• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Biyawara
  • 440 तापमान में बैंक के बाहर कैश के लिए 6-6 घंटे धूप में खड़े हो रहे ग्राहक
--Advertisement--

440 तापमान में बैंक के बाहर कैश के लिए 6-6 घंटे धूप में खड़े हो रहे ग्राहक

भास्कर संवाददाता | छापीहेड़ा नगर की एकमात्र राष्ट्रीयकरण बैंक ऑफ इंडिया में एक माह से भीषण गर्मी में केश के अभाव...

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 02:25 AM IST
440 तापमान में बैंक के बाहर कैश के लिए 6-6 घंटे धूप में खड़े हो रहे ग्राहक
भास्कर संवाददाता | छापीहेड़ा

नगर की एकमात्र राष्ट्रीयकरण बैंक ऑफ इंडिया में एक माह से भीषण गर्मी में केश के अभाव में आम नागरिक परेशान हो रहे हैं। मार्च के बाद से ही बैंकों में केश की कमी से व्यापारी, किसान, बुजुर्ग, महिलाएं, पेंशनधारी, प्रधानमंत्री आवास हितग्राही आदि बैंक उपभोक्ता दिनभर भीषण गर्मी में परेशान हो रहे हैं। बैंक के अंदर सहित बाहर ग्राहकों क भीड़ लगी रहती है। जिन्हें अपना नंबर लगाने के लिए धक्का-मुक्की करना पड़ रही है। जिससे ग्राहकों में विवाद की स्थिति भी बन रही हैं। बैंक के बाहर बैठने व खड़े होने के लिए छाया नहीं होने से भीषण धूप में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है। वहीं बैंक के अंदर भी एसी नहीं चलने से लोगों को खासी परेशानी उठाना पड़ रही है। कई ग्राहक चक्कर खाकर गिर भी जाते हैं। इस प्रकार प्रचंड गर्मी में लोग आधे घंटे भी खड़े नहीं हो पाते हैं, ऐसे में लोग अपने ही रुपए निकालने के लिए बैंक के बाहर 44-45 डिग्री तापमान के बीच 6 घंटे खड़े हाेना पड़ रहा है। इसके बाद भी नंबर आने तक केश खत्म होने की बात कहकर उन्हें चलता कर दिया जाता है। जिससे घंटों परेशान होने के बाद भी घर खाली हाथ लौटना पड़ता है।

बन रहे नोट बंदी जैसे हालात : ग्राहकों का कहना है कि पिछले साल की गई नोट बंदी के बाद से बैंक और एटीएम में केश की किल्लत सामान्य होती नजर नहीं आ रही है। बीच में स्थिति कुछ सुधरी थी, लेकिन अब फिर नोट बंदी जैसे हालात बन गए हैं। ग्राहक कालीबाई पीपाखेड़ी, गीताबाई ब्यावरा कला, रोडू लाल प्रजापत, संपत बाई, गिरिराज गुप्ता आदि ने बताया कि बैंक न तो रुपए मिल रहे हैं न ही पासबुक में एंट्री की जा रही है। वहीं एटीएम के हाल बेहद खराब हैं। रुपए डलने के एक घंटे बाद ही केश खत्म हो जाता है। इस प्रकार बुजुर्ग व महिलाएं छोटे-छोटे बच्चों के साथ बैंक में परेशान हो रही हैं।

राष्ट्रीयकृत एक मात्र बैंक होने से हजाराेें उपभोक्ता हैं परेशान

नगर में एसबीआई की शाखा खोलने की मांग उठाई लोगों ने

केश के लिए बैंक के बाहर धूप में खड़े बैंक उपभोक्ता।

खुले एसबीआई की शाखा

नगर में राष्ट्रीयकृत बैंक एक मात्र बैंक आॅफ इंडिया है। इस कारण इस बैंक में ग्राहकों की संख्या भी हजारों में है। इस कारण भुगतान में परेशानी होती है। इस समस्या को देखते हुए नागरिक नगर में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा खुलवाने की मांग करते आ रहे हैं। लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

केश की कमी है


X
440 तापमान में बैंक के बाहर कैश के लिए 6-6 घंटे धूप में खड़े हो रहे ग्राहक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..