--Advertisement--

जहां हनुमानगढ़ी मंदिर है वहां बनने वाला था किला

हनुमान जयंती का उत्सव शनिवार को मनाया जाएगा। इसे लेकर श्रद्धालुओं में खासा उत्साह है। मुख्य समारोह शहर की...

Dainik Bhaskar

Mar 31, 2018, 03:35 AM IST
जहां हनुमानगढ़ी मंदिर है वहां बनने वाला था किला
हनुमान जयंती का उत्सव शनिवार को मनाया जाएगा। इसे लेकर श्रद्धालुओं में खासा उत्साह है। मुख्य समारोह शहर की ब्यावरा सीमा की पहाड़ी पर स्थित श्री बड़ी हनुमानगढ़ी मंदिर में होगा। सुबह पूजा, अभिषेक के बाद दोपहर 12 बजे मंदिर से चल समारोह शुरू होगा। मंदिर में हनुमान जी की दक्षिणमुखी प्रतिमा श्रद्धालुओं की आस्था का विशेष केंद्र है। मंदिर 300 साल पुराना है और जनश्रुतियों के मुताबिक स्थानीय राजवंश ने पहले इसी पहाड़ी पर किला बनाने का निर्णय लिया था, लेकिन बाद में सपने में अलौकिक संकेत मिलने पर सामने की पहाड़ी पर किला बनाया गया। मंदिर की प्रतिमा पूर्व में एक खुले चबूतरे स्थापित थी, बाद में वर्तमान मंदिर का स्वरूप दिया गया। यह मंदिर धार्मिक नजरिए से तो महत्वपूर्ण है ही प्राकृतिक दृष्टिकोण से भी ख़ास मुकाम रखता है। शहरी क्षेत्र में तेज और ठंडी हवाओं का प्रवाह सबसे ज्यादा हनुमानगढ़ी की पहाड़ी पर ही है। गर्मी के दिनों में यहां लोग यहां भगवान के दर्शन के साथ-साथ ठंडी हवा का आनंद लेने भी आते हैं।

100 से ज्यादा मंदिर हैं हनुमान जी के शहर में : शहर में हनुमान जी के 100 से ज्यादा मंदिर हैं। खास बात यह है कि इनमें से ज्यादातर मंदिर पुराने रियासती दौर के हैं। सभी मंदिरों की अलग-अलग कहानियां और अलग-अलग विशेषताएं हैं।

हनुमान जयंती आज

प्राचीन श्री बड़ी हनुमानगढ़ी मंदिर का धार्मिक के साथ प्राकृतिक महत्व भी है

श्री बड़ी हनुमानगढ़ी मंदिर सदियों से श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र है।

इस बार जुलूस के रूट में होगा आंशिक परिवर्तन

हनुमान जयंती चल समारोह के रूट में इस बार आंशिक परिवर्तन किया गया है। इस बार चल समारोह डबलिया चौराहा से सीधे सामने फूलबाग चौराहे की ओर बढ़ेगा। पिछले सालों की तरह अब चल समारोह झाली आश्रम तिराहा और सिंदूरी मैरिज हॉल वाली सड़क पर नहीं जाएगा। मंदिर समिति के मुताबिक इससे चल समारोह में लगभग 1 घंटे का समय बचाया जा सकेगा, ताकि चल समारोह मंदिर में समय पर वापस जा सके और शाम की पूजा, महाआरती आदि की व्यवस्थाएं और ज्यादा बेहतर बनाई जा सकें।

X
जहां हनुमानगढ़ी मंदिर है वहां बनने वाला था किला
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..