श्रीराम के प्रति उनकी भक्ति को बताना चाहिए। व्याख्यान माला में जनप्रतिनिधि, प्रबुद्धजन, सामाजिक व धार्मिक मंचों के सदस्यों सहित कई श्रद्धालु मौजूद थे।