ब्यावरा

--Advertisement--

ब्यावरा| शहर से 12 कि

खेलते समय 80 फीट गहरे कुएं में गिरी 7 साल की संध्या, बहन के शोर मचाने पर दादा रस्सी से कुएं में उतरे, फिर लोगों ने...

Dainik Bhaskar

Apr 24, 2018, 05:15 PM IST
खेलते समय 80 फीट गहरे कुएं में गिरी 7 साल की संध्या, बहन के शोर मचाने पर दादा रस्सी से कुएं में उतरे, फिर लोगों ने खटिया डालकर बाहर निकाला


ब्यावरा| शहर से 12 किमी दूर बरखेड़ा गांव में बने एक पक्के कुएं की मुंडेर पर झांक रही 7 साल की संध्या पुत्री ग्यारसी राम वर्मा अचानक 80 फीट गहरे कुएं में जा गिरी। इससे उसके सिर में चोट आईं। पास में पानी भर रही बड़ी बहिन नीलम की चीख पुकार सुन मौके पर पहुंचे दादा रोडजी पानी भरने की रस्सी के सहारे ही कुएं में उतर गए। उन्होंने पानी में डूब रही संध्या को अपने हाथों में उठाया और बाहर से मदद आने तक किसी तरह उसे पानी से दूर रखा।

15 मिनट में हुआ सारा घटनाक्रम

रोडजी ने बताया कि उनकी छोटी पोती संध्या अपनी बहिन नीलम के साथ सवा चार बजे कुएं पर पानी भरने गई थी। जब नीलम पानी खींच रही थी, उसी दौरान पास खेल रही संध्या कुएं में झांकने लगी और पैर फिसलने से उसमें जा गिरी। रोडजी ने कहा कि नीलम की चीखें सुनकर वह कुएं के पास पहुंचे और पानी निकालने की पतली रस्सी से उसमें उतर गए। 80 फीट गहराई में जैसे तैसे उतरे रोडजी के हाथों में गहरे छाले हो गए। लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। पानी में डूब रही संध्या को उठा कर वह किसी तरह कुएं में किनारे के पर खड़े रहे। इसी बीच आसपास से जुटे लोगों ने रस्सी से एक खाट बांध कर नीचे उतारी। जिस पर संध्या को लेटा कर बाहर निकाला गया।

बच्ची को सिर में लगी चोट, राजगढ़ रेफर

न एंबुलेंस पहुंची, न निजी अस्पताल ने किया इलाज: घायल बच्ची को परिचित ग्रामीण एक बाइक पर लेकर एक निजी अस्पताल में गए। लेकिन ग्रामीणों के पास रुपए न होने से अस्पताल संचालक ने इलाज नहीं किया। इसके बाद बालिका को सिविल अस्पताल लाया गया। जहां उसके प्रारंभिक उपचार के बाद राजगढ़ रेफर किया गया। दो घंटे तक बालिका को राजगढ़ लाने के लिए 108 एंबुलेंस का इंतजार करना पड़ा।


X
Click to listen..