--Advertisement--

राम को पाना है तो खुद को बदलना होगा

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर अयोध्या धाम (स्टेडियम) बुरहानपुर में श्री राम कथा के छठे दिन साध्वी ऋतंभरा ने...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:20 AM IST
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

अयोध्या धाम (स्टेडियम) बुरहानपुर में श्री राम कथा के छठे दिन साध्वी ऋतंभरा ने दशरथजी के देवलोकगमन के बाद व्याकुल ईश्वाकु कुल की व्यथा को वर्णित किया। इसमें भरत और कौशल्या, सुमित्रा, कैकयी की करुण दषा को वाणी से श्रवण कराते हुए श्रोताओं को व्याकुल और आंखों को अश्रुधारा के प्रवाह से पूर्ण करने पर मजबूर कर दिया।

साध्वी ऋतंभरा ने कहा- राम को पाना है तो खुद को बदलना होगा। अहंकार, दुष्प्रवृत्तियों, कदाचार, अत्याचार, दुराचार जैसे दुर्गुणों से दूर होना ही सत्संग का सच्चा प्रभाव है। जैसे आईना झूठ नहीं बोलता और परछाई साथ नहीं छोड़ती है। उसी तरह कुकर्म कभी छिप नहीं सकते और अच्छाई दबाई नहीं जा सकती। सज्जनता और साधना भारतीय स्वभाव, संस्कृति में रचती-बसती है।

साध्वी ऋतंभरा ने कहा- श्रीराम-भरत मिलन को प्राण और देह का मिलन, पुष्प और सुमन का मिलन है। अहंकार को त्यागिए। जिसके मन में जो भाव और विचार होता है। उसे वैसा ही धारण करना पड़ता है। इसीलिए कहा जाता है जैसी चाल वैसी राह, जैसी भावना होती है मूरत वैसी ही दिखाई देती है। जीवन में खोना-पाना, मिलना-बिछुड़ना, दुःख-सुख, आना-जाना, अनुकुल-प्रतिकूल की परिस्थितियां सबके लिए और हम सब पर लागू है। कई बार जीवन में सुख की अनुभूति तो होती है परंतु सुख का संतोष ना होने के कारण या अनुभूति को आनंद स्वरूप में अनुभूत न कर पाने से बड़ा पद भी व्यक्ति को दुखी कर देता है। भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने चर्चा में कहा प्रदेश में चौथी बार भी भाजपा की सरकार बनेगी, क्योंकि सरकार ने हर क्षेत्र में विकास किया है।

राष्ट्रीय महामंत्री विजयवर्गीय ने लिया आशीर्वाद, गाया भजन

कार्यक्रम का संचालन साध्वी सत्यप्रिया ने किया। शुरुआत में मुख्य यजमान ज्ञानेश्वर पाटील ने प|ी के साथ साध्वी ऋतंभरा के चरणों में नमन कर आशीर्वाद लिया। शाम करीब 6 बजे भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय कथा स्थल पर पहुंचे। उन्होंने साध्वी ऋतंभरा का आशीर्वाद लिया। इस दौरान भजन की प्रस्तुति दी। इस दौरान मंत्री अर्चना चिटनीस, हर्षवर्धनसिंह चौहान सहित हजारों श्रद्धालु मौजूद थे।

अयोध्या धाम स्टेडियम पर बड़ी संख्या में पहुंच रहे भक्त, छठे दिन साध्वी ऋतंभरा ने कहा-

कैलाश विजयवर्गीय ने साध्वी ऋतंभरा से आशीर्वाद लिया।