• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Burhanpur News
  • योगिता के यहां काम करने वाली किशोरी के घर की एक बार फिर हुई तलाशी
--Advertisement--

योगिता के यहां काम करने वाली किशोरी के घर की एक बार फिर हुई तलाशी

पुलिस ने दो बार की सर्चिंग इस दौरान कोई सुराग हाथ नहीं लगा, अब कॉल डिटेल और फिंगर प्रिंट का इंतजार भास्कर...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:20 AM IST
पुलिस ने दो बार की सर्चिंग इस दौरान कोई सुराग हाथ नहीं लगा, अब कॉल डिटेल और फिंगर प्रिंट का इंतजार

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

नेपानगर पालिका के लिपिक मोतीलाल साहू के घर 28 फरवरी को दिनदहाड़े हुई लूट और उनकी प|ी योगिता साहू की हत्या के मामले में चौथे दिन भी पुलिस के साथ खाली रहे। जांच के दौरान पुलिस टीम अब तक दो से तीन मर्तबा उनके घर काम करने वाली किशोरी (16) व उसके परिजन से पूछताछ कर चुकी है।

किशोरी ने बताया कि पुलिस हमसे पूछ रही है कि बताओं सच क्या है। हम क्या बताए हम तो काम करने जाते थे। घटना वाले दिन भी शाम करीब 4 बजे मैं योगिता साहू के घर पहुंची। देखा तो वह खून से लथपथ पड़ी हुई थी। बच्चा रो रहा था। पास ही एक टेबल पर बहू दीपिका बंधी हुई पड़ी थी। मैंने राजीव पाटील की प|ी को उनके घर जाकर यह बात बताई। चूंकि मेरी मां श्री पाटील के यहां काम करती है। मेरे बताने के बाद मेरी मां, श्री पाटील की प|ी व अन्य लोग घर में घुसे और दीपिका के बंधे हुए हाथ पैर खोले। किशोरी ने बताया कि इससे ज्यादा मुझे कुछ भी नहीं पता। आपसी में सास-बहू व पति-प|ी का क्या मैटर था हम नहीं जानते। पुलिस ने हमारे घर की दो-तीन बार तलाशी ले चुकी है। घर का पूरा सामान बिखेर दिया।

योगिता हत्याकांड में परिजन के मोबाइल की कॉल डिटेल और मौका-ए-वारदात से मिले फिंगर प्रिंट से अहम सुराग हाथ लगने की उम्मीद है। होली की छुट्‌टी होने के कारण कॉल डिटेल और फिंगर प्रिंट रिपोर्ट नहीं आई पाई। एसडीओपी करणसिंह रावत ने बताया मामला बहुत ही गंभीर है। प्रत्येक बिंदुओं पर जांच कर रहे हैं। किसी को बेवजह नहीं फंसाया जा सकता। कुछ साक्ष्य मिले है जिनकी जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।