• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Burhanpur
  • परीक्षार्थियों से उतरवाए जूते चप्पल, मोजे आैर पर्स, फिर भी पकड़ाए दो नकलची
--Advertisement--

परीक्षार्थियों से उतरवाए जूते-चप्पल, मोजे आैर पर्स, फिर भी पकड़ाए दो नकलची

Burhanpur News - भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर राज्य सेवा आयोग की तरह माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड ने विशिष्ट हिंदी के पर्चे में...

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 02:25 AM IST
परीक्षार्थियों से उतरवाए जूते-चप्पल, मोजे आैर पर्स, फिर भी पकड़ाए दो नकलची
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

राज्य सेवा आयोग की तरह माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड ने विशिष्ट हिंदी के पर्चे में कक्षा 12वीं के परीक्षार्थियों से जूते, चप्पल, मोजे उतरवा लिए। इसके बाद भी दापोरा स्वाध्यायी केंद्र पर जिला स्तरीय स्क्वॉड के हाथों दो छात्र नकल करते हुए पकड़ाए।

गुरुवार सुबह 9 बजे से जिलेभर के 36 केंद्रों पर एक साथ परीक्षा शुरू हुई। कक्षाओं में प्रवेश से पहले सख्ती से परीक्षार्थियों की जांच की गई। जूते, चप्पल, सेंडिल उतरवाकर कंपास और पर्स सहित अन्य अनावश्यक वस्तुएं केंद्र के बाहर रखवा ली गई। कुछ केंद्रों के मुख्य गेट के पास परीक्षार्थियों को नंगे पैर जाना पड़ा। ऐसे में ग्राउंड के नुकीले कंकरों पैरों में चुभने से विद्यार्थी परेशान हुए। 15 मिनट लेट आए परीक्षार्थियों को भी प्रवेश करने दिया गया। बोर्ड के नए निर्देश के बाद लेट आने वाला एक भी विद्यार्थी घर नहीं लौटा। परीक्षार्थियों ने दोपहर 12 बजे तक विशिष्ट हिंदी का पर्चा दिया, जो कि कुल 100 अंक का एक समान प्रकाशित किया हुआ था। परीक्षा खत्म होने पर 5 हजार परीक्षार्थियों के चेहरे खिले हुए नजर आए।

संवेदनशील धूलकोट केंद्र में सिर्फ 99 छात्र ही परीक्षा में बैठे, बोर्ड के निर्देश पर 9.15 बजे तक प्रवेश दिया

परीक्षा के लिए विद्यार्थियों के जूते, मोजे उतार लिए गए।

लेमिनेट प्रवेश पत्र के अंदर छिपा लाया नकल, पकड़ाया

दापोरा शासकीय स्कूल के स्वाध्यायी केंद्र में 11.30 बजे स्क्वॉड के सैयद अतिक अली, उमाकांत भिरूड़ जांच करने पहुंचे। कक्षाओं में भ्रमण के दौरान एक छात्र का प्रवेश पत्र उठाकर देखा। एक ओर से लेमिनेशन की पन्नी खुली हुई थी। पीछे से कोरा कागज दिख रहा था। अंदर से अतिरिक्त पेज निकाला तो उसमें हिंदी के उत्तर निकले, जो किसी गाइड से फाड़कर लाए हुए थे। नकलची ने उसे प्रवेश पत्र की साइज में अंदर फंसा रखा था। ताकि किसी को शक न हो लेकिन फिर भी वो पकड़ाया। उसी केंद्र में एक छात्र आगे-पीछे देख रहा था। तुरंत उसे खड़ा किया और जांच करने पर पेंट की जेब से पर्ची निकाली। दोनों छात्रों के नकल प्रकरण बनाकर बोर्ड को भेजे जाएंगे।

दरी पर बैठकर दी परीक्षा, लिखने में हुई पेरशानी

शासकीय कन्या हाईस्कूल धूलकोट परीक्षा केंद्र में 49 विद्यार्थियों को दरी पर बैठाया था, जिस कारण परीक्षार्थियों को पर्चा लिखने में बहुत ज्यादा परेशान हुई। केंद्राध्यक्ष प्रकाश चौधरी ने कहा इस स्कूल में फर्नीचर की कमी है। इस कारण उन्हें टेबल-कुर्सियां उपलब्ध नहीं करा पाए।

वाट्सएप पर फर्जी पर्चा लीक हुआ, अफसरों में हड़कंप

परीक्षा के आधे घंटे बाद मुरैना क्षेत्र में वाट्सएप पर हिंदी का पर्चा लीक हो गया। इससे पूरे शिक्षा विभाग और प्रशासन में हड़कंप मच गया था। हालांकि अफसरों द्वारा मिलान किए जाने पर हिंदी का पर्चा फर्जी निकला। देर शाम तक परीक्षा निरस्त करने के आदेश भी नहीं आए।

सख्ती बढ़ने से घटे परीक्षार्थी, 600 से 99 पर पहुंची संख्या

संवेदनशील स्वाध्यायी धूलकोट परीक्षा केंद्र पर इस बार सिर्फ 99 विद्यार्थी परीक्षा में बैठे थे। 32 सीसीटीवी कैमरे और कड़ी निगरानी के बाद ये स्थिति बनी है। यही वजह रही कि राजस्थान, उत्तरप्रदेश, इंदौर, उज्जैन सहित अन्य जिलों से आने वाले विद्यार्थी फाॅर्म नहीं भर पाए। पिछली बार तक यहां 600 से 800 से ज्यादा परीक्षार्थी बैठते थे।

X
परीक्षार्थियों से उतरवाए जूते-चप्पल, मोजे आैर पर्स, फिर भी पकड़ाए दो नकलची
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..