ब्यावरा

--Advertisement--

शहरों में गूंजने लगे स्वप्ना के मधुर गीत व भजन

ब्यावरा| कला किसी की मोहताज नहीं होती। मजबूत इरादों के साथ की गई मेहनत से निश्चित सफलता मिलती है। हम यहां बात कर रहे...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:25 AM IST
ब्यावरा| कला किसी की मोहताज नहीं होती। मजबूत इरादों के साथ की गई मेहनत से निश्चित सफलता मिलती है। हम यहां बात कर रहे हेंै सिविल अस्पताल में लैब टेक्नीशियन व गुना बायपास तिराहा परम सिटी कालोनी निवासी स्वप्ना पति जितेंद्र शिवहरे की। इनके गाए भजन व गीत जिले के साथ देश प्रदेश के कई शहरों में गूंजने लगे हैं। दो दिन पहले भोपाल में आयोजित मन्ना डे नाइट में अपनी मधुर गायकी की छाप छोड़ी। जहां अपने लिए जिए तो क्या जिए, तुम जो आओ आदि मधुर गीत लोगों को बेहद पसंद पाए।

बचपन से गायन का शौक : स्वप्ना राय शिवहरे के अनुसार बचपन से गायन का शौक रहा। अशोकनगर पिपरई मूल निवासी पिता हरिबाबू राय से प्रेरणा मिली। घर में गाने गुन गुनाया करती थी। वर्ष 2006 में टीवी चैनल प्रोग्राम इंडियन आइडियल में भी आडिशन दे चुकी। शादी के बाद पति ने हौसला बढ़ाया। कई स्टेज प्रोग्राम में गायन किया। पिछले साल एक आध्यात्मिक चैनल पर भजन गायन की रिकार्डिंग भी रिलीज हुई थी। देश भर में स्वप्ना के भजन गूंजे। इसके अलावा कई शहरों में गायन कर चुकी हैं। शहर के साई धाम मंदिर परिसर में भी इनके भजन गूंजते आ रहे हेंै। बस अब किसी बड़े बैनर की फिल्म में गायन की तमन्ना है।

X
Click to listen..